Thursday, 25 June 2020

सीधी: डीजल-पेट्रोल की कीमतों में लगातार की जा रही वृद्धि के विरोध में, कांग्रेस ने राज्यपाल के नाम जिला कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन।

  • मोदी सरकार की जन विरोधी नीतियों के विरोध में कांग्रेस ने  सौंपा ज्ञापन।
  • डीजल पेट्रोल के कीमतों में बेतहाशा वृद्धि कर भाजपा सरकार जनता को ठग रही है: रुद्र प्रताप, कांग्रेस जिला अध्यक्ष।

सीधी: कोरोना महामारी के बीच केंद्र एवं प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा लगातार पिछले 22 दिनों से डीजल एवं पेट्रोल के कीमतों में बेतहाशा की जा रही वृद्धि को तत्काल वापस करने एवं  भाजपा सरकार की अन्य जन विरोधी नीतियों के विरोध में जिला कांग्रेस कमेटी सीधी द्वारा महामहिम राज्यपाल के नाम ज्ञापन जिला कलेक्टर को सौंपा गया।



जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रुद्र प्रताप सिंह ने भाजपा सरकार द्वारा प्रतिदिन बढ़ाए जा रहे डीजल एवं पेट्रोल के  कीमतों का विरोध करते हुए कहा कि, वर्तमान में अंतरराष्ट्रीय बाजार में  कच्चे तेल की कीमत ना के बराबर है तब भी भारत की सरकार देश की जनता पर डाका डालते हुए पिछले 22 दिन से लगातार डीजल पेट्रोल के रेट बढ़ाकर अपना झोला भरने में लगी हुई है।



उन्होंने कहा कि 2014 में यूपीए सरकार में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के दाम उच्चतम स्तर पर तब भी तत्कालीन यूपीए सरकार द्वारा जनता को सस्ता डीजल एवं पेट्रोल दिया जाता था। उन्होंने कहा कि 2014 में क्रूड आयल 106.85 डॉलर प्रति बैरल था तब पेट्रोल ₹71 प्रति लीटर मिलता था।आज अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल की कीमत मात्र 38 डॉलर प्रति बैरल हो गई है लेकिन मोदी सरकार देश की जनता को ₹88 प्रति लीटर पेट्रोल बेच रही है।



कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने आगे कहा कि, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल में भारी गिरावट के चलते भारत सरकार को 1 लीटर पेट्रोल, पूरा खर्च एवं मुनाफा तथा कंपनियों का भी लाभ जोड़कर ₹28 में  पड़ता है। लेकिन मोदी सरकार इस महामारी के बीच ₹88 प्रति लीटर पेट्रोल बेच कर प्रति लीटर में ₹60 अतिरिक्त कमाई कर रही है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने अपनी लूट नीति एवं कुप्रबंधन के चलते डीजल का भाव पेट्रोल से ज्यादा करके इतिहास रच दिया है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी में पूरी दुनिया अपने देश की जनता को राहत दे रही है, लेकिन भारत की सरकार जनता को राहत देने के बजाय जनता के जेब में डाका डाल कर अपना छोला भरने में लगी हुई है।



कांग्रेस पार्टी द्वारा सौंपे गए ज्ञापन में मांग की गई है कि पिछले 22 दिनों से डीजल पेट्रोल में की जा रही लगातार वृद्धि तत्काल वापस ली जाए। लॉकडाउन के दौरान लोगों के बिजली बिल भारी भरकम दिए जा रहे हैं । उन्हें माफ किया जाए तथा आगामी बिजली के बिल इंदिरा गृह ज्योति योजना के तहत  100 यूनिट तक बिजली ₹100 में दी जाए। खरीफ की बोनी के लिए लघु एवं सीमांत किसानों को पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी निशुल्क बीज वितरण किया जाए। विगत 5- 6 जून  को  आए चक्रवाती तूफान से सीधी जिले में काफी नुकसान हुआ है। उसका सर्वे करवाकर तत्काल सहायता  राशि दिलाई जाए।



जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रूद्र प्रताप सिंह बाबा की अगुवाई में सौपे गए ज्ञापन में मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष लाल चंद गुप्ता, प्रदेश महामंत्री ज्ञान सिंह, पूर्व जिला अध्यक्ष आनंद सिंह चौहान, संगठन प्रभारी महामंत्री सुरेश प्रताप सिंह ,महिला कांग्रेस अध्यक्ष बसंती देवी कोल, युवक कांग्रेस अध्यक्ष रंजना मिश्रा, जिला प्रवक्ता प्रदीप सिंह दीपू, महामंत्री अरविंद तिवारी, अशोक  कोरी, ओंकार सिंह करचुली, किसान कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष पंकज सिंह, अल्पसंख्यक कांग्रेस अध्यक्ष अब्दुल समद ,पिछड़ा वर्ग विभाग अध्यक्ष राज बहोर जयसवाल ,आईटी सेल अध्यक्ष पंकज सिंह, कांग्रेस सेवा दल यूथ विंग अध्यक्ष अरविंद सिंह रोशन, एनएसयूआई अध्यक्ष दीपक  मिश्रा ,ब्लॉक अध्यक्ष श्रवण सिंह प्रमुख रूप से शामिल रहे।

No comments:

Post a comment

Latest Post

प्रवीण पाठक का हमला, कहा- एक राजघराने ने ग्वालियर को पूरे विश्व में शर्मसार कर दिया।

MP उपचुनाव : मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर हो रहे उप चुनाव में गद्दारी और खुद्दारी का मुद्दा जोरों पर है। इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस लगातार भा...