Friday, 30 October 2020

सिंधिया एवं उनके समर्थकों पर अजय सिंह का बड़ा हमला, कहा- कांग्रेस का कचरा सिंधिया के साथ चला गया।



  • यदि सुरक्षित प्रजातन्त्र चाहिए तो धोखेबाजों को सबक सिखाना होगा: अजय सिंह।
  • चुनाव के बाद सिंधिया को यही भाजपा दिखा देगी कि पार्टी में उनकी औकात क्या है: अजय सिंह।

भोपाल: पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने आज कांग्रेस प्रत्याशी हेमंत कटारे समर्थन में मेहगाँव विधानसभा क्षेत्र में भारौली और रोन में आयोजित सभाओं में कहा कि चुनाव के बाद यही भाजपा सिंधिया को दिखा देगी कि भाजपा में उनकी औकात क्या है? भाजपा में जाकर कांग्रेस के साथ उन्होंने जो गद्दारी की, वह सिंधिया की सबसे बड़ी राजनीतिक भूल थी। कांग्रेस में उन्हें वो इज्जत मिलती थी कि वे कांग्रेस सुप्रीमो से सीधे मिल सकते थे। पहली बार सांसद बनते ही उन्हें मंत्री बना दिया गया। लेकिन भाजपा में उनकी एंट्री नरेंद्र सिंह तोमर के यहाँ समोसे खाते हुये हुई। अच्छा हुआ कि कांग्रेस में जो कचरा था वह एक द्फ़े में सिंधिया के साथ चला गया।


श्री सिंह ने कहा कि जब डी॰पी॰ मिश्रा कांग्रेस के मुख्यमंत्री थे तो राजमाता सिंधिया ने इसी तरह उनकी सरकार गिरा दी थी।डी॰पी॰ मिश्रा के दायें बाएँ जो दो मंत्री हुआ करते थे उनमें मेरे पिताजी स्व॰ श्री अर्जुन सिंह और दूसरे शिवपुरी के गौतम शर्मा थे। तब डी॰पी॰ मिश्रा ने उनसे कहा था कि मुझसे भूल हुई कि मैंने राजमाता सिंधिया को महत्व दिया और पुराने कांग्रेसियों को भूल गया। यहाँ के हर गाँव में जो स्वतन्त्रता सेनानी थे वे ओरिजिनल कांग्रेसी थे। इतिहास अपने आपको दोहरा रहा है और अब असल कांग्रेसी बचे हैं जो महाराज की जकड़न से आजाद हैं। फर्जी कांग्रेसी तो बिक गए। जनता कह रही है कि हमने जिसे जिताया था वह बिना हमसे पूछे, बिना बताए चंद रुपयों के लिए बिक गया।


अजय सिंह ने कहा कि हमने सुना है कि नरेंद्र तोमर, शिवराज सिंह, सिंधिया, वी॰डी॰ शर्मा सब एक साथ पद यात्रा करने वाले हैं, सिर्फ एक उम्मीदवार सुनील शर्मा को हराने के लिए। लेकिन इसके बाद भी सुनील शर्मा जीतेंगे। जनता की जब ताकत एक हो जाये तो कोई नहीं हरा  सकता। शिवराज सिंह को घमंड हो गया है। इससे ज्यादा घमंड सिंधिया को है जो कहते हैं कि ग्वालियर चंबल में हमारा ठेका है। वहाँ कोई दूसरा नहीं जा सकता था। मेरे को भी यहाँ अनुमति नहीं थी। उन्होंने कहा कि अब बिकाऊ तो सिंधिया के साथ चला गया, जिनका नाम लेने में भी शर्म आती है लेकिन टिकाऊ आपके सामने है। यदि प्रजातन्त्र सुरक्षित चाहिए है, बच्चों का भविष्य सुरक्षित चाहिए है तो आपको बिकाऊ को सबक सिखाना होगा। यदि हमसे गलती हुई तो आने वाली पीढ़ी कभी माफ नहीं करेगी।  


श्री सिंह ने कहा कि विधानसभा में मैंने संकल्प लिया था कि जब तक कांग्रेस सरकार नहीं बनेगी तब तक चैन से नहीं रहूँगा। शिवराज के झूठे आश्वासन और हाव भाव से जनता थक चुकी थी। मैं चुनाव जरूर हारा लेकिन आपके सहयोग और आशीर्वाद से कांग्रेस की सरकार बनी। कमलनाथ के रुप में एक अनुभवी राजनैतिक मुख्यमंत्री बना। उन्हें पहली बार मौका मिला मध्यप्रदेश को प्रथम पंक्ति लाने का। उनकी क्षमता देखकर भाजपा नेता विचलित हो गए। फिर चुनी हुई सरकार को गिराने के लिए इतनी बड़ी मंडी लगी कि प्रजातन्त्र की नींव हिल गयी। परिणाम आपके सामने है। उन्होने कांग्रेस प्रत्याशी हेमंत कटारे को जिताने की अपील करते हुये कहा कि यहाँ से पूरे देश में यह संदेश जाना चाहिए कि गद्दारी से सरकार गिराने वाले लोभियों को जनता ने सिरे से नकार दिया है।

No comments:

Post a comment

Latest Post

दमोह उपचुनाव: कांग्रेस प्रत्याशी अजय टंडन चुनाव जीते, भाजपा प्रत्याशी अपना ही बूथ हारे।

दमोह उपचुनाव: कांग्रेस प्रत्याशी अजय टंडन चुनाव जीत चुकें हैं। मतगड़ना के 26वां राउंड खत्म होते ही मध्य प्रदेश के दमोह उपचुनाव की तस्वीर साफ...