Friday, 24 July 2020

सीधी: 31 वर्षीय महिला निकलीं कोरोना पॉजिटिव, महिला यश मेन्स शॉप के कोरोना पॉजिटिव कर्मचारी की संबंधी हैं।


  • सीधी जिले में 24 एक्टिव केस, 25 कंटेनमेंट एरिया।
  • सीधी शहर के रेडीमेड कपड़ो के व्यवसायिक प्रतिष्ठान यश मेन्स में कार्यरत कुल 7 लोग अभी तक कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं।

सीधी: मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एल. मिश्रा ने बताया कि दिनांक 24.07.2020 को जिले में एक नया कोरोना पॉजिटिव केस पाया गया है। ये 31 वर्षीय महिला हैं, जो पूर्व में दिनांक 22.07.2020 को यश मेन्स में कार्यरत एवं वार्ड न०-4 से आए पॉजिटिव केस के संबंधी हैं तथा घरेलू संपर्कियों में से एक है। 22 जुलाई को इनका सेम्पल किया गया था इनके परिवार के दूसरे सदस्यों की रिपोर्ट अभी निगेटिव प्राप्त हुई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि अभी तक जिले में कुल 64 केस पॉजिटिव पाए गए हैं, वर्तमान में 24 एक्टिव केस भर्ती हैं और 39 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है। जिले में अभी तक कुल 25 कंटेनमेंट एरिया एक्टिव हैं।



जिला प्रशासन द्वारा जनहित में जारी अति आवश्यक सूचना।
सीधी शहर के रेडीमेड कपड़ो के व्यवसायिक प्रतिष्ठान यश मेन्स में कार्यरत कुल 7 लोग अभी तक कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। अतः उक्त प्रतिष्ठान में खरीदी हेतु गए ग्राहकों में भी संक्रमण होने के खतरे को देखते हुए प्रशासन द्वारा आमजनों को सूचित किया गया है कि यश मेन्स में दिनांक 13 से 18 जुलाई 2020 तक जो ग्राहक खरीदी करते हुए संपर्क में आए हैं, वे जिला कंट्रोल रूम स्वास्थ्य विभाग सीधी के दूरभाष क्रमांक 07822297521 में अपनी तत्काल सूचना देने का कष्ट करें ताकि समय रहते संक्रमण रोकथाम के लिए उचित प्रयास किए जा सके।



कोरोना के उपचार के नाम पर लोगों के झांसे में नहीं आयें।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिश्रा ने बताया कि मॉरिसन स्कूल के पास एक व्यक्ति द्वारा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए दवा प्रदान करने की सूचना प्राप्त हुई थी। जिसकी जांच के लिए चिकित्सा अधिकारी एवं खाद्य निरिक्षक की टीम भेज कर वस्तु स्थिती की जांच कराई गई। जांच दल द्वारा दी गई जानकारी अनुसार उक्त व्यक्ति के द्वारा ऐसी कोई दवा नही दी जाती है। वे स्वयं कई वर्षों से शारीरिक रूप से विकलांग है और जो दवाएं यहां उपलब्ध है वो स्वयं के उपचार में उपयोग करते हैं। उनकी गलत शिकायत की गई थी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि इस संदर्भ में जन-मानस के लिए यह संदेश है कि कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुए इस तरह के उपचार या दवा देने वाले के झांसे में न आए इनकी विश्वसनीयता नही मानी जा सकती। 



सामान्य सर्दी, खांसी मानकर नहीं करें विलंब, कंट्रोल रूम में दें सूचना।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिश्रा ने बताया कि यह समय कोरोना काल बन चुका है इससे बचने के 2 ही तरीके बचे हैं। पहला जो लोग बाहर से आ रहे है या बाहर जा कर अभी 2-4 दिन हफ्ते के अंदर आए हैं वो अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए स्वयं मधुरी क्वारंटाइन सेन्टर सीधी में कोरंटाइन हो जाए। दूसरा तरीका है कि स्वयं के घर में यदि शौचालय स्नानागार व्यवस्था सहित अलग कमरा उपलब्ध हो तो सामाजिक दूरी एवं सेनेटाइजर आदि सावधानियों के साथ होम क्वारंटाइन में रहें।



इसके साथ ही ऐसे लोगों की जानकारी जो सर्दी, खांसी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ आदि लक्षणों से पीडि़त हैं उनको तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र के फीवर क्लीनिक में जांच कराने की आवश्यकता है वो स्वयं आ जाए। यदि लापरवाही कर रहे या उसे सामान्य सर्दी, खांसी मानकर विलंब कर रहे हैं तो उनके पास-पड़ोस के एवं घर के लोग विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, पंचायत सचिव अन्य क्षेत्रिय स्वास्थ मैदानी कार्यकर्ता के माध्यम से जिला कंट्रोल रूम दूरभाष क्र 07822297521 में सूचित कराएं। ताकि समय रहते उनका उपचार किया जा सके और उनके माध्यम से दूसरों को कोरोना संक्रमण फैलने से बचाया जा सके।

No comments:

Post a comment

Latest Post

कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार का बड़ा बयान, कहा- सिंधिया ने दिया था 50 करोड़ और मंत्री पद का ऑफर।

MP उपचुनाव:   मध्यप्रदेश में विधानसभा की 28 सीटों पर 3 नवंबर को मतदान होना है। जिसे देखते हुये हुये भाजपा एवं कांग्रेस के नेताओं का आपस में ...