Saturday, 27 February 2021

सीधी में दिखा व्यापारिक संगठनों के बंद का असर, सड़क पर उतरे व्यवसाई।



सीधी: देश में वस्‍तु एवं सेवा कर यानी जीएसटी (GST) को आसान बनाने, पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों के खिलाफ सीधी के व्यापारियों नें बीते कल यानी शुक्रवार को सीधी बंद किया। कंफेडेरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) की ओर से बुलाए गए इस भारत बंद को ऑल इंडिया ट्रांसपोर्टर्स वेलफेयर एसोसिएशन (AITWA) का भी समर्थन मिला।साथ ही कुछ अन्‍य संगठनों ने भी व्‍यापारियों के इस बंद का समर्थन किया। बंद का असर मध्यप्रदेश के सीधी जिले में भी व्यापक रहा।


दोपहर तक बंद रहीं दुकानें, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी हर्षल पंचोली को सौंपा गया ज्ञापन।

सीधी के व्यापारियों ने दोपहर तक दुकानें बंद रखी। इस दौरान कैट के जिलाध्यक्ष कमल कामदार के नेतृत्व में व्यापारी प्रतिनिधि मंडल पूरे शहर में सुबह से ही भ्रमण कर व्यापारियों से अनुरोध कर दुकानें बंद कराने का आग्रह करता रहा। जिसका असर रहा कि दोपहर 2 बजे तक लगभग 90 प्रतिशत से ज्यादा बड़ी दुकानें बंद रहीं। बाद में व्यापारियों के एक प्रतिनिधि मंडल नें GST के व्यापार विरोधी कानूनों में संशोधन की मांग हेतु ज्ञापन भी अतिरिक्त जिला  दंडाधिकारी हर्षल पंचोली को सौंपा।


आज के बंद को सफल बनाने एवं केंद्र सरकार को कड़ा संदेश देनें के लिये सीधी कैट अध्यक्ष कमल कामदार, देवेन्द्र सिंह मुन्नू, विनय सिंह परिहार "बीनू", संतोष जायसवाल, अजय गुप्ता, अजय हरवानी, अविनाश बदवानी, रिंकू गुप्ता, रामगोपाल गुप्ता, एसदील दानी, राजा नामदेव, संजय हरवानी, अशू कामदार, बब्बू हारवानी, राजेश गुप्ता, संजय गुप्ता, भानू गुप्ता, संतोष आहूजा, अवनीश त्रिपाठी सहित कई लोगों ने दुकानें बंद कराने के लिए सुबह से दोपहर तक पैदल घूमते हुए व्यापारियों से अनुरोध किया।

No comments:

Post a Comment

Latest Post

कौन हैं चौधरी राकेश सिंह? जिनको लेकर कांग्रेस में मचा है घमासान।

भोपाल:   मध्यप्रदेश में संगठन की मजबूती के लिये प्रदेश कांग्रेस ने बड़ा बदलाव किया है। प्रदेश कांग्रेस ने संगठन में 56 जिलों में प्रभारियों ...