Saturday, 23 May 2020

शोभा ओझा को उच्च न्यायालय से बड़ी राहत, आगामी ​आदेश तक MP महिला आयोग की अध्यक्ष बनीं रहेंगी।


जबलपुर: मध्यप्रदेश की राजनीति में अभी भी उठा-पटक जारी है। कांग्रेस से सिंधिया सहित उनके समर्थक 22 विधायकों के बगावत करनें के बाद कमलनाथ सरकार का अंत हो गया था। जिसके बाद शिवराज सिंह चौहान एक बार फिर मध्यप्रदेश की मुख्यमंत्री की कुर्सी पर विराजमान हो गये थे। साथ ही सत्ता में वापस आते ही शिवराज सरकार ने, कांग्रेस की शोभा ओझा को महिला आयोग की अध्यक्ष पद के आदेश को निरस्त कर दिया था।



जिसके बाद शुक्रवार को जबलपुर उच्च न्यायालय नें शोभा ओझा को राहत देते हुए अध्य्क्ष पद पर बने रहने का फैसला सुनाया है। वहीं कोर्ट ने ये भी कहा है कि आगामी ​आदेश तक शोभा ओझा मध्यप्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष रहेंगी। अब मामले कि अगली सुनवाई दो हफ्ते बाद होगी।



शिवराज सरकार के द्वारा शोभा ओझा को महिला आयोग के पद से हटाए जाने के बाद उन्होंने हाई कोर्ट में याचिका डाली थी जिसपर शुक्रवार को सुनवाई करते हुए कोर्ट ने विस्तृत आदेश जारी किया है। जारी आदेश के अनुसार शोभा ओझा को होई कोर्ट ने आगामी ​आदेश तक मध्यप्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष बने रहने कि बात कही गयी है। कोर्ट ने आदेश में कहा है कि शोभा ओझा को पद से हटाने के वक्त से यथास्थिति मानी जाए। वहीं इस मामले में अगली सुनवाई दो हफ्ते बाद की जाएगी।



गौरतलब है कि सियासी हलचल के बीच कमलनाथ सरकार द्वारा की गई ताबड़तोड़ नियुक्तियों को शिवराज रद्द कर दिया था। सरकार गिरने से एक हफ्ते पहले ही ये नियुक्तियां की गयी थीं लेकिन बीजेपी की सत्ता में आते ही मुख्यमंत्री शिवराज ने नियुक्तियों को रद्द कर दिया था।हालांकि यह मामला कोर्ट मे भी चल रहा था। राज्य महिला आयोग अध्यक्ष शोभा ओझा की नियुक्ति तत्काल प्रभाव से रद्द कर दी गई हैं। जिसके बाद शोभा ओझा ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कि थी।

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: बुधवार को मिले 41 कोरोना पॉजिटिव मरीजों का, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने दिया विवरण।

सहयोग से सुरक्षा अभियान में किया नोडल अधिकारियों को तैनात। सीधी: मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एल. मिश्रा द्वारा ब...