Saturday, 23 May 2020

MP की "बंगला पोलिटिक्स" में नया मोड़: कांग्रेस के विरोध के बाद पूर्व मंत्री तरुण भनोट को वापस मिला बंगला।


भोपाल: मध्य प्रदेश में जहां एक तरफ कोरोना का संकट जारी है, तो दूसरी ओर कमलनाथ सरकार में मंत्री रहें विधायकोंं से बंगले खाली करवानें के नोटिस के बीच बंगला पॉलिटिक्स भी जारी है। इसी कड़ी में पिछले दिनों पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोट का बँगला सील कर दिया गया था लेकिन शुक्रवार को इस मामले नया मोड़ आ गया और भनोट के सरकारी आवास की सील संपदा संचालनालय ने खोल दी, साथ ही उनके स्टाफ को बुलाकर सुपुर्द कर दिया।



क्या है मामला।
कांग्रेस के 23 विधायकों को सरकारी बंगला खाली करने का नोटिस संपदा संचालनालय ने कुछ दिन पहले दिया था। लेकिन विधायकों ने न तो बंगले खाली किए और न नोटिस का जवाब दिया। ऐसे में बुधवार को संपदा के अफसरों ने विधायक तरुण भनोट के सरकारी बंगले को सील कर दिया था। मामले को लेकर जमकर बवाल शुरू हो गया था।



पूर्व मंत्री तरुण भनोट सहित इस मामले पर कांग्रेस नेताओं ने आपत्ति जताई थी। पूर्व मंत्री नें कहा था की, कोरोना की वजह से पूरे देश में लॉक डाउन है, ऐसे में मै कैसे अपना सामान शिफ्ट करूं, साथ उन्होनें कहा था की एक विधायक होनें के नाते उन्हें दूसरा आवास दिया जाय। तरुण भनोट के अलावा इस मसले पर राज्य सभा सांसद विवेक तनखा, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह एवं पूर्व मंत्री जीतू पटवारी नें भी कड़ी प्रतिक्रिया देते हुये भाजपा पर बदले की राजनीति करनें का आरोप लगाया था।



कांग्रेस द्वारा विरोध किये जानें पर,  शुक्रवार को भनोट के सरकारी आवास की सील संपदा संचालनालय ने खोल दी।शुक्रवार देर शाम तहसीलदार ने सील खोलकर बंगला वापस भनोट के स्टाफ को बुलाकर सुपुर्द किया। साथ ही सुपुर्दनामा भी बनाकर दिया। भनोट का बंगला भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा को अलॉट भी हो गया था।

No comments:

Post a comment

Latest Post

MP उपचुनाव: कमलनाथ का स्टार प्रचारक का दर्जा छिना, जानिए आगे क्या होगा।

भोपाल: मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर होनें वाले उपचुनावों को लेकर  चुनाव आयोग नें मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर बड़ी कार्यवाही की ह...