Thursday, 26 November 2020

बिजली समस्या को लेकर कांग्रेस की चुरहट इकाई नें, मवई विद्युत वितरण केन्द्र का किया घेराव।



सीधी / चुरहट: काग्रेस पार्टी (चुरहट इकाई) द्वारा बिजली की समस्या को लेकर मवई डी.सी. कार्यालय का घेराव किया गया। गरीब मजदूर, आम जनता एवं किसानों की समस्या को लेकर काग्रेस पार्टी नें अघोषित बिजली कटौती, मनमाना बिजली का बिल, बिजली विभाग के कर्मचारियों द्वारा बिना किसी कारण किसानों पर फर्जी प्रकरण दर्ज करवाने, लो वोल्टेज की समस्या, डी. सी. कार्यालय अंतर्गत हर गांव में ट्रांसफार्मर की कमी एवं जले ट्रांसफार्मर को रिपेयर करने में लापरवाही बरतने आदि की समस्या को लेकर धरना प्रदर्शन किया।


कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री ज्ञान सिंह ने कहा की आज किसान को सबसे ज्यादा बिजली कि जरुरत है, क्या उसे बिजली मिल रहीं हैं! नही मिल रहीं हैं क्युकी बिजली की अघोषित कटौती से किसान परेशान हैं। अगर बिजली है तो लो वोल्टेज भी बड़ी समस्या है। बिजली विभाग के कर्मचारियों द्वारा किसानों पर फर्जी प्रकरण दर्ज होना किसानो पर एक तरह से दोहरी मार है। उन्होनें आगे कहा की मैं जब यूथ कांग्रेस का जिला अध्यक्ष था तब एक चुरहट काग्रेस कार्यकर्ता के ऊपर फर्जी मुकदमा कायम हुआ था। तब पुरे चुरहट के यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने ऐतिहासिक एस डी ओ पी कार्यालय का घेराव किया था, घेराव के तीन दिन के अंदर चुरहट एस डी ओ पी का का ट्रांसफर हुआ था।


भारत सिंह  ने कहा किसान, गरीब मजदूर, आम जनता को बिजली की  समस्या 15 दिन के अन्दर हल नही हुई तो फिर तैयार रहे एक बड़े आंदोलन के लिए।


रामविलास पटेल ने कहा बिजली की समस्या बहुत बड़ी हैं आज के समय किसान, मजदूर, आम आदमी  परेशान हैं।


शंभू प्रसाद गौतम ने कहा आज किसान को सबसे बड़ी समस्या बिजली है। खाद की समस्या भी किसान को है, पर कोई ध्यान नहीं देता। कांग्रेस पार्टी की जब सरकार थी तब बिजली का बिल 100 रू. आता था और अब कोई सीमा नही।


कमलेंद्र सिंह नें कहा कि मवई डी. सी. अंतर्गत कई गांवों में ट्रांसफार्मर की कमी और जहा ट्रांसफार्मर जल गए हैं उनका ठीक तरीके से रिपेयर नही किया गया। लापरवाही बरती गई जिससे किसान, आम नागरिक एवं गरीब मजदूर को बड़ी समस्या का सामना करना पड़ रहा है


पंकज सिंह ने कहा, किसान, आम नागरिक, गरीब मजदूर आज बिजली के भारीभरकम बिल के बोझ से दबा हुआ हैं । बिजली विभाग के अड़ियल रवैए से जनता परेशान हैं किसान किससे गुहार लगाए। गरीब मजदूर की हालत इतनी दयनीय हैं कि वो इतने भारी भरकम बजली के बिल को कैसे भरेगा। आज कल तो बिजली के तार मे नही बिजली के बिल में करेंट लगता है।


विजय सिंह नें मंच संचालन करते हुए कहा कि सीमा में जवान और खेत में किसान अपना खून पसीने से देश को सींचा है । आज किसान की स्थिति बहुत दयनीय है।


धरना प्रदर्शन में कांग्रेस के कई  पदाधिकारी उपस्थित रहे, जिसमें ज्ञान सिंह महामंत्री मध्यप्रदेश काग्रेस कमेटी, भारत सिंह पूर्व विधायक प्रतिनिधि, रामविलास पटेल अध्यक्ष ब्लाक काग्रेस कमेटी, बैजनाथ सिंह, शंभू प्रसाद गौतम पूर्व विधायक प्रतिनिधि, कमलेश्वर सिंह, दर्शन प्रसाद मिश्रा, दिवाकर सिंह, सच्चेलाल सिंह, विजय सिंह चुरहट, आर एन पटेल, अजीत सिंह, कमलेंद्र सिंह डब्बू, पंकज सिंह अध्यक्ष आई टी एवं सोसल मीडिया, ज्ञानेन्द्र सिंह मुन्नू, विजय, भूपेंद्र, प्रभात सिंह राजन, नीरज सिंह, विष्णु विश्कर्मा, उमेश सिंह, उमेश गुप्ता, पिंकू सिंह पोलो, विवेक, रितेंद्र, आदित्य नाथ त्रिपाठी, बुद्धि सागर त्रिपाठी, मुन्नलाल जायसवाल, मुकेश रजक, सुनील वर्मा, पुष्पराज कोल आदि शामिल हैं।

No comments:

Post a Comment

Latest Post

कौन हैं चौधरी राकेश सिंह? जिनको लेकर कांग्रेस में मचा है घमासान।

भोपाल:   मध्यप्रदेश में संगठन की मजबूती के लिये प्रदेश कांग्रेस ने बड़ा बदलाव किया है। प्रदेश कांग्रेस ने संगठन में 56 जिलों में प्रभारियों ...