Thursday, 18 February 2021

सीधी बस हादसा: PWD एवं परिवहन विभाग में ठनी, PWD मंत्री नें हादसे के लिये भ्रष्टतंत्र को बताया जिम्मेदार।



सीधी CHRONICLE: सीधी बस हादसे को लेकर दो सरकारी विभाग आमने-सामने हो गए हैं। शिवराज सरकार में पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव ने इस हादसे के लिए भ्रष्टतंत्र को जिम्मेदार बताया है, साथ ही अपनें विभाग का बचाव भी किया है। मंत्री गोपाल भार्गव का कहना है कि घटना से बचने के लिये सड़कों को खराब बताना ठीक नहीं है। हला की उन्होनें ये भी कहा की जहां दुर्घटना हुई वहां सड़क कैसी थी, इस बात की जानकारी उन्हें नहीं है। गोपाल भार्गव का कहना है कि जब बस में क्षमता से अधिक सवारियां भरी हुई थी इसका ध्यान क्यों नहीं रखा गया?


मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि किसी प्रशासनिक अधिकारी ने घटना के लिए अगर सड़क को दोष दिया है, तो इस पर उनकी घोर आपत्ति है। मंत्री ने कहा कि अपनी जिम्मेदारियों से बचने के लिए इस तरह के तर्क दिए जा रहे हैं। यह सब कुछ भ्रष्टतंत्र की वजह से हुआ है और अब उसी भ्रष्टतंत्र को बचाने के लिए यह सब किया जा रहा है।


पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव के सवाल।

गोपाल भार्गव ने कहा कि जिस बस में केवल 30 यात्री बैठ सकते हैं उस बस में 60 यात्रियों को क्यों बैठाया गया? जबकि हादसे का दोष सड़क को दिया जा रहा है। गोपाल भार्गव ने कहा कि पूरे हिंदुस्तान में कई सड़कें खराब है तो क्या इस तरह के हादसों से बचने के लिए सड़कों को ही दोष दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि वह इस तर्क को सही नहीं मानते हैं।


दोषियों को मिले सजाः गोपाल भार्गव।

गोपाल भार्गव ने कहा कि सीधी बस हादसे में घटना के सही मामले की जांच होनी चाहिए, जो भी इस मामले में दोषी पाया जाता है उसे सजा भी मिलनी चाहिए। लेकिन अगर कोई कह रहा है कि यह घटना खराब सड़क की वजह से हुई है तो यह एक कुतर्क है। उन्होंने कहा कि मुझे इस बात की जानकारी नहीं है कि ऐसा कौन कह रहा है, लेकिन यह बात जो भी कह रहा है तो यह ठीक नहीं है।


दरअसल, परिवहन विभाग के डिप्टी कमिश्नर एके सिंह ने हादसे के लिए खराब सड़क को जिम्मेदार बताया था। घटनास्थल का मुआयना करने पहुंचे  डिप्टी कमिश्नर का कहना था कि सड़क पर जंपिंग बहुत है। बस की स्पीड तेज थी जिसकी वजह से यह हादसा हुआ। उन्होंने कहा कि स्पीड ज्यादा होने के चलते हो सकता है ड्राइवर बस को संभाल नहीं पाया और बस नहर में गिर गई।


गौरतलब है की सीधी बस हादसे में 51 लोगों की मौत हो चुकी है। मंगलवार रात तक 47 शव मिले थे, तथा बुधवार को 4 शव और मिले थे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सीधी जिले में हुई बस दुर्घटना में मृतकों के परिजनों से मिलने बुधवार को उनके गाँव पहुँचे थे। परिजनों से मुलाकात कर मुख्यमंत्री ने दुर्घटना में मृतकों के परिजनों को सांत्वना दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि दुर्घटना पीड़ितों को सरकार की ओर से हरसंभव सहायता दी जायेगी। दु:ख की इस घड़ी में राज्य सरकार पीडि़तों के साथ हैं।


उन्होंने दुर्घटना में मृत व्यक्तियों के परिजनों को आर्थिक सहायता के रूप में 7-7 लाख रूपये के चेक प्रदान किये। साथ ही सीएम नें इस घटना को लेकर मध्यप्रदेश रोड डेवलपमेंट कारपोरेशन (MPRDC) के अधिकारी जिनकी जिम्मेदारी रोड मेंटेनेंस की थी उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सीधी RTO को भी तत्काल प्रभाव से निलंबित दिया है।

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: अजय सिंह नें हाथी हमले में मृतकों के प्रति जताई संवेदना, प्रशासन को आड़े हाथों लिया।

सीधी: जिले के कुसमी ब्लाक के अंतर्गत संजय टाइगर रिजर्व अभ्यारण के बफर जोन में हाथियों का आतंक जानलेवा हो गया है। हाथियों ने पिछले दिनों तीन...