Saturday, 13 March 2021

सीधी बस हादसा: मृतकों के परिवार से एक सदस्य को सरकारी नौकरी की मांग को लेकर कांग्रेस ने दिया धरना।



  • सभी नियमों को शिथिल करते हुए बाणसागर नहर बस हादसे में मृतको के परिवार  से एक सदस्य को मिले अनुकंपा नियुक्ति: राजेंद्र सिंह भदोरिया।

सीधी: 16 फरवरी को बाणसागर नहर बस दुर्घटना में जान गवाने वाले सभी युवक-युवतियों के परिजनों को उचित मुआवजा एवं राहत राशि के साथ ही मृतकों के परिवार के एक सदस्य को शासकीय नौकरी दिलाए जाने एवं इस हृदय विदारक दुर्घटना के जिम्मेदार व्यक्तियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही किए जाने की मांग को लेकर कांग्रेस पार्टी द्वारा बघवार तिराहे पर विशाल जन आंदोलन कर  राज्यपाल के नाम संबोधित 11 सूत्रीय ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा गया।


धरना कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष एवं जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के पूर्व अध्यक्ष राजेंद्र सिंह भदोरिया ने कहा कि, इतनी बड़ी हृदय विदारक हादसा में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जो राहत राशि दी है वह न केवल ऊंट के मुंह में जीरा के समान है बल्कि  हादसे में अपनी जिंदगी खोने वाले नौजवानों नव युवतियों के साथ ही सीधी जिले के तमाम जनता जनार्दन का भी अपमान है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुखिया हादसे के तुरंत बाद जब घटनास्थल पर पहुंचे और पीड़ित परिजनों से मिलने उनके घर गए तब ऐसा लगा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री को इस दुखद घटना से वास्तव में तकलीफ हुई है और वह पीड़ित परिवारों के इस पहाड़ जैसे दुख को महसूस करते हुए निश्चित ही पूरी संवेदना के साथ इस घटना की न केवल निष्पक्ष जांच कराएंगे बल्कि दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा देंगे और मृतक के परिजनों को भरपूर आर्थिक सहायता एवं राहत राशि प्रदान करेंगे।


श्री भदौरिया नें आगे कहा कि, मुख्यमंत्री के जाने के बाद यह महसूस हुआ कि मुख्यमंत्री केवल घड़ियाली आंसू बहा कर झूठी हमदर्दी दिखाकर अपनी पुरानी आदतों के अनुसार छल कपट एवं झूठे आश्वासन देकर रफूचक्कर हो गए। कांग्रेस नेता ने कहा कि मृतकों के परिजनों को मुख्यमंत्री द्वारा केबल 1 लाख की सहायता दी गई है बाकी राशि 4 लाख शासन के नियमानुसार दुर्घटना में पहले से ही मिलने का प्रावधान था। 2 लाख प्रधानमंत्री जी द्वारा दी गई है इस तरह से कुल 7 लाख  देकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह कोरी वाहवाही लेकर गए हैं जिसमें उनका अंश केवल 1 लाख  है। कांग्रेस नेता राजेंद्र सिंह भदौरिया ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कुंवर अर्जुन सिंह गरीबों को दुख को इतने करीब से महसूस करते थे कि जो कोई उनके पास जाता था उसे नियमों को शिथिल करके लाभ देने का काम करते थे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी आज नियमों को शिथिल करते हुए प्रत्येक मृतक परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी विशेष अनुकंपा नियुक्ति के तहत  देना चाहिए।


धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुये जनपद पंचायत रामपुर नैकिन के अध्यक्ष केडी सिंह ने कहा कि बस हादसा शासन प्रशासन  की घोर लापरवाही के वजह से हुई है यदि शीघ्र ही हादसे के शिकार लोगों के साथ न्याय नहीं हुआ तो आने वाले समय में वृहद जन आंदोलन होगा।  


आंदोलन को जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता प्रदीप सिंह दीपू ,महामंत्री भानु पांडे ,महिला कांग्रेस की प्रदेश पदाधिकारी नीलम सिंह ,ग्राम पंचायत बघवार के सरपंच अशोक सिंह परिहार, यूथ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष प्रकाश सिंह परिहार ,अनिल तिवारी ,शेषमणि तिवारी,  अनुराग सिंह, आशुतोष शुक्ला, राजेंद्र गुप्ता, जनपद सदस्य तारीफन बानो सहित कई नेताओं ने संबोधित किया।


धरना कार्यक्रम के अंत में  बस हादसे में मृतकों  की आत्मा की शांति के लिए 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई। जिला प्रशासन की ओर से नायब तहसीलदार रामपुर नैकिन जिला प्रशासन के प्रतिनिधि के रूप में उपस्थित होकर ज्ञापन प्राप्त किए। राज्यपाल के नाम सौपे गए ज्ञापन में  यह मांग की गई है कि  मृतक परिवार केएक सदस्य को  विशेष अनुकंपा नियुक्ति दी जाय । रीवा अमरकंटक रोड तत्काल बनवाया जाय।बस हादसे में  मृतकों के परिजनों को कम से कम 10 लाख रुपए  मुआवजा दिया जाय । इस दुर्घटना के जिम्मेदारों पर प्रकरण दर्ज कर  दंडित किया जाए । कैमूर पहाड़ पर माइनिंग ब्लास्टिंग बंद कराई जाए समूचे अंचल में भारी मात्रा में गांजा शराब एवं कोरेक्स जैसी अनेक नशे का अवैध व्यापार  व्यापक पैमाने पर फैला हुआ है  इस पर तत्काल अंकुश लगाया जाए।

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: कोरोना ने तोड़ा अब तक का रिकॉर्ड, पहली बार मिले 231 कोरोना संक्रमित।

सीधी: जिले में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है, कोरोना संक्रमितों के सारे पुराने रिकार्ड ध्वस्त हो रहें हैं। सीधी में पिछले 24 घंटो...