Friday, 19 February 2021

सीधी बस हादसा- Live Update: 2 लापता युवकों में से मिला एक का शव, एक अभी भी लापता।



  • आज बांध से पानी छोड़ा गया तो नहर की सुरंग से बह कर दो लाशें डेढ़ किलोमीटर आगे मिली।
  • एक युवक अभी भी लापता, जिसकी तलाश गोविंदगढ़ क्षेत्र के सिलपरा व टीकर में जारी।

सीधी: सीधी बस हादसे में अभी एक शव बरामद हुआ, इससे पहले आज सुबह भी एक युवक का शव बरामद हुआ था। हादसे में मृतकों की संख्या अब 53 हो गई है। एक युवक अब भी लापता हैं। हादसे के चौथे दिन आज शुक्रवार सुबह 10 बजे रमेश विश्वकर्मा (25) और एक अन्य का शव मिला। नहर में बाणसागर बांध से पानी छोड़ा गया। पानी के प्रेशर से लाश बहकर सुरग के दूसरी ओर गोविंदगढ़ में लगभग डेढ़ किलोमीटर मीटर दूर मिली।  


हादसे के चौथे दिन मिले शव पूरी तरह फुले हुए थे और चेहरे को मछलियां खा गई थीं। शवों को पहचानना मुश्किल हो रहा था। कपड़ों की मदद से एक की पहचान हो पाई जबकि दूसरे की पहचान नहींं हुई। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की संयुक्त टीम सिलपरा और टीकर के पास लापता युवक की तलाश कर रही है।


एक शव की पहचान रमेश विश्वकर्मा (25) के रूप में परिजनों ने की है। मूलत: बिहार निवासी रमेश के पिता राजेंद्र सीधी स्थित पीडब्ल्यूडी में नौकरी करते हैं। सीधी में परिवार नूतन कॉलोनी में रहता है। रमेश की बहन की शादी यूपी के बलिया में हुई है। वह बहन के घर जाने के लिए बस में मंगलवार को सवार हुआ था। उसे सतना में ट्रेन पकड़नी थी।


सीधी जिला प्रशासन ने आज बाणसागर से नहर में पानी छोड़ने का निर्णय लिया। इसके बाद बाणसागर से नहर में फुल प्रेशर से पानी छोड़ा गया। तीन स्थानों टीकर, सिलपरा और टनल के पास रेस्कयू टीम तैनात रही। चार किमी लंबी टनल में फुल प्रेशर से पानी पहुंचा तो दो लाशें टीकर नहर में टनल से डेढ़ किलोमीटर दूर बह कर निकलीं। रमेश विश्वकर्मा के शव को पीएम के लिए रामपुर नैकिन भेजा गया है ।


गौरतलब है की, मंगलवार सुबह हुए इस बस हादसे में 51 लोगों की मौत हो चुकी थी, आज दो शव और मिलनें से अब यह आंकड़ा 53 हो गया है। 6 लोगों को बचा लिया गया और 2 लोग अभी भी लापता हैं। इसके अलावा बस चालक भी था जिसे गिरफ्तार कर लिया गया था।बस में चालक सहित कुल 61 लोग इसमें सवार थे। यह बस 32 सीट क्षमता वाली थी लेकिन इसमें 61 लोग सवार थे। यह बस यात्रियों से खचाखच भरी थी और ट्रैफिक जाम से बचने के लिए अपने निर्धारित मार्ग को बदलकर दूसरे मार्ग से जा रही थी और नहर में गिर गई थी।

No comments:

Post a comment

Latest Post

कांग्रेस में मतभेद बढ़े: सज्जन सिंह वर्मा ने अरुण यादव के गोडसे बाले बयान पर साधा निशाना।

पूर्व पीसीसी चीफ़ अरुण यादव पर पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा का पलटवार, कहा- मुद्दा उठाने वाले के क्षेत्र से दो MLA गोडसे की विचारधारा में शामिल। ...