Wednesday, 21 October 2020

कांग्रेस से सब कुछ मिलने के बाद भी सिंधिया की भूख नहीं मिटी: अजय सिंह।



  • शिवराज ने सिंधिया की असीमित महत्वाकांक्षा का दोहन किया: अजय सिंह।

भोपाल: पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह ने आज बड़ा मलहरा में साध्वी रामसिया भारती के पक्ष में भगवा, बम्हौरी और रानीताल में आयोजित चुनावी सभाओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि कमलनाथ एक असाधारण व्यक्ति हैं। जब वे मुख्यमंत्री के रूप में एक विकसित मध्यप्रदेश का सपना गढ़ रहे थे, जब उन्होंने बड़े बड़े काम शुरू किए तो शिवराज सिंह चौहान चिंता में पड़ गए। शिवराजसिंह और उनके लोगों के मन में अच्छी ख़ासी चल रही कमलनाथ सरकार को गिराने का षड्यंत्र चलने लगा। उन्होने विचार किया कि कांग्रेस में ऐसा कौन व्यक्ति है जिसकी असीमित महत्वाकांक्षा है। उन्हें सिंधिया के रूप में वह व्यक्ति मिल गया जिन्होने 22 विधायकों को साथ में लेकर कमलनाथ को धोखा दिया और सरकार गिरा दी।

अजय सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को वो सब कुछ दिया जो किसी को इतनी जल्दी नहीं मिला।लेकिन सिंधिया की भूख ऐसी थी जो मिट नहीं रही थी। पहली बार सांसद बनते ही उन्हें केंद्र में मंत्री बना दिया गया। उनकी हर बात पर अमल होता था, सोनिया जी और राहुल जी उनसे बिना समय के तत्काल मिलते थे और उनकी बात को पूरा करते थे। ग्वालियर- चंबल संभाग के मामलों में उनकी सिफ़ारिश ही चलती थी। लेकिन उनके खून में गद्दारी थी इसलिए उन्होने 22 विधायकों से स्तीफ़ा दिलाकर कांग्रेस सरकार गिरा दी। शिवराज सिंह अपने षड्यंत्र में सफल हो गए।

श्री सिंह ने कहा कि प्रजातन्त्र में हम और आप यह सोचकर वोट डालते हैं कि हमारे कीमती वोट का अर्थ है। जनता शिवराज सिंह के झूठे वादों और उनका चेहरा देख देख कर थक चुकी थी। जनता ने शिवराज को 15 साल दिये लेकिन उन्होने कांड और घोटालों के अलावा कुछ नहीं किया। इसलिए जनता ने 2018 में कांग्रेस को सत्ता सौंपी। क्या लाखों किसानों का कर्जा माफ करना कमलनाथ की गलती थी। क्या उन्होने प्रदेश भर में बिजली के बिल कम नहीं किए। उन्होने लोगों को शुद्ध दूध और वस्तुएँ दिलाने के लिए शुद्ध के लिए युद्ध अभियान छेड़ा। माफियाओं के खिलाफ बड़ी से बड़ी कार्यवाही की। वे ऐसा मध्यप्रदेश बना रहे थे जहां मजदूरों को यहीं काम मिले। उन्हें दूसरे प्रदेशों में न भटकना पड़े। लेकिन स्वार्थियों ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

अजय सिंह ने कहा कि बुंदेलखंड के पानी में वो ताकत है जो सबके घमंड और महत्वाकांक्षा को धूल चटा देती है। कमलनाथ सरकार के रुके हुये काम दोबारा शुरू करने के लिए जरूरी है कि आप तीन तारीख को दलबदलुओं और लोभियों को ऐसा सबक सिखा दें कि भविष्य में कोई प्रजातन्त्र के साथ सरकार गिराने जैसा खिलवाड़ और पाप न करे।

No comments:

Post a comment

Latest Post

अर्जुन सिंह से लेकर कमलनाथ तक सभी के करीबी थे अहमद पटेल, निधन पर अजय सिंह नें जताया दुख।

भोपाल: कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता अहमद पटेल का निधन हो गया है। वह कोरोना पॉजिटिवि होने के बाद करीब एक महीने से अस्पताल में भर्ती थे। ग...