Thursday, 9 July 2020

MP के कुख्यात भाजपा नेताओं और मंत्रियों ने दी विकास दुबे को शरण, CBI जांच हो: अजय सिंह।


भोपाल: उत्तर प्रदेश के कानपुर में पिछले दिनों आठ पुलिसकर्मियों को घेरकर बेरहमी से हत्या करने के आरोपी कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे आखिरकार आज मध्यप्रदेश के उज्जैन में गिरफ्तार कर लिया गया है। विकास दुबे उज्जैन के महाकाल में दर्शन के लिए गया था, तभी वहां के गार्ड ने पहचाना। जिसके बाद वहां की पुलिस एक्शन में आई और उसे वहीं पकड़ लिया। लेकिन अब विकास दुबे की उज्जैन से गिरफ्तारी पर सवाल खड़े हो गए हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजय सिंह नें विकास दुबे की गिरफ्तारी को प्री- प्लानिंग के तहत की गयी गिरफ्तारी बताते हुये सीबीआई जांच की मांग की है।

दरअसल, विकास दुबे को उज्जैन से गिरफ्तार किये जानें के बाद से ही कांग्रेस लगातार हमलावर है, और इसे गिरफ्तारी ना मानते हुये सरेंडर बता रही है। कांग्रेस की तरफ से पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, पूर्व मंत्री जीतू परवारी एवं पीसी शर्मा नें विकास दुबे की गिरफ्तारी पर सवालिया निशान लगाया है।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें की सीबीआई जांच की मांग।
मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी को लेकर शिवराज सरकार को कटघरे में खड़ा किया है एवं सीबीआई जांच की मांग की है। अजय सिंह नें एक न्यूज़ चैनल से दूरभाष पर चर्चा के दौरान यह बात कही। इससे पहले अजय सिंह नें ट्वीट कर विकास दुबे की गिरफ्तारी को प्री प्लानिंग के तहत की गयी गिरफ्तारी बताया था।

भाजपा राज में अब कुख्यात अपराधियों की शरण स्थली बना प्रदेश: अजय सिंह।
पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि उत्तरप्रदेश के जघन्य, क्रूर और आठ पुलिस कर्मियों को जान से मारने वाले अपराधी विकास दुबे को भाजपा सरकार ने शरण देकर पूरे देश में मध्यप्रदेश को बदनाम कर दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा ने पिछले 15 साल में प्रदेश को हर बुरे काम में अव्वल रखने की जो ख्याति प्राप्त की थी, विकास दुबे के मामले से अब वह शुरुआत हो गई है।

श्री सिंह ने कहा कि विकास दुबे 300 किलोमीटर मध्यप्रदेश में चलता रहा तब उसे किसी टोल नाके, पुलिस चौकसी में नहीं पकड़ा गया। वह पकड़ा गया महाकाल के मंदिर में जहां वह चिल्ला चिल्लाकर खुद कह रहा था कि वह विकास दुबे है। उन्होने कहा कि महाकाल दर्शन की जब रसीद कटवा रहा था तब आईडी प्रूफ की आवश्यकता होती है तब भी उसे नहीं पहचाना गया। श्री सिंह ने कहा कि प्रथम द्रष्ट्या कोई पाँचवी कक्षा का बालक इस घटना को देखकर बता देगा कि यह मध्यप्रदेश में आमंत्रित किया गया अपराधी था जिसे एक कहानी गढ़कर बचाने के लिए मध्यप्रदेश के कुख्यात भाजपा नेताओं और मंत्रियों ने शरण दी।

श्री अजयसिंह ने कहा कि व्यापम, बलात्कार, बेरोजगारी, किसानों की आत्महत्या, अवैध रेत उत्खनन में तो हमारा भाजपा राज्य में देश में प्रथम था। अब अपराधियों को शरण देने और उन्हें बचाने में भी पहला राज्य का खिताब मिल गया लेकिन प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता का सिर इससे शर्म से झुक गया। भाजपा को बधाई।

No comments:

Post a comment

Latest Post

इतिहास में पहली बार किसी प्रदेश में लोभ और महत्वाकांक्षा के कारण, थोक के भाव थोपे गए उपचुनाव: अजय।

भोपाल: पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि इतिहास में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में यदि कहीं उपचुनाव हो रहे हैं तो वह है - मध्यप्रदेश...