Wednesday, 31 March 2021

सीधी: आवश्यकता होने पर लॉकडाउन लगाने पर किया जाएगा विचार, सीएम शिवराज ने की जिलेवार समीक्षा।



सीधी: मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कोरोना संक्रमण के चलते हुए जिलेवार समीक्षा की। उन्होंने 50 से अधिक नये पॉजीटिव प्रकरण के आठ जिले, 50 से 20 के बीच नये पॉजीटिव प्रकरण के 14 जिले तथा 20 से कम नये पॉजीटिव प्रकरण के 30 जिलों की जिलेवार समीक्षा कर अधिकारियों को निर्देश दिये कि कोरोना संक्रमण के केस न बढ़ें। हर हालत में अपने-अपने जिले में आवश्यक सावधानियां बरतते हुए आवश्यक उपाय किया जाना सुनिश्चित करें। जिन जिलों में आवश्यकता हो, उन जिलों में लॉकडाउन लगाने पर विचार किया जाये। आवश्यकतानुसार शनिवार की रात्रि 10 बजे से सोमवार की प्रातरू 6 बजे तक लॉकडाउन लगाया जाये।  


कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी ने जिले की जानकारी देते हुए बताया कि जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के बेहतर उपाय किये जा रहे हैं और आवश्यक व्यवस्थाएं की जा रही है। जिले में मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन कराया जा रहा है। मास्क नहीं पहनने वालों पर प्रतिदिन स्पॉट फाइन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए उपचार के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की गई हैं। कलेक्टर ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार चिन्हित आयुवर्ग के लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। गत टीकाकरण दिवस लक्ष्य के अनुरूप 135 प्रतिशत टीकाकरण किया गया है।


मास्क लगाना अनिवार्य एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना आवश्यक।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने निर्देश दिये हैं कि प्रत्येक व्यक्ति मास्क अनिवार्य रूप से लगाये। इसका अपने-अपने जिलों में कड़ाई से पालन कराया जाना सुनिश्चित करें और साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग हो, यह भी सुनिश्चित किया जाये। मास्क नहीं लगाने वालों एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वालों पर जुर्माना लगाया जाये। दुकानों पर भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाये और दुकानों के सामने गोल घेरे बनाकर पालन कराया जाना सुनिश्चित किया जाये। शासकीय दफ्तरों में भी मास्क पहनना सुनिश्चित हो।


जन-जागरूकता लाना आवश्यक।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने निर्देश दिये हैं कि अपने-अपने जिलों में कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिये जन-जागरूकता लाई जाये। इसके लिये धर्मगुरूओं, जनअभियान परिषद, एनसीसी, एनएसएस आदि संगठनों को जोड़कर जन-जागरूकता लाई जाये। जिन जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के केस मिले हैं, उन क्षेत्रों पर भी विशेष ध्यान देकर संक्रमण को रोकने के उपाय किये जायें। प्रायवेट अस्पतालों में कोरोना के भर्ती मरीजों की जानकारी भी जिला कलेक्टरों को होनी चाहिये। होम आइसोलेशन की सतत मॉनीटरिंग कर उनसे चर्चा की जाये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिला प्रभारी अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि वे अपने-अपने प्रभार के जिलों के अनिवार्य रूप से दौरे करें। रंग पंचमी होने के कारण कोई चल समारोह आदि न निकाले जायें। रंग पंचमी अपने घर पर ही मनायें। अनावश्यक रूप से किसी भी हालत में भीड़ इकट्ठी न हो, इस पर भी ध्यान दिया जाना आवश्यक है।


मुख्यमंत्री ने प्रत्येक जिलों के कलेक्टरों से अस्पतालों के बेड, ऑक्सीजन बेड, सेम्पल, टेस्टिंग, कोरोना का टीकाकरण आदि के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त की। जिला कलेक्टरों ने अपने-अपने जिलों की की जा रही आवश्यक व्यवस्थाओं के बारे में पॉवर पाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से वीसी में जानकारी दी।


वीसी में पुलिस अधीक्षक पंकज कुमावत, जिला पंचायत सीईओ आर के शुक्ला, सीएमएचओ डॉ. बी एल मिश्रा,  सिविल सर्जन डॉ. डी के द्विवेदी सहित संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment

Latest Post

कौन हैं चौधरी राकेश सिंह? जिनको लेकर कांग्रेस में मचा है घमासान।

भोपाल:   मध्यप्रदेश में संगठन की मजबूती के लिये प्रदेश कांग्रेस ने बड़ा बदलाव किया है। प्रदेश कांग्रेस ने संगठन में 56 जिलों में प्रभारियों ...