Tuesday, 20 April 2021

कोविड-19 की मौजूदा स्थिति जानने जिला अस्पताल पहुंचे युकां अध्यक्ष, वरिष्ठ अधिकारियों से की मुलाकात।



सीधी: जिला युवा कांग्रेस सीधी के अध्यक्ष देवेंद्र सिंह 'दादू' के द्वारा आज जिला चिकित्सालय पहुंच कर सीएचएमओ डॉ. बी.एल. मिश्रा एवं सिविल सर्जन डॉ. डी.के. द्विवेदी से मुलाकात कर कोरोना महामारी के संबंध में जिला प्रशासन एवं जिला स्वास्थ्य विभाग के व्यवस्था के संबंध में जानकारी ली गई। कोरोना सेंटर स्थित बेड, वेंटिलेटर, ऑक्सीजन एवं वैक्सीन आदि की मौजूदा स्थिति के बारे में एवं मरीज़ बढ़ने की स्थिति में पूर्व की तैयारियों के बारे में भी चर्चा की गई।


जैसा की विदित है कि अभी पिछले दिनों सीमावर्ती जिला शहडोल में ऑक्सीजन सिलेंडर की अनुपलब्धता के कारण 12 जाने चली गई, जो कि बेहद दुर्भाग्यपूर्ण था। किसी भी लापरवाही के कारण ऐसी कोई परिस्थिति अपने जिले में ना बने इसलिए युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने दोनों ही अधिकारियों से मिलकर अनुरोध किया की इसका पूरा ध्यान जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग को रखना पड़ेगा। उक्त चर्चा के दौरान यह पता चला कि  आज की तारीख में सीधी जिले में लगभग नौ सौ एक्टिव केसेस् हैं और बेड की व्यवस्था मात्र दो सौ के लगभग है। जो एक निश्चित तौर पर चिंता का विषय है।


यूकां अध्यक्ष द्वारा इस संदर्भ में शहर के अंदर क‌ई और अस्थाई कोरोना सेंटर शीघ्र बनाने सुझाव दिया गया जहां बेड, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की व्यवस्था हो। साथ ही इस बात की तकलीफ भी जताई और जानना चाहा कि अब तक जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग किस भयावह स्थिति की प्रतीक्षा में है जो अब तक और भवनों को कोरोना सेंटर बनाने के लिए तैयार नहीं किया गया।  


टीकाकरण अभियान को तेज करने की मांग।

टीकाकरण को लेकर सिविल सर्जन द्वारा आश्वस्त किया गया है कि 1 मई से 18 वर्ष से ऊपर युवाओं को ज्यादा से ज्यादा टीका लगाने का कार्यक्रम शुरू किया जाएगा। कांग्रेस द्वारा लगातार राष्ट्रीय स्तर पर हर आयु वर्ग को टीका लगाने के लिए सोशल मीडिया में स्पीक अप इंडिया नाम से कैंपेनिंग भी किया गया था। युकां के जिलाध्यक्ष ने जिला युवक कांग्रेस सीधी की तरफ से वृहद तौर पर रक्तदान एवं आवश्यकता अनुरूप वॉलेंटियर की उपलब्धता की बात जिला प्रशासन की मदद हेतु कहीं गई है।


उक्त चर्चा के बाद युकां अध्यक्ष जिला चिकित्सालय परिसर स्थित फीवर क्लीनिक की स्थिति देखने भी गए। एवं वहां उपस्थित कोरोना वाॅरियरस्  से निवेदन किया की हर जांच की रिपोर्ट शीघ्र आ जाए जिसे संदिग्ध मरीजों को समय रहते हैं उचित चिकित्सा सुविधा एवं दवाएं मिल सके। साथ ही केंद्र सरकार से मांग की है कोरोना महामारी के प्रथम चरण के समय कोरोना वारियर्स के लिए जो बीमा योजना चालू किया गया था, जिसे बाद में बंद कर दिया गया उसे पुनः चालू किया जायें।


यूकां अध्यक्ष ने की जिलेवासियों से अपील।

जिला युवा कांग्रेस अध्यक्ष देवेंद्र सिंह दादू ने सोशल मीडिया के माध्यम से एवं प्रेस विज्ञप्ति जारी कर समस्त जिलावासियों से अपील की है की यह बहुत कठिन समय है हम सबको आत्मविश्वास नहीं खोना है। साधारण सर्दी जुखाम, बुखार या अगर कोरोना की टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव भी आ गई है तो भी जंग जीती जा सकती है, और स्वस्थ हुआ जा सकता है। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि अधिकांश सांप विषैले नहीं होते परंतु किसी भी सांप के काटने से इंसान घबराकर ज्यादा बीमार हो जाता है, ऐसे ही हमें घबराना नहीं है, संयम से काम लेना है। मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग, बार-बार साबुन से हाथ धोना एवं सोशल डिस्टेंसिंग बना कर रखना है। हमने कई लोगों को यह जंग जीते हुए देखा और सुना है।


उक्त चर्चा हेतु देवेंद्र सिंह दादू अध्यक्ष जिला युवा कांग्रेस सीधी के साथ अरुण सिंह 'चिंटू'  सचिव मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी (आईटी एवं सोशल मीडिया सेल), भूपेंद्र सिंह बघेल  जिला कार्यकारी अध्यक्ष आई टी सेल, राहुल सिंह जिला उपाध्यक्ष आईटी सेल एवं राज बहादुर यादव भी थे।

2 comments:

  1. In 2002, a placebo-controlled randomized study that investigated the use of Cesamet (a synthetic oral cannabinoid naboline) in 15 patients afflicted with segmental primary and generalized dystonia showed no significant improvement in their condition. Investigators concluded that this outcome may be dose related and it has nothing to do with the efficacy of medical cannabis in helping patients cope with their dystonia symptoms. High doses of the natural non-psychoactive CBD (cannabinoid cannabidiol) and synthetic cannabinoids are known to moderate the progression of the disease in animals as indicated by at least one recent preclinical trial and further investigation regarding the use of cannabis and cannabinoids in humans is underway. Heavy Hitters

    ReplyDelete
  2. From the fields of business, criminal justice, computers, health care, legal and management, design and marketing, Florida Metropolitan University also boasts of offering in-demand health care programs like: EKG Technician, Healthcare Management, Laboratory Technician, Administration (in the medical office), Medical Assistant, Massage Therapy, Phlebotomy, Medical Transcription, Pharmacy Technician/Assistant as well as Surgical Technician. her explanation

    ReplyDelete

Latest Post

कौन हैं चौधरी राकेश सिंह? जिनको लेकर कांग्रेस में मचा है घमासान।

भोपाल:   मध्यप्रदेश में संगठन की मजबूती के लिये प्रदेश कांग्रेस ने बड़ा बदलाव किया है। प्रदेश कांग्रेस ने संगठन में 56 जिलों में प्रभारियों ...