Wednesday, 10 March 2021

MP: 1 अप्रैल से खुलेंगे 8वीं तक के स्कूल, बनाई जाएगी अलग गाइडलाइंस।



भोपाल: मध्यप्रदेश में कक्षा पहली से 8वीं तक के स्कूल 1 अप्रैल से खोले जाएंगे। लेकिन इसके लिये अभिभावकों की सहमति अनिवार्य होगी। इंदौर और भोपाल में बढ़ रहे कोरोना केस के चलते स्कूल खोलने का फैसला क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी पर छोड़ा गया है।स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने जानकारी देते हुए बताया कि नए सत्र की शुरुआत 1 अप्रैल से होने जा रही है। कक्षा पहली से 8वीं तक स्कूल 1 अप्रैल से खोले जाएंगे। उन्होनें आगे कहा कि, ज्यादा दिन तक बच्चों को घर में बैठाकर रख नहीं सकते। स्कूल संचालकों को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। क्लास वन के नीचे के बच्चों को अभी इंतजार करना होगा।


मंत्री परमार ने कहा कि इंदौर और भोपाल में विशेष सावधानी बरती जाएगी। इसकी जिम्मेदारी अभिभावकों के साथ स्कूल संचालकों की भी होगी। उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में छात्रों की संख्या काफी कम है। जरूरत पड़ी तो दो शिफ्ट में स्कूल संचालित किए जाएंगे। अगर कोरोना कंट्रोल नहीं हुआ, तो हम फिर आगे निर्णय लेंगे।


इधर, मंत्रालय सूत्रों ने बताया कि अभी प्रदेश में कक्षा वन से नीचे के स्कूल नहीं खुलेंगे। यानी कि नर्सरी, केजी-1 और केजी-2 के बच्चों को अभी और इंतजार करना होगा। स्कूल संचालकों को अभी कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करना होगा। राजधानी भोपाल में 9वीं और 10वीं के स्कूल खुले हुए हैं, लेकिन संक्रमण का कोई केस स्कूलों में अभी सामने नहीं आया है।


स्कूलों के लिए बनाई जाएगी अलग गाइडलाइंस।

इंदर सिंह परमार ने कहा कि इंदौर भोपाल जैसे बड़े शहरों के जिन क्षेत्रों में संक्रमण ज्यादा है। वहां के स्कूलों को लेकर अलग गाइडलाइन बनाई जाएगी। मंत्री ने कहा कि जिन स्कूलों में ज्यादा बच्चे हैं, वहां दो शिफ्ट में स्कूल चलाने पर भी विचार किया जाएगा. इसको लेकर जल्द ही स्कूल संचालकों से चर्चा की जाएगी।

No comments:

Post a Comment

Latest Post

कौन हैं चौधरी राकेश सिंह? जिनको लेकर कांग्रेस में मचा है घमासान।

भोपाल:   मध्यप्रदेश में संगठन की मजबूती के लिये प्रदेश कांग्रेस ने बड़ा बदलाव किया है। प्रदेश कांग्रेस ने संगठन में 56 जिलों में प्रभारियों ...