Wednesday, 17 June 2020

मणिपुर में बड़ा सियासी घमासान: खतरे में भाजपा की गठबंधन सरकार, 3 विधायक कांग्रेस में शामिल।


मणिपुर में एक बड़े सियासी उलट फेर की खबर आ रही है।भारतीय जनता पार्टी की गठबंधन सरकार खतरे में आई गई है। बीजेपी के तीन विधायकों ने इस्तीफा देकर कांग्रेस का दामन थाम लिया है। इसके अलावा सत्तारूढ़ दल नेशनल पीपुल्‍स पार्टी (NPP) के चार विधायकों ने मंत्री पद छोड़ दिया है। साथ ही एक टीएमसी विधायक और एक निर्दलीय विधायक ने सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया है




प्राप्त जानकारी के अनुसार, इम्फाल में बुधवार को बीजेपी छोड़कर एस. सुभाषचंद्र सिंह, टी.टी. हाओकिप और सैमुअल जेंदाई कांग्रेस में शामिल हो गए। वहीं, NPP की ओर से डिप्‍टी सीएम वाई जयकुमार सिंह, मंत्री एन कायिसी, मंत्री एल जयंत कुमार सिंह और लेतपाओ हाओकिप ने पद से इस्‍तीफा दिया है। तृणमूल कांग्रेस के टी रोबिंद्रो सिंह और स्वतंत्र विधायक शाहबुद्दीन ने भी बीजेपी से समर्थन वापस ले लिया है।



इस सियासी संकट के बीच सीएम बिरेन सिंह की कुर्सी पर खतरा मंडरा रहा है। राज्‍य में राष्‍ट्रपति शासन लगाए जाने का फैसला भी हो सकता है। वहीं, कांग्रेस सरकार बनाने का दावा कर सकती है।



मणिपुर विधानसभा चुनाव 2017 में क्या रहा था रिजल्ट।
 कांग्रेस 28
 भाजपा 21
 NPF 4
 NPP 4
 TMC 1
 LJL 1
 IND 1

BJP को NPF, NPP, IND, LJP और TMC का समर्थन था।

अब क्या है सियासी गणित।
बीजेपी की गठबंधन सरकार से अब NPP (4) TMC (1) और IND (1) ने समर्थन वापस ले लिया है। बीजेपी के 3 विधायकों के इस्तीफे के बाद पार्टी के अपने 18 विधायक रह गए हैं। ऐसे में अब एनपीएफ (4) और एलजेपी (1) को मिलकर बीजेपी 23 विधायकों के समर्थन का दावा कर सकती है। वहीं, कांग्रेस 34 विधायकों के समर्थन के साथ सरकार बनाने का दावा पेश कर सकती है।

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: शासकीय चिकित्सकों के प्राइवेट प्रेक्टिस पर रोक, आदेश जारी।

सीधी: मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सीधी द्वारा आदेश जारी कर जिलान्तर्गत क्षेत्र की समस्त शासकीय अस्पतालों में पदस्थ समस्त विशेषज्ञ/...