Wednesday, 9 June 2021

अजय सिंह की कार्यकर्ताओं से अपील: कहा- बेवजह बयानबाजी न करें, संगठन को प्रभावी और मजबूत करने के लिये काम करें।



  • कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का विंध्य को लेकर दिया गया बयान एक सहज अभिव्यक्ति थी न कि कोई दोषारोपण: अजय।
  • कांग्रेस पार्टी के आंतरिक लोकतंत्र में असहमति, आपत्ति और उचित सलाह का अर्थ विरोध करना नहीं लगाया जाता: अजय।

भोपाल: मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने प्रदेश कांग्रेस कार्यकर्ताओं से विनम्र अपील की है कि वे ताजा राजनीतिक गतिविधियों के चलते विचलित होकर जल्दबाजी में ऐसी कोई प्रतिक्रिया न करें जिससे कि कांग्रेस पार्टी को नुकसान हो।  राजनीति धैर्य के साथ ठहरने और देख कर आगे बढ़ने की प्रक्रिया है। इसलिए भावुक होकर अपना विवेक न छोड़ें और ऐसी बयानबाजी न करें जिससे भाजपा को फायदा लेने का कोई मौका मिले।


श्री सिंह ने कहा कि विन्ध्य की तासीर को न समझने वाले इक्का दुक्का जूनियर लोग मुझ पर व्यक्तिगत आक्षेप लगा रहे हैं। इस बहाने वे अपनी महत्वाकांक्षा के चलते राजनीतिक प्रतिबद्धता दिखाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन इससे पार्टी को ही नुकसान होगा और भाजपा इसका लाभ लेने की कोशिश करेगी। एकता में ही हमारी ताकत है। कांग्रेस के प्रत्येक कार्यकर्ता से मेरा आग्रह है कि वे किसी उकसावे में न आयें। इसके पीछे छिपी साजिश का आकलन करें और संगठन को प्रभावी और मजबूत करने के लिए पहले की तरह काम करते रहें।


अजय सिंह ने कार्यकर्ताओं से कहा कि जहाँ तक कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के बयान का सवाल है, वह एक सहज अभिव्यक्ति थी न कि कोई दोषारोपण। फिर भी मैंने आप सबकी ओर से असहमति, आपत्ति और भावनाएं उन्हें व्यक्त कर दी हैं कि आपके कहने का कांग्रेस कार्यकर्ताओं में कहीं न कहीं विपरीत सन्देश गया है। इससे भाजपा को मौका मिलेगा। मैं आज भी कह रहा हूँ कि पिछले चुनाव में विन्ध्य के कार्यकर्ताओं और पार्टी के नेताओं ने जी तोड़ मेहनत की थी, भले ही परिणाम विपरीत आये हों।  


श्री सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के आंतरिक लोकतंत्र में असहमति, आपत्ति और उचित सलाह का अर्थ विरोध करना नहीं लगाया जाता। लेकिन विन्ध्य के साथ साथ प्रदेश के कुछ कार्यकर्ता इस घटनाक्रम पर जिस तरह प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे हैं उससे भाजपा  वाले कांग्रेस में आंतरिक विरोध शुरू होने का प्रचार कर रहे हैं, जो कि पार्टी के लिए नुकसानदायक है। इसलिए मैं कांग्रेस पार्टी के प्रत्येक कार्यकर्ता से आग्रह करता हूँ कि वे शांत रहें। जहाँ तक कांग्रेस प्रभारियों की नियुक्तियों का मामला है उस पर कांग्रेस का बयान आ चुका है कि जहाँ कहीं से भी विसंगति की शिकायतें आ रही हैं वहां पुनर्विचार किया  जायेगा। इसलिए आप सभी कृपया धैर्य से काम लें। कांग्रेस के गौरवशाली इतिहास को बनाये रखना प्रत्येक कांग्रेसी की जिम्मेदारी है।

No comments:

Post a Comment

Latest Post

कौन हैं चौधरी राकेश सिंह? जिनको लेकर कांग्रेस में मचा है घमासान।

भोपाल:   मध्यप्रदेश में संगठन की मजबूती के लिये प्रदेश कांग्रेस ने बड़ा बदलाव किया है। प्रदेश कांग्रेस ने संगठन में 56 जिलों में प्रभारियों ...