Tuesday, 26 May 2020

मंत्री के बिगड़े बोल, कहा- व्यापारियों को परेशान करने वाले अधिकारियों को उल्टा लटका देंगें।


हरदा: मध्यप्रदेश में जहां एक तरफ कोरोना का संकट जारी है, तो वहीं दूसरी ओर राजनीति सरगर्मियां भी बढ़ी हुई हैं। एक तरफ आनें वाले 24 विधानसभा सीटों के उपचुनाव को लेकर दोनों ही मुख्य पार्टियों के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर चालू है तो दूसरी ओर शिवराज सिंह चौहान सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें भी तेज है। लेकिन इसी बीच मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल का एक विवादित बयान सामनें आया है। जिसमें वो सख्त लहजे में कहते हुये दिख रहें हैं कि, ईमानदार व्यापारियों को परेशान करने वाले अधिकारियों को उल्टा लटका देंगे। साथ ही साथ उन्होने उन व्यापारियों और उद्योगपतियों को भी यहीं चेतावनी दी है कि अगर किसानों के साथ छल किया तो उनके साथ भी यही रवैया अपनाया जाएगा।



कृषि मंत्री कमल पटेल के तेवर मंत्री बनने के बाद से ही सख्त नजर आ रहे हैं। अधिकारियों के साथ पहली ही बैठक में उन्होंने अवैध उत्खनन को लेकर सख्त चेतावनी दी थी और अधिकारियों से कहा था कि नर्मदा से अवैध खनन कराने वालों पर हत्या का मामला दर्ज किया जाए क्योंकि सरकार 2017 में नर्मदा को जीवित इकाई मान चुकी है।

कृषि मंत्री हरदा सर्किट हाउस में पत्रकारों से बात कर रहे थे। यहां उन्होने कहा कि ईमानदार व्यापारी को परेशान करने वाले अधिकारी को वो उल्टा लटका देंगे। नकली खाद के मुद्दे पर बोलते हुए उन्होने कहा कि कांग्रेस ने खाद की 20 हजार सैंपलिंग करवाई थी और सेटिंग कर सैंपलिंग पास करवायी गई। जिन्होंने पैसे नही दिए उनके सैंपल फैल कर दिए गए। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को इस मामले की रिपोर्ट पेश करने को कहा है और बताया कि वो जल्द ही इस रिपोर्ट को सार्वजनिक करेंगे।

कमल पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री का का सपना है किसानों की आय दुगुना करने का और इसी उद्देश्य को लेकर मैंने मंत्रीपद संभालते ही छापे डलवाने शुरू करवाए। कृषि मंत्री ने सख्त लहजे में कहा कि हम न खाएंगे न अधिकारियों को खाने देंगे। हम सुशासन देंगे और किसी भी व्यापारी को परेशान किया गया तो अधिकारी को उल्टा लटका देंगे। इसी के साथ अगर किसी इमानदार किसान के साथ व्यापारी या उद्योगपति ने छल किया तो उसे भी उलटा लटका दिया जाएगा।

देखें वीडियो👇

No comments:

Post a comment

Latest Post

इतिहास में पहली बार किसी प्रदेश में लोभ और महत्वाकांक्षा के कारण, थोक के भाव थोपे गए उपचुनाव: अजय।

भोपाल: पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि इतिहास में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में यदि कहीं उपचुनाव हो रहे हैं तो वह है - मध्यप्रदेश...