Sunday, 31 May 2020

MP उपचुनाव: अब कांग्रेस दलबदलू नेताओं के सहारे, प्रेमचंद गुड्डू की कांग्रेस में हुई "घर वापसी"।


भोपाल: मध्यप्रदेश में होनें वाले विधानसभा उपचुनावों के लिये अब कांग्रेस नें भी अपनी तैयारियां तेज कर दी है। कांग्रेस अब दलबदलू नेताओं के जरिए उपचुनाव की जंग जीतना चाह रही है। अब इसी कड़ी में, अभी कुछ दिन पहले ही भाजपा से निष्काषित किये गये प्रेमचंद गुड्डू एवं उनके बेटे अजीत बौरासी वापस कांग्रेस में शामिल हो गए है।



प्रेमचंद गुड्डू को पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति, पूर्व मंत्री पीसी शर्मा सहित रामनिवास रावत और कई नेताओं की मौजूदगी मे सदस्यता दिलवाई गई।इसके पहले वे पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ से मिले। इस दौरान पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के साथ कांग्रेस के अन्य नेता वहां मौजूद रहे।



गौरतलब है की, प्रेमचंद गुड्डू कभी कांग्रेस के दमदार नेता हुआ करते थे, लेकिन 2018 के विधानसभा चुनाव के पहले उन्होने भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली थी। आज एक बार फिर कांग्रेस की सदस्यता लेने के बाद गुड्डू ने कहा कि, आज मैं मानसिक रूप से अच्छा महसूस कर रहा हूं। जब मैं बीजेपी में गया ऐसी कोई रात नही थी जिसमे मुझे चैन से नींद आई हो। गुड्डू ने कांग्रेस छोड़ने का वजह ज्योतिरादित्य सिंधिया को बताया। उन्होंने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया की प्रताड़ना से मैंने काँग्रेस छोड़ी थी। उज्जैन का सांसद रहते हुए सिंधिया ने मेरा कोई काम नही होने दिए थे जिस कारण मुझे कांग्रेस छोड़नी पड़ी थी।



दरअसल, पिछले कुछ समय से ही प्रेमचंद गुड्डू की वापसी की चर्चा चल रही थी। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह से उनकी मुलाक़ात के बाद से ही माना जा रहा था कि जल्द ही गुड्डू कांग्रेस में वापस आ जायेंगे। इसी बीच यह तब और भी साफ हो गया था, जब प्रेमचंद गुड्डू नें सिंधिया एवं तुलसी सिलावट पर जमकर हमला बोला था, और कहा था की वो फरवरी में ही भाजपा से इस्तीफ़ा दे चुके हैं, हला कि इसको बीजेपी ने भी गंभीरता से लिया और उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया था।



अब यह देखना दिलचस्प होगा की ये दलबदलू जो कभी कांग्रेस को गच्चा देकर भाजपा के गोद में बैठ गये थे, अब फिर कांग्रेस में आकर आनें वाले विधानसभा उपचुनावों में क्या कांग्रेस के लिये संजीवनी बन सकेंगें। क्योकी दलबदलुओं को लेकर कांग्रेस में भी काफी अंतर्विरोध है। यहां तक की कई नेता गुड्डू की कांग्रेस वापसी के फेवर में नही थे। वही अब माना जा रहा है की, कांग्रेस उन्हें उपचुनाव में सांवेर से तुलसी सिलावट के खिलाफ उतार सकती है। प्रेमचंद गुड्डू दिग्गज नेताओं में गिने जाते है। वे इंदौर के सांवेर और आलोट से दो बार विधायक रहे हैं। वे उज्जैन संसदीय सीट से एक बार सांसद भी रह चुकें है।



देखिये वीडियो: प्रेमचंद गुड्डू नें क्या कहा।

No comments:

Post a comment

Latest Post

MP उपचुनाव: कमलनाथ का स्टार प्रचारक का दर्जा छिना, जानिए आगे क्या होगा।

भोपाल: मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर होनें वाले उपचुनावों को लेकर  चुनाव आयोग नें मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर बड़ी कार्यवाही की ह...