Wednesday, 19 August 2020

कमलनाथ फिर दोहरी भूमिका में, प्रदेश अध्यक्ष के साथ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष भी होंगे।


भोपाल: 15 महीनें तक पिछली कांग्रेस सरकार में मुख्यमंत्री के साथ साथ मध्यप्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष का पद संभालनें वाले कमलनाथ अब मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष भी होंगें। प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने विधानसभा को इसकी जानकारी दे दी है। कांग्रेस के संगठन मंत्री चंद्रप्रभाष शेखर द्वारा प्रमुख सचिव, मप्र विधानसभा को इस सम्बन्ध में पत्र भेजा गया है। पिछ्ले छह महीने से नेता प्रतिपक्ष का पद खाली था। अब तक विधानसभा के रिकॉर्ड में कोई भी नेता प्रतिपक्ष नहीं था।



मध्यप्रदेश विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष की दौड़ में कांग्रेस के कई विधायकों का नाम प्रमुखता से चल रहा था। इसमें वरिष्ठ विधायक डाॅ. गोविंद सिंह, सज्जन सिंह वर्मा, बालाबच्चन, एनपी प्रजापति जैसे दिग्गज नेताओं के नाम थे। लेकिन इनमें से किसी भी नाम पर मुहर नही लग सकी और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को ही नेता प्रतिपक्ष का दायित्व सौंप दिया गया।कांग्रेस संगठन की ओर से आज विधानसभा सचिवालय को पत्र भेज कर कमलनाथ को नेता प्रतिपक्ष का दायित्व देने की जानकारी दी है।



अब ऐसे में मध्यप्रदेश के राजनैतिक गलियारे में यह चर्चा जोर पकड़ रही है की, क्या कमलनाथ के अलावा मध्यप्रदेश कांग्रेस में काबिल नेताओं का अकाल पड़ गया हैं। आखिर कमलनाथ कब तक दोहरी भूमिका में रहेंगे। पहले वो सीएम के साथ साथ मध्यप्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष का पद सम्भाल रहे थे और अब वो अध्यक्ष के साथ साथ नेता प्रतिपक्ष की भी भूमिका में होंगें। अब यह देखना दिलचस्प होगा की संगठन और विधायक दल की कमान एक ही व्यक्ति के पास रहते हुये मध्यप्रदेश की सत्ता से बेदखल हो चुकी कांग्रेस का आगामी विधानसभा उपचुनावों में भविष्य क्या होगा।



No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: कोरोना का कहर जारी, जिले में मिले 18 नए कोरोना संक्रमित।

26 व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग। कुल संक्रमित 814 डिस्चार्ज 573 एक्टिव केस 238 मृत्यु 3 सीधी: जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ० नागेंद्र बिहारी ...