Tuesday, 16 March 2021

MP कांग्रेस में अंतर्कलह: निष्कासन के बाद मानक अग्रवाल नें कमलनाथ के खिलाफ खोला मार्च, सोनिया को लिखा पत्र।



भोपाल: गोडसे भक्त एवं हिंदू महासभा के नेता बाबूलाल चौरसिया के कांग्रेस जॉइन करने के बाद से चालू हुआ कांग्रेस का अंतर्कलह अभी भी शांत होनें का नाम नही ले रहा। बीते कल यानी सोमवार को कांग्रेस से निष्कासित किए जाने वाले मानक अग्रवाल ने अब पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक पत्र लिखा है, जिसमें कहा गया है कि उन्हें गांधीवादी विचारधारा के पक्ष में आवाज उठाने की सजा मिली है। मीडिया से बात करते हुए मानक अग्रवाल ने कहा कि 'मैं कांग्रेस के लिए पिछले 50 सालों से काम कर रहा हूं, जब कमलनाथ का एमपी कांग्रेस में अतापता नहीं था।'


बता दें की, एक दिन पहले ही मध्य प्रदेश कांग्रेस में एक बड़ा फैसला लेते हुये पार्टी के वरिष्ठ नेता मानक अग्रवाल को 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया था। कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर ने मानक अग्रवाल के निष्कासन का पत्र जारी किया था। जिसके बाद मानक अग्रवाल नें कहा था की मेरे निष्कासन के पीछे सुरेश पचौरी का हाँथ है। उन्होनें ये भी कहा था की, मै AICC का सदस्य हूं ना की PCC का। मेरे निष्कासन का अधिकार PCC को नही है। मेरा निष्कासन सोनिया गांधी या AICC कर सकती है।


मानक अग्रवाल के पार्टी से निष्कासन की ये रही वजह।

दरअसल, मानक अग्रवाल ने कुछ दिनों पहले कांग्रेस जॉइन करने वाले हिंदू महासभा के नेता बाबूलाल चौरसिया का विरोध किया था। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था कि ''पीसीसी चीफ कमलनाथ को धोखे में रख बाबूलाल चौरसिया को कांग्रेस की सदस्यता दिलाई गई, इस बारे में पार्टी को सोच-समझकर फैसला लेना चाहिए। महात्मा गांधी के हत्यारे की पूजा करने वालों की पार्टी में कोई जगह नहीं होनी चाहिए।'' उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा था कि कमलनाथ को स्पष्ट कर देना चाहिए कि वह गोडसे की विचारधारा के साथ हैं कि गांधी के।


बता दें की, मानक अग्रवाल मध्य प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं। वो अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस कमेटी के मेंबर थे। इससे पहले वह मीडिया प्रभारी की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। कमलनाथ के फैसले का विरोध करने और उनसे उनकी विचारधारा स्पष्ट करने के लिए कहने पर मानक अग्रवाल को ​कांग्रेस पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया गया है।

No comments:

Post a Comment

Latest Post

कौन हैं चौधरी राकेश सिंह? जिनको लेकर कांग्रेस में मचा है घमासान।

भोपाल:   मध्यप्रदेश में संगठन की मजबूती के लिये प्रदेश कांग्रेस ने बड़ा बदलाव किया है। प्रदेश कांग्रेस ने संगठन में 56 जिलों में प्रभारियों ...