Saturday, 3 April 2021

सीधी: वैक्सीन विवाद में फंसे पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल, सोशल मीडिया पर उठ रहे सवाल।


सीधी: देशभर में वैक्सीन प्रोग्राम का दूसरा चरण शुरू हो चुका है। लेकिन इसी के साथ मध्यप्रदेश के सीधी से एक नया विवाद भी सामने आया है, जब सीधी जिले के सिहावल विधानसभा से विधायक एवं पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल को टीका लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी उनके निवास पर पहुंचे। टीकाकरण के फोटोज सोशल मीडिया पर पूर्व मंत्री नें खुद पोस्ट किया था जिसको लेकर विवाद खड़ा हो गया है।


सोशल मीडिया पर मामले की तस्वीरें सामने आने के बाद लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। सोशल मीडिया में लोग इसे पूर्व मंत्री के ताकत के दुरुपयोग के तौर पर दिखा रहें हैं। हला की अभी तक इस मसले पर स्वास्थ्य विभाग और पूर्व मंत्री की तरफ से कोई बयान नही आया है। पूर्व मंत्री के टीकाकरण की फ़ोटो उनके घर की है या किसी अस्पताल की, इस बात की पुष्टि सीधी CHRONICLE नही करता। लेकिन जो फ़ोटो पूर्व मंत्री नें शेयर की है, उसमें पीछे की दीवार पर उनके दिवंगत पिता एवं कांग्रेस के कद्दावर नेता इन्द्रजीत कुमार की तस्वीर लगी है जिसे देख लोग अंदाजा लगा रहे की टीकाकरण पूर्व मंत्री के निवास पर हुआ है।


आरटीआई एक्टिविस्ट अजय दुबे नें भी उठाये सवाल।

जानें मानें आरटीआई एक्टिविस्ट अजय दुबे नें पूर्व मंत्री के घर पर कराए गये टीकाकरण को लेकर तंज कसा है। उन्होनें फेसबुक पर पूर्व मंत्री के टीकाकरण का फ़ोटो शेयर कर इसे घरेलू टीकाकरण बताया है, साथ ही तंज कसते हुये कहा की सीधी में जबरदस्त विकास हुआ है सीएम शिवराज सिंह फालतू ही मच्छर के नाम पर सीधी को बदनाम कर रहें हैं।



बता दें की ऐसा ही एक मामला पिछले दिनों कर्नाटक से आया था, जहां कर्नाटक के कृषिमंत्री और उनकी पत्नी को उनके आवास पर जाकर टीका लगाने वाले स्वास्थ्यकर्मी को निलंबित कर दिया गया है। आदेश में कहा गया है कि बार-बार प्रशिक्षण एवं निर्देश देने के बावजूद मंत्री को घर पर जाकर टीका लगाया गया है। निलंबित स्वास्थ्य अधिकारी को बिना पूर्व अनुमति के, जांच पूरी होने तक कार्यस्थल भी नहीं छोड़ने का निर्देश दिया गया है।

No comments:

Post a Comment

Latest Post

कौन हैं चौधरी राकेश सिंह? जिनको लेकर कांग्रेस में मचा है घमासान।

भोपाल:   मध्यप्रदेश में संगठन की मजबूती के लिये प्रदेश कांग्रेस ने बड़ा बदलाव किया है। प्रदेश कांग्रेस ने संगठन में 56 जिलों में प्रभारियों ...