Wednesday, 14 October 2020

सिंगरौली : 5 दिन बाद मिला युवक अजीत दुबे का शव, संदिग्ध मौत बनी चर्चा का विषय।



सिंगरौली: विन्ध्यनगर एनटीपीसी की विन्ध्याचल इकाई के स्टेज -4 में कार्यरत संविदाकर्मी अजीत दुबे का शव छठवें दिन विन्ध्याचल इकाई के स्टेज-2 के कूलिंग टावर की नाली में मिला ।वहीं लगातार पांच दिन तक शव को तलाशने के बाद निराश हुये पश्चिम बंगाल कोलकाता खोजी दल को आज स्टेज – 2 में संदिग्ध परिस्थितियों में शव मिला।

मृतक संविदाकर्मी अजीत दुबे पिता- राजेन्द्र प्रसाद पाण्डेय उम्र 28 वर्ष निवासी- नेमना बीजपुर सोनभद्र (उ.प्र.) हाल निवास हर्रई स्टेज-4 में फायर एण्ड सेफ्टी में रीडिंग डाटा फीडिंग करता था और जिस दिन अचानक 11:00 बजे रात वह गायब हुआ था। उस दिन से उसकी गुमशुदी को लेकर पूरे क्षेत्र में चर्चाओं का बाजार गर्म था। अब सिंगरौली के एनटीपीसी प्रबंधन पर मृतक के परिजन सवाल दाग रहे हैं। अब देखना यह है कि पुलिस जाँच के उपरान्त किस नतीजे पर पहुंचती है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार एनटीपीसी की विन्ध्याचल इकाई के स्टेज – 4 से लेकर स्टेज -2 तक जो कैनाल है, वहां इस तरह की रेलिंग बनायी गयी है कि कोई भी आदमी आसानी से फिसलकर नहीं गिर सकता या तो स्वत: कैनाल में छलांग लगाये या उसे बल पूर्वक पानी में फेंका जाय, दोनों ही स्थितियों को लेकर चर्चा गर्मा गर्म है। मृतक संविदाकर्मी के परिजन बताते हैं कि वह कभी भी गमछा का प्रयोग नहीं करता था।

लेकिन शव के साथ उसके हाथ और मुंह पर गमछा होना भी जांच का विषय है और मृतक के सिरपर भी चोट के निशान हैं। इन परिस्थितियों को देखते हुये परिजन हत्या की आशंका जता रहे हैं और उच्चस्तरीय जाँच करवाने की माँग करते हुये न्याय की गुहार लगायी है ।

मिली जानकारी के मुताबिक अंतिम संस्कार लिये मिले एक लाख रुपये मृतक अजीत दुबे का शव मिलने के बाद परिजनों को त्वरित राहत देते हुये एनटीपीसी प्रबंधन व स्टार इलेक्ट्रिकल द्वारा मृतक की अंत्येष्टी के लिए एक लाख रूपये तत्काल दिये गये। साथ ही नियमानुसार पीएम रिपोर्ट आने के बाद कंपनसेशन इंश्योरेंस क्लेम राशि दिये जाने की बात कही गयी।

No comments:

Post a comment

Latest Post

MP उपचुनाव: फिर विवादों में घिरी इमरती देवी, अपनी ही पार्टी के लिये कहा- "भाड़ में जाए पार्टी"।

MP उपचुनाव: मध्यप्रदेश में जैसे जैसे उपचुनाव की तारीख नजदीक आ रही, वैसे ही दोनों मुख्य पार्टियों की तरफ से राजनीतिक बयानबाज़ी तेज होती जा रह...