Friday, 19 February 2021

सीधी बस हादसा: शिव को अजय की नसीहत, कहा- मुहावरों की भाषा बोलने की जगह राजधर्म का करें पालन।



  • अवैध वसूली का घाटा पूरा करने नियमों की धज्जियां उड़ा रहे बस वाले: अजय सिंह।
  • बस दुर्घटनायेँ रोकने के लिए विशेषज्ञ समिति गठित हो: अजय सिंह।
  • नहरों की सर्विस रोड में भारी वाहनों पर रोक लगे: अजय सिंह।                                    

सीधी: पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि शिवराज सरकार में अवैध वसूली के चक्कर में बस वाले अपना घाटा पूरा करने के लिए नियमों को पूरी तरह दरकिनार कर रहे हैं। बसों में यात्री क्षमता से अधिक भरे जा रहे हैं। छोटी जगहों पर चलने वाली 25 प्रतिशत से अधिक बसें एकदम खटारा हो चुकी हैं।


उन्होंने कहा कि मोटर व्हीकल एक्ट का पालन कराने के लिए जिम्मेदार अधिकारी नियम तोड़ने में सहयोग करते हैं। सीधी के बाद अब मंडला के नैनपुर में ओवरलोड बस पलट गई जिसमें एक यात्री की मृत्यु हो गई और 12 लोग घायल हो गए। ड्रायवर नशे में था। दुर्घटनाओं को रोकने के लिए विशेषज्ञ समिति तत्काल बनाई जाये। इसमें जनप्रतिनिधियों को रखा जाये। समिति के व्यावहारिक सुझावों को कड़ाई से लागू किया जाये। शिवराज सिंह सभाओं में मुहावरों की भाषा बोलने के बजाय वास्तविकता पर ध्यान दें।

 

अजय सिंह ने कहा कि 32 सीटर बस है तो उसमें 70 लोगों को यात्रा करायी जाती है। ठूंस ठूंस कर यात्रियों को जब भरा जाता है तो अमानवीय हालात नजर आते हैं। पैदल चलने वाले लोग कहते हैं कि खराब सड़कों पर बस दौड़ती है तो दूर से दिखता है कि कभी भी हादसा हो सकता है। इमरजेंसी सीट पर सामान और ज्वलनशील पदार्थ रखे रहते हैं। परमिट नहीं तो भी उसी रूट में संचालन हो रहा है। बसें कंडम हैं तो भी उन्हें फिट और रनिंग का प्रमाणपत्र मिलता है। ऊपर से दूरदराज और ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कें बदतर हालत में हैं। लेकिन भाजपा सरकार को यह वास्तविकता नजर नहीं आ रही है। मुख्यमंत्री को चाहिए कि सड़कों के लिए तत्काल फंड रिलीज करें।


श्री सिंह ने कहा कि नियमानुसार नहरों की सर्विस रोड से भारी बसों का आवागमन प्रतिबंधित रहता है। इन्हें रोकने के लिए चेनलों के फिक्स बेरियर नहीं लगाए गए हैं। सर्विस रोड में यदि पक्की सड़क बनाई जाती है तो दोनों ओर परमानेंट रेलिंग या गार्ड वाल बनाई जाती है जो प्रदेश में कई जगह नहीं बनाई गई। नहर की डामरीकृत सर्विस रोड में कोई भी साइन बोर्ड, काटन बोर्ड, गार्ड स्टोन आदि नहीं लगाए गए हैं।  


श्री सिंह ने कहा की रीवा बघवार शहडोल मार्ग में जब से टोल टेक्स नाके बंद हुये हैं तब से लगभग दो तीन वर्षों से मार्ग की मरम्मत नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि इसके लिए राष्ट्रीय राजमार्ग और सड़क विकास निगम दोनों जिम्मेदार हैं। सड़कों के लिए कोई बजट प्रावधान नहीं किया गया।


अजय सिंह नें कहा की, विंध्य क्षेत्र के मंत्री बिसाहूलाल सिंह को कोई फिक्र नहीं है। अजय सिंह ने कहा कि बस हादसों के जो प्रमुख कारण हैं उनसे सरकार सबक नहीं ले रही है। निर्दोषों की मौतों का सिलसिला जारी है। शिवराज सिंह ने साम- दाम दंड- भेद से किसी तरह सत्ता तो हासिल कर ली है लेकिन वे राजधर्म का पालन करना भूल गए।

No comments:

Post a comment

Latest Post

कांग्रेस में मतभेद बढ़े: सज्जन सिंह वर्मा ने अरुण यादव के गोडसे बाले बयान पर साधा निशाना।

पूर्व पीसीसी चीफ़ अरुण यादव पर पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा का पलटवार, कहा- मुद्दा उठाने वाले के क्षेत्र से दो MLA गोडसे की विचारधारा में शामिल। ...