Thursday, 14 January 2021

सीधी: अजय-कमलेश्वर के नेतृत्व में कृषि बिल का विरोध, ट्रैक्टरों के साथ उमड़ा किसानों का हुजूम।



  • कृषि बिल के विरोध में कांग्रेस का हल्ला बोल, हजारों की संख्या में शामिल हुए किसान एवं कार्यकर्ता।
  • ट्रैक्टर पर सवार होकर अजय सिंह एवं कमलेश्वर पटेल नें किया विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व।

सीधी: केंद्र सरकार लाये गये नये कृषि कानून के विरोध में कांग्रेस नें 13 जनवरी को सीधी में विरोध प्रदर्शन किया। शहर के बीचों बीच गांधी चौक स्थित पार्किंग स्थल में विशाल महाआंदोलन किया गया। आंदोलन का नेतृत्व मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह एवं पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल नें किया। इस दौरान अजय सिंह एवं कमलेश्वर पटेल अलग-अलग ट्रैक्टरों को खुद चलाते हुए भारी संख्या में ट्रैक्टर रैली में शामिल ट्रैक्टर में सवार किसानों के साथ कार्यक्रम स्थल तक पहुंचे। इस दौरान दोनों नेताओं ने केंद्र की भाजपा सरकार द्वार लाये गये कृषि विधेयक के खिलाफ जमकर प्रहार किया। साथ ही पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, पूर्व मंत्री एवं सिहावल विधायक कमलेश्वर पटेल, पूर्व मंत्री कमलेश्वर द्विवेदी, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रूद्रप्रताप सिंह बाबा द्वारा महामहिम राष्ट्रपति के नाम मोदी सरकार के कृषि से संबंधित तीनो कानूनों को निरस्त करनें ज्ञापन सौंपा गया।


सरकार और न्यायपालिका से किसानों का भरोसा टूट चुका है: अजय सिंह।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह ने कहा कि जिन लोगों ने मिलकर षड्यंत्रपूर्वक किसान विरोधी काले कानून का ब्ल्यू प्रिंट बनाया था अब वे ही सुप्रीम कोर्ट द्वारा समीक्षा के लिए बनाई गई विशेषज्ञ समिति के सदस्य बना दिये गए हैं। ऐसे में उनसे क्या उम्मीद की जा सकती है? इसलिए किसानों ने कहा है कि अब सरकार के साथ- साथ न्याय पालिका से भी उनका भरोसा उठ गया है। वे सभी इस नकली समिति के सामने अपनी बात नहीं रखेंगे। सुप्रीम कोर्ट पर दबाव बना कर यह समिति बनाई गई है।

किसानों को गिरवी रखना चाहती है केन्द्र की मोदी सरकार : कमलेश्वर पटेल।

पूर्व मंत्री एवं सिहावल विधायक कमलेश्वर पटेल ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार किसानों को गिरवी रखना चाहती है। जिस वजह से तीन काला कानून बिल पास कर दिया है। यह कोई सामान्य आंदोलन नहीं है। आज दो महीने बीतने जा रहा है, किसान अपनी मांग को लेकर डटे हुए हैं इसे समझने की जरूरत है। उन्होने कहा कि कांग्रेस ने देश को आजादी दिलाने से लेकर गोली खाने तक का काम किया है। देश को आजादी दिलाने के लिए कइयो ने कुर्वानी दी। यहां तक की जवाहर लाल नेहरू ने 8 साल तक जेल में गुजारे लेकिन भाजपा को इतना घमंड हो गया है कि पहले उद्योग बेचे अब किसान को भी बेचना चाह रहे हैं। काला कानून बिल से पूरी अर्थव्यवस्था चौपट हो जाएगी। इस बिल को जब तक वापस नहीं लेंगे तब तक आंदोलन जारी रहेगा।         

खुद ट्रैक्टर चलाकर अजय-कमलेश्वर नें किया ट्रैक्टर रैली का नेतृत्व।

किसानों के समर्थन में कृषि कानून के खिलाफ कांग्रेस के आंदोलन को लेकर खुद ट्रैक्टर चलाते हुए पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह एवं पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल सभा स्थल पहुंचे। इन दोनों नेताओं के साथ किसानों का अपने ट्रैक्टर के साथ लंबा काफिला भी रैली के रूप में पहुंचा था। ट्रैक्टर में सवार होकर खुद ट्रैक्टर चलाते दोनों नेताओं को देखकर एक अलग ही संदेश किसानों के प्रति देखने को मिला है। किसानों के समर्थन में ट्रैक्टर में सवार एवं चलाने से युवाओं एवं कांग्रेसियों में नेताओं के प्रति काफी उत्साह भी बना रहा। 



कांग्रेस कार्यकर्ताओं के नेतृत्व में अतिथियों का सौपा गया हल।

इस दौरान कांग्रेस नेता आनंद मंगल सिंह चौहान के नेतृत्व में अतिथियों को हल सौंपा गया। लकड़ी से बना हल उनकी टीम के सदस्यों के साथ अजय सिंह एवं कमलेश्वर पटेल को मंच पर सौंपा गया। उनकी टीम में कई लोग खुद हाथ में हल लेकर पहुंचे थे। 



ट्रैक्टरों के कदमताल से घंटों थमा रहा शहर, ट्रैक्टरों की पार्किंग से छत्रसाल स्टेडियम में दिखा अलग नजारा।

किसान आंदोलन में भारी संख्या में शामिल होने आए किसानों के कारण पूरा शहर थम सा गया था। शहर के चारों तरफ किसान ही किसान नजर आ रहे थे। शहर के सभी गली चौराहों में जाम की स्थिति निर्मित हो गई थी। लंबे अरसे के बाद इस तरह के आंदोलन में भारी संख्या में लोग दिखाई दिए। शहर के स्थानीय छत्रसाल स्टेडियम में ट्रैक्टर की पार्किंग बनाई गई थी जहां सैकड़ों की संख्या में खडे ट्रैक्टर का नजारा देखते ही बन रहा था।



No comments:

Post a Comment

Latest Post

कौन हैं चौधरी राकेश सिंह? जिनको लेकर कांग्रेस में मचा है घमासान।

भोपाल:   मध्यप्रदेश में संगठन की मजबूती के लिये प्रदेश कांग्रेस ने बड़ा बदलाव किया है। प्रदेश कांग्रेस ने संगठन में 56 जिलों में प्रभारियों ...