Friday, 27 November 2020

मोदी सरकार नें अपने ही देश के किसानों के साथ छेड़ा युद्ध: उमेश तिवारी।



सीधी: नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर हरियाणा सीमा पर जारी किसानों के आंदोलन को रोकनें और प्रदर्शनकारियों को आगे बढ़ने से रोकनें के लिये पुलिस द्वारा आंसू गैस के गोले दागे गए तथा आंदोलनकारी किसानों को तितर-बितर करने के लिए पानी की बौछारें भी की गई। अब इस बात को लेकर सीधी के समाजसेवी एवं हमेशा किसानों की हक की लड़ाई लड़नें वाले उमेश तिवारी नें कड़ी प्रतिक्रिया दी है।


श्री तिवारी नें कहा, शीत के मौसम में ठण्डे पानी की तेज बौछार, आंसू गैस के गोले बरसाना, लाठियां भाँजना और दिल्ली पुलिस के अफसर का गुरुद्वारों को अपने यहां किसी को न आने देने की समझाईश और आने वाले किसानो से हर तरह से निपट लेने का सार्वजनिक बयान सब कुछ एक ही संकेत देता है की मोदी सरकार नें अपने ही देश के किसानो के साथ युद्द छेड़ दिया है।


श्री तिवारी नें आगे कहा, जिस प्रकार दुश्मन देश की सेना से लड़ते समय अस्थाई अवरोधक किला का एक तरीका सड़क को खोद कर इतना बड़ा गड्डा - इतनी चौड़ी खाई बनाना या बड़े बड़े पत्थर अड़ा देना भी होता है कि शत्रु की गाड़ियां, ट्रक्स और टैंक आगे नहीं बढ़ सकें। किसानों को दिल्ली जाने से रोकने के लिए मोदी और खट्टर सरकार ने यही किया। सड़कें खुदवा दीं गड्डे भी किये और उनसे निकली मिटटी के ढेर भी लगवा दिए तथा ट्रकों में मिट्टी भरवाकर सड़को को जाम किये।


देश के नागरिकों को अपने ही देश की राजधानी जाने से रोका जा रहा है। हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश सहित प्रदेशों की सीमायें सील की गईं हैं। अपने ही देश के प्रदेशों के साथ दुश्मन देश जैसा बर्ताव किया जा रहा है। उद्योगपतियों के गुलाम बहुत हुए हैं मगर इतना वफादार गुलाम कम ही देखा गया है कि अपने ही प्रदेशों के बीच परायेपन की दीवार खड़ी कर दे।


श्री तिवारी नें कहा, लोकतांत्रिक अधिकारों को छीनने के साथ अब भाजपा सरकारें भारत एक देश की अवधारणा पर भी हमलावर हुयी है। मगर किसानो का प्रतिरोध इस तरह के कायराना दमन से नहीं रुकेगा। किसान - लड़ाई जारी रहेगी तब तक कि जब तक खेती-किसानी के तीनो विनाशकारी क़ानून वापस नहीं हो जाते।

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: कांग्रेस नेता पुष्पेन्द्र पांडेय का निधन, अजय- कमलेश्वर नें जताया दुख।

सीधी: जिले के कांग्रेस पार्टी के नेता पुष्पेन्द्र पांडेय के निधन की खबर है। प्राप्त जानकारी के अनुसार वो पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे...