Sunday, 17 May 2020

रीवा: चाक घाट बॉर्डर पर फिर हुआ जमकर हंगामा, प्रवासी मजदूरों ने बैरिकेड तोड़कर UP की सीमा में किया प्रवेश।


रीवा: देश के साथ साथ मध्यप्रदेश में भी कोरोना का संकट जारी है। मध्यप्रदेश के विंध्य क्षेत्र में भी कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। साथ ही कोरोना के इस संकटकाल में लॉक डाउन की वजह से प्रवासी मजदूर कई अन्य राज्यों में फंसे हुये हैं तथा पलायन को मजबूर हैं। ऐसे में उनके सामनें सबसे बड़ी समस्या उनके खानें-पीनें को लेकर है। लेकिन इसी बीच रीवा जिले से लगे मध्यप्रदेश-उत्तरप्रदेश के बॉर्डर का एक वीडियो सामनें आया था, जिसमें पुलिस प्रवासी मजदूरों पर लाठियां बरसाती हुई  दिख रही थी। लेकिन अब उसी चेक पोस्ट पर एक बार फिर मजदूरों नें हंगामा किया है।

क्या है मामला।
रविवार को रीवा में मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश की सीमा पर लगे हुए चाकघाट के पास मजदूरों ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान स्तिथि को सँभालने पुलिस ने हल्का बल प्रयोग भी किया। मजदूरों ने बॉर्डर पर लगे बैरिकेड तोड़कर उत्‍तर प्रदेश की सीमा में जबरदस्‍ती प्रवेश कर लिया।

दरअसल, मध्य प्रदेश से होकर अन्य राज्यों को जाने वाले मजदूरों को लेकर सीएम शिवराज सिंह चौहान सात राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिख चुके हैं। इस बीच सीमाओं पर मजदूरों रोके जाने से विवाद की स्थिति बन रही है। रीवा में रविवार को प्रवासी मजदूरों ने जमकर हंगामा मचाया। उत्तर प्रदेश से बसें न आने को लेकर मजदूरों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया और जाम लगा दिया। नाराज श्रमिकों ने पुलिस दल पर पथराव शुरू कर दिया जिन्हें रोकने को लेकर बल प्रयोग किया गया।

रीवा के चाकघाट क्षेत्र में हजारों की संख्‍या में प्रवासी मजदूर बेकाबू हो गए और उन्‍होंने दोनों राज्‍यों ( उत्‍तर प्रदेश और मध्‍य प्रदेश) के बॉर्डर पर लगे बैरिकेड तोड़कर उत्‍तर प्रदेश की सीमा में जबरदस्‍ती प्रवेश कर लिया।

No comments:

Post a comment

Latest Post

छतरपुर: कृषि बिलों के विरोध में कांग्रेस का हल्ला बोल, अजय सिंह नें कहा- भाजपा के रहते किसान, गरीब और पिछड़ों की नहीं होगी सुनवाई।

बैलट पेपर से आज यदि चुनाव को जाये तो भाजपा साफ हो जाएगी: अजय सिंह। ईस्ट इंडिया कंपनी की तरह अब भारतीय कंपनियाँ देश को दोबारा गुलाम बना रही ह...