Monday, 7 September 2020

सीधी: रैपिड एंटीजन किट से कोविड -19 जांच की हुई शुरुआत, मिले 7 नये कोरोना पॉजिटिव केस।

  • संक्रमण रोकने के लिए नागरिकों का सहयोग जरूरी है - सीएमएचओ।

सीधी: जिले में अब सभी 11 फीवर क्लीनिकों में रैपिड एंटीजन किट द्वारा कोविड-19 का टेस्ट करने की शुरुआत आज से हो गयी है। उक्ताशय की जानकारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एल. मिश्रा के द्वारा दी गई है। जिला अस्पताल में आज कुल 37 लोगों की एंटीजन टेस्ट किट से जांच की गई जिसमें से 7 कोरोना पॉजिटिव पाये गए। इसमें से 2 व्यक्ति पुलिस लाइन सीधी से, 1 व्यक्ति फॉरेस्ट ऑफिस सीधी, 2 व्यक्ति यूनियन बैंक सीधी, 1 व्यक्ति शिवाजीनगर नौढि़या से, 1 व्यक्ति हाउसिंग बोर्ड से है। 



मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि सभी 11 फीवर क्लीनिकों  में रैपिड एंटीजन टेस्ट करने के लिए किट उपलब्ध कराई गई है। इस किट के माध्यम से 15 मिनट के अंदर तत्काल रिपोर्ट प्राप्त हो जाती है। शासन के निर्देशानुसार आज से जिला मुख्यालय में शुरुआत हो चुकी है तथा किट द्वारा रैपिड एंटीजन टेस्ट करने के लिए समस्त लैब टेक्नीशियनो को जो कोविड-19 कार्य में संलग्न किए गए हैं सभी को प्रशिक्षण प्रदान किया गया। 



डॉ. मिश्रा द्वारा जिले वासियों से अपील की गई है कि कोरोना वायरस से बचाव तथा संक्रमण रोकने संबंधित दिशा निर्देशों का पालन करते हुए कंटेनमेंट और होम क्वॉरेंटाइन संबंधित निर्देशों का पालन अनिवार्य रूप से करें। उन्होंने संक्रमण रोकने को लेकर अनिवार्य रूप से मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए थोड़े-थोड़े समय में साबुन अथवा सैनिटाइजर से हाथ साफ करने के साथ ही व्यापारिक प्रतिष्ठान संचालकों से कोरोना संक्रमण रोकने के प्रयास में विशेष सहयोग की अपील की है।



सीएमएचओ डॉ० मिश्रा ने कहा कि कोविड-19 महामारी को देखते हुए जिले में 11 फीवर क्लीनिक स्थापित किए गए हैं। इसमें 1.जिला चिकित्सालय जिला सीधी 2.सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामपुर नैकिन 3. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सेमरिया 4. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिहावल 5. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मझौली 6. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कुसमी 7. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चुरहट 8. प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अमिलिया 9. प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बरिगवां 10. प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बिठौली 11. प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अमरपुर है। इन केंद्रों पर सर्दी, खांसी एवं बुखार के मरीजों का विशेष रूप से परीक्षण, दवाई का वितरण एवं कोरोना के जाच के लिए सैंपल लिया जा रहा है। केंद्रों के लिए डॉक्टर पैरामेडिकल स्टाफ एवं दवा वितरण आदि की व्यवस्था अलग से की गई है। यह केंद्र सामान्य ओ.पी.डी. समय सुबह 9 से दोपहर 4 बजे तक संचालित हो रहे हैं।

सभी जनमानस से अपील की गई है कि  यदि किसी को सर्दी,खांसी एवं बुखार संबंधित परेशानी महसूस होती है तो वह तत्काल फीवर क्लीनिक पर स्वास्थ्य परीक्षण कराने के लिए अवश्य आएं। डॉ. मिश्रा ने यह भी बताया कि राज्य स्तर से सख्त निर्देश प्राप्त हुए हैं कि करोना संक्रमण से ग्रस्त व्यक्तियों की संख्या में निरंतर वृद्धि हो रही है तथा समुदाय में वायरल लोड बढ़ा रहा है। कोरोना जांच में व्यक्ति में संक्रमण की पुष्टि होने पर संक्रमित व्यक्ति के संपर्कों में आए हुए लोगों की कई बार पहचान करना संभव नहीं हो पाता है। इसलिए यह अत्यंत महत्वपूर्ण है कि समुदाय द्वारा कोरोना जांच के संबंध में सामाजिक दायित्वों का पालन किया जाए तथा यदि किसी कोरोना से पुष्ट व्यक्ति के संपर्क में आने की जानकारी किसी भी नागरिक को होती है तो यह नागरिक का दायित्व है कि वह स्वयं निकटस्थ फीवर क्लीनिक में कोरोना पुष्ट व्यक्ति के संपर्क दिनांक से 5 से 10 दिन के अंदर करोना की जांच कराएं। 



उनके द्वारा प्रथम संपर्क की परिभाषा भी बताते हुए कहा गया कि इसमें कोरोना पॉजिटिव केस के घर के सदस्य, कोविड केस के सीधे शारीरिक संपर्क अथवा संक्रमित स्राव के सीधे संपर्क में बगैर व्यक्तिगत सुरक्षा साधनों के आया व्यक्ति कोविड केस के संपर्क में बंद वातावरण में 1 मीटर से कम दूरी में आमने सामने आया व्यक्ति शामिल किए गए हैं।

No comments:

Post a comment

Latest Post

AUDIO: भाजपा जिलाध्यक्ष के वायरल ऑडियो पर बवाल, जानिये जिलाध्यक्ष की प्रतिक्रिया?

सीधी: आज सीधी के राजनैतिक गलियारे में एक वायरल  ऑडियो नें भूचाल ला दिया। आज दिनभर इस वायरल  ऑडियो की चर्चा पूरे जिले में होती रही। दरअसल, स...