Tuesday, 2 June 2020

मनोज तिवारी: दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाये गये, जनता से मांगी माफ़ी।


नई दिल्ली: कोरोना के कहर के बीच, दिल्ली भाजपा में एक  बड़ा संगठनात्मक बदलाव किया गया है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मनोज तिवारी को हटाकर आदेश गुप्ता को दिल्ली का प्रदेश अध्यक्ष बना दिया है। फिलहाल अभी मनोज तिवारी को पद से हटानें की वजह साफ नही हुई है।



मनोज तिवारी को हटाकर भाजपा ने जिसे दिल्ली का प्रदेश अध्यक्ष बनाया है उनका नाम आदेश गुप्ता है। आदेश गुप्ता एक साल पहले तक नॉर्थ एमसीडी के मेयर रह चुके हैं। मनोज तिवारी को हटाकर भाजपा ने जमीनी और दिल्ली से जुड़े नेता को अध्यक्ष बनाया है, जिसकी मांग काफी वक्त से चल रही थी। आदेश गुप्ता कभी ट्यूशन पढ़ाकर अपना घर चलाते थे।



अभी बीते सोमवार को ही मनोज तिवारी को पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ लॉकडाउन के नियम का उल्लंघन करने के आरोप में हिरासत में लिया गया था। वे दिल्ली में कोविड-19 को नियंत्रित करने में अरविंद केजरीवाल सरकार की नाकामी के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए राजघाट पर जमा हुए थे। इससे पहले भी मनोज तिवारी पर लॉकडाउन तोड़ने के आरोप लगे थे। वह क्रिकेट मैच खेलने हरियाणा पहुंचे थे। वहां उन्होंने मैच के दौरान न तो मास्क लगाया और सोशल डिस्टेंसिंग का भी उल्लंघन किया था।



इस बार दिल्ली विधानसभा चुनाव में मनोज तिवारी को मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनाने की भी बात सामने आई थी। हालांकि बीजेपी को उनके नेतृत्व में करारी हार का सामना करना पड़ा। तिवारी ने 45 सीटों का दावा किया था जबकि बीजेपी के हाथ केवल 8 सीटें लगीं। इसके बाद भी कयास लगाए जा रहे थे कि उनसे यह जिम्मेदारी ली जा सकती है।



दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष के पद से हयाये जानें के बाद मनोज तिवारी नें नए प्रदेश अध्यक्ष को बधाई दी है, साथ ही उन्होनें दिल्ली वासियों से क्षमा भी मांगी है। मनोज तिवारी ने ट्वीट करते हुए लिखा है, ' दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के रूप में इस 3.6 साल के कार्यकाल में जो प्यार और सहयोग मिला उसके लिए सभी कार्यकर्ता,पदाधिकारी,व दिल्ली वासियों का सदैव आभारी रहूँगा.. जाने अनजाने कोई त्रुटि हुई हो तो क्षमा करना..

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी में विस्फोटक हुआ कोरोना: एक साथ मिले 28 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज।

जिले में मिले 28 नए कोरोना संक्रमित। कुल संक्रमित 164 डिस्चार्ज 88 एक्टिव केस 75 सीधी: एक बार कोरोना मुक्त हो चुके मध्यप...