Sunday, 7 June 2020

सीधी: अमरपुर स्वास्थ्य केंद्र बना अय्याशी का अड्डा, नर्सों को ग्रामीणों नें आपत्तिजनक हालत में पकड़ा ! कलेक्टर नें दिये जांच के निर्देश।


सीधी: देश के साथ साथ मध्यप्रदेश में भी कोरोना का संकट जारी है। कोरोन पॉजिटिव मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। ऐसे में सबसे बड़ी जिम्मेदारी स्वास्थ्य सेवाओं में लगे कर्मचारियों पर है, और हमारे स्वास्थ्य कर्मचारी अपनी जान को जोखिम में डालकर लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों की देखभाल तथा इलाज कर रहें हैं। यही वजह है की देश में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट बढ़ा है। देश के सभी लोंगों में स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के लिये सम्मान है, लेकिन कुछ घटनाक्रम ऐसे भी हैं जो स्वास्थ्य विभाग जैसे महकमें को भी शर्मसार कर देतें है। 



ऐसा ही एक घटनाक्रम सीधी जिला मुख्यालय से 25 किलोमीटर की दूरी पर स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अमरपुर में हुआ, जहां ग्रामीणों ने बीते शनिवार को दोपहर 2 बजे के आसपास यहां पदस्थ नर्सों के  क्रियाकलापों पर जमकर हंगामा किया।

क्या था मामला।
घटना की शुरुआत कुछ दिन पहले हुई थी, जब अमरपुर स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ संविदाकर्मी स्टाफ नर्स को बीते 2 जून की रात्रि 11 बजे के लगभग स्वास्थ्य केंद्र के अंदर बने क्वार्टर में गलत एवं अनैतिक काम करते हुये ग्रामीणों ने दबोच लिया था। ग्रामीणों ने बताया कि स्वास्थ्य केंद्र के अंदर आए दिन पार्टियां एवं गलत काम होनें की खबर प्राप्त हो रही थी। ग्रामीणों नें गलत काम करनें वालों को रंगे हाथों पकड़नें का प्लान बनाया।



बीते 2 जून की रात्रि 11 बजे के आसपास एक नीले कलर की कार स्वास्थ्य केंद्र के गेट के अंदर प्रवेश की, कार से आया हुआ व्यक्ति जैसे ही स्टाफ नर्स के कमरे के अंदर बंद हुआ वैसे ही ग्रामीणों ने चारों तरफ से घेरकर बाहर के गेट में ताला बंद कर दिया और ग्रामीण हंगामा करने लगे। वहीं हंगामा बढ़ते देख नीले कार से आया हुआ व्यक्ति वहां से निकल गया। ग्रामीणों ने बताया कि जिस वक्त 2 स्टाफ नर्स तथा नीले कार से आए हुए व्यक्ति को पकड़ा गया उस वक्त वो आपत्तिजनक हालत में थे।



ग्रामीणों के मुताबिक रंगे हाथ पकड़ी गई दोनों नर्सें उस वक्त तो छोड़ देने की तथा नौकरी बचाने की बात कर रहीं थी, जिसे देखते हुये ग्रामीणों ने हंगामा शांत करके रात्रि 12 बजे के लगभग अपने घर चले गए। 

लेकिन इस घटना के दूसरे दिन बीते 3 जून को स्टाफ नर्स ने बहरी थाने में पहुंचकर दो ग्रामीणों के ऊपर मामला दर्ज करवा दिया। जिसके बाद पूरे मामले ने नया मोड़ मोड़ आ गया।ग्रामीणों के खिलाफ बहरी थाने में मामला दर्ज होने के मामले की जानकारी जैसे ही ग्रामीणों को लगी कल शनिवार को 2 बजे के लगभग ग्रामीणों ने नर्सों का विरोध करना शुरू कर दिया तथा उनकी सेवा समाप्ति करने के लिए नारेबाजी करने लगे। शनिवार को दोपहर 12 बजे के लगभग ग्रामीणों द्वारा कलेक्टर को आवेदन देकर कार्रवाई की गुहार लगाई गयी।



कलेक्टर नें दिये जांच के निर्देश।
सीधी जिला कलेक्टर रवींद्र चौधरी नें कहा की,  अमरपुर स्वास्थ्य केंद्र का मामला सामने आया है जिसकी जांच कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं।

No comments:

Post a comment

Latest Post

ललित सुरजन का निधन पत्रकारिता के लिए बड़ी क्षति: अजय सिंह।

ललित सुरजन में मायाराम सुरजन के पूरे गुण विद्यमान थे: अजय सिंह। भोपाल: मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि मै...