Tuesday, 28 July 2020

स्वच्छता को अपनाकर जीती जा सकती है कोरोना से जंग: केदारनाथ शुक्ल, सीधी विधायक।


  • सीधी विधायक केदारनाथ शुक्ल ने लोगों से की अपील- शासन द्वारा जारी एडवाईजरी का करें पालन।

सीधी: विधायक सीधी केदारनाथ शुक्ल की अध्यक्षता में रविवार को जिला पंचायत सभागार में जिला स्तरीय आपदा प्रबन्धन समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में कलेक्टर रवीन्द्र कुमार चौधरी एवं पुलिस अधीक्षक पंकज कुमावत की उपस्थिति में समिति के अन्य सदस्यों द्वारा कोविड-19 के जिले में बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए भावी रणनीति पर चर्चा की गयी। 



विधायक श्री शुक्ल ने कहा कि सीधी जिले में पारम्परिक संस्कृति ग्रामीण इलाकों में अभी भी विद्यमान है, अभी भी महिलायें सामान्यतः सिर ढंक कर रखती है एवं ग्रामीण जन मास्क के रूप में गमछे का प्रयोग कर रहे हैं, बाजार एवं अन्य स्थानों से वापस जाने पर लोग घरों में बाहर जूते चप्पल उतार कर हाथ पैर स्वच्छ करके ही अन्दर प्रवेश करके हैं। इसी का परिणाम है कि सीधी जिले में अभी भयावह स्थिति नही हुई है लेकिन सावधानी आवश्यक है।



केदारनाथ शुक्ल नें कहा कि हमें इस स्वच्छता की अच्छी आदतों से प्रत्येक व्यक्ति को जागरुक करना है और इसे प्रोत्साहित करना है। कोविड-19 के इस कठिन समय में लोगों को सभी सुरक्षात्मक उपायों के विषय में सतत रूप से जागरुक किया जाना आवश्यक है। सभी को दो गज की दूरीबनाये रखना जरूरी है, घर से निकलने पर मास्क लगाये रखना चाहिए एवं बार-बार साबून से हाथ धुलाई करते रहना चाहिऐ। 



विधायक श्री शुक्ल ने कहा कि रक्षाबन्धन का त्योहार में खरीददारी के लिये माताएँ- बहने बाजार आती हैं, बाज़ार में भीड़ नहीं हो इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए। इस विषय में जनजागरुकता का अभियान सतत रूप से चलाया जाए। बाजार खुलने के समय एवं बन्द होने के समय एलाउंस कराया जाय तो गांव क़स्बों से आने वाली महिलाओं को जानकारी मिलेगी एवं अगर माताये-बहने जागरूक हो गयी तो निश्चित रूप से सभी को जागरूक कर देंगी । जन-जन को जागरुक करने के लिये सोशल मीडिया पर प्रमुख जनों के अपील करना जरूरी है। लाकडाउन के विषय में जनता के स्वास्थ्य एवं आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के विषय में ध्यान रखकर ही निर्णय लिए जाए।



विधायक श्री शुक्ल ने कहा कि चालू माह सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार जैसी बीमारियों के प्रकोप का माह है एवं इस तरह के लक्षण कोरोना वायरस के भी है। मौसम परिवर्तन के साथ-साथ मच्छरों का प्रकोप बढ़ रहा है इसलिये शहरी क्षेत्र में मलेरिया से बचाव के लिये छिड़काव जरूरी है। शहर के अन्दर मुख्य बाजार के साथ-साथ गली मोहल्ले के मार्गो में फांगिग जरूरी है । नगरपालिका अधिकारी द्वारा नालियों के सफाई पर ध्यान दिया जाय।सीधी जिले में अभी भयावह स्थिति नही है इसलिये सतर्क रहने एवं जागरूक रहने की आवश्यकता है।

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी में विस्फोटक हुआ कोरोना: एक साथ मिले 28 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज।

जिले में मिले 28 नए कोरोना संक्रमित। कुल संक्रमित 164 डिस्चार्ज 88 एक्टिव केस 75 सीधी: एक बार कोरोना मुक्त हो चुके मध्यप...