Saturday, 30 May 2020

पत्रकारिता लोकतंत्र का आधार स्तंभ, स्वतन्त्रता संग्राम में और आजादी के बाद देश निर्माण में हिन्दी पत्रकारिता का अभूतपूर्व योगदान: अजय सिंह।


भोपाल : मध्य प्रदेश विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने हिन्दी पत्रकारिता दिवस पर सभी पत्रकारों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा है कि स्वतन्त्रता संग्राम में और आजादी के बाद देश व समाज निर्माण में हिन्दी पत्रकारिता का अभूतपूर्व योगदान रहा है। आज ही के दिन हिंदी भाषा में 'उदन्त मार्तण्ड' के नाम से पहला समाचार पत्र 30 मई 1826 को निकाला गया था। इसलिए इस दिन को हिंदी पत्रकारिता दिवस के रूप में मनाया जाता है।

पंडित जुगल किशोर शुक्ल ने इसे कलकत्ता से एक साप्ताहिक समाचार पत्र के तौर पर शुरू किया था। पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल ने आगे कहा है कि पत्रकारिता लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है और आजादी के बाद भी पत्रकारिता ने देश में लोकतंत्र को बचाए रखने के लिए बखूबी अपनी भूमिका का निर्वहन किया है ।

वर्तमान समय में देश के सामने जो भी चुनौतियां हैं उन चुनौतियों को शासन प्रशासन के सामने उजागर करने में हिंदी पत्रकारिता की महत्वपूर्ण भूमिका है । आज पूरे देश में जब गरीबों असहाय को न्याय नहीं मिल पाता है ऐसी परिस्थितियों में एक सजग पत्रकार जब अपने उत्तरदायित्व का ईमानदारी से निर्वहन करते हुए काम करता है तो वह समाज में आदर और प्रतिष्ठा का प्रतीक बन जाता है।

आज भी समाचार पत्र को जो सम्मान हासिल है उसे यह सम्मान दिलाने में लाखों लाख पत्रकार बंधुओं का श्रम और उनका काम करने का जज्बा बहुत बड़ी भूमिका का निर्वहन करता है । देश में पत्रकारिता के जो भी शिक्षण संस्थान हैं उन्हें और अधिक मजबूत करने एवं छात्रों को पत्रकारिता की ओर आकर्षित किए जाने की आवश्यकता है जिससे पत्रकार बंधु और अधिक दक्षता से परिपूर्ण होकर कार्य कर सकें। हिंदी पत्रकारिता दिवस के इस अवसर पर एक बार पुनः सभी पत्रकार बंधुओं को बहुत बहुत शुभ शुभकामनाएं।

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: कोरोना पॉजिटिव नाई के संपर्क में आए लोग हो जाएं सावधान, जिला कंट्रोल रूम में तत्काल दें अपनी जानकारी।

बाल साज- सज्जा  ब्यूटी पार्लर आदि व्यापार से जुड़े नाई समाज के लोगों के लिए कोविड-19 सैम्पलिंग की व्यवस्था। हेयर कटिंग सैलून एवं ब्य...