Wednesday, 13 May 2020

विंध्य में कोरोना का ग्राफ बढ़ता हुआ: सतना में दो और मिले कोरोना पॉजिटिव।


सतना: देश के साथ साथ मध्यप्रदेश में भी कोरोना का कहर जारी है। अगर बात मध्यप्रदेश के विंध्य क्षेत्र की करें तो अब यहां भी कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बढ़नें लगा है। बीते दिन सीधी जिले में एक कोरोना पॉजिटिव मिलनें के बाद अब सतना में दो और पॉजिटिव केस मिले है। सतना में अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 7 हो गयी है। विंध्य में अब तक कोरोना सतना, रीवा, शहडोल, अनूपपुर एवं सीधी में दस्तक दे चुका है।

सतना में दो और लोंगों की रिपोर्ट आयी कोरोना पॉजिटिव।
सतना में मंगलवार देर रात दो और लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।  एक व्यक्ति रामनगर के मसमासी का रहने वाला है तो दूसरा मैहर के गौरैया कला का है। मसमासी वाला व्यक्ति, पहले ही से कोरोना पॉजिटिव पाये गये मरीज रंजीत के संपर्क में था, तो वहीं गौरैया का युवक मुम्बई से लौटा था। दोनों को पहले ही क्वारंटीन कर दिया गया था।

दो में से एक पॉजिटिव सागर से आया था।
रामनगर के मसमासी का रहने वाला कोदूलाल विश्वकर्मा (60), मध्यप्रदेश के सागर जिले में चौकीदारी करता था। वह सूरत से श्रमिकों को सतना लेकर आ रही बस में बैठकर सतना पहुंचा था। कोदूलाल सागर से बस में सवार हुआ था। इसी बस में कोरोना पॉजिटिव पाए गए रैकवार निवासी रंजीत पटेल और भीष्मपुर निवासी हेतराम पटेल भी सवार थे। कोदूलाल अमरपाटन पहुंचने के बाद अपने गांव मसमासी स्थित घर चला गया था।

कोदूलाल नें अधिकारियों को बताया कि वह घर में किसी के भी संपर्क में नहीं था। हालांकि रंजीत की कांटेक्ट ट्रेसिंग लिस्ट में कोदूलाल का नाम पहले ही सामने आया था। इसके बाद कोदूलाल को शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय रामनगर में क्वारंटीन कर दिया गया था। उसका सैंपल लेकर जांच के लिए मेडिकल कॉलेज रीवा भेजा गया था।

दूसरा पॉजिटिव मुंबई से आया था।
मैहर के गौरैया कला निवासी ४० वर्षीय हंसराज साकेत अपने दो अन्य दोस्तों के साथ मुंबई से मैहर के लिए पैदल ही रवाना हुआ। कुछ देर बाद इन्हें ट्रक मिल गया। उसमें सवार होकर कुछ दूर तक पहुंचे। इस तरह पैदल और अन्य वाहनों में लिफ्ट लेकर बुरहानपुर तक पहुंचे। बुरहानपुर से बस में सवार होकर ९ मई को मैहर पहुंचे। प्रशासन द्वारा तीनों युवकों को सरला नगर मैहर के बारात घर में क्वारंटीन कर दिया गया। हॉट स्पॉट से लौटने के कारण चिकित्सकों द्वारा ११ मई को हंसराज का एहतियातन सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया था। मंगलवार देर रात हंसराज की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। 

पहले पॉजिटिव कोदूलाल के बयान से प्रशासन हैरत में।
कोदूलाल की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य अधिकारी कांटेक्ट और ट्रेवल हिस्ट्री खंगालने मसमासी निवासी कोदूलाल के पास क्वारंटीन सेंटर पहुंचे। कोदू के यह कहते ही स्वास्थ्य अधिकारी हैरत में आ गए कि वह किसी रंजीत पटेल, हेतराम पटेल को नहीं जानता है। न ही उनके साथ अमरपाटन तक आया है। वह प्राइवेट बस में सागर से बैठा था।

कोदूलाल के अनुसार उसके साथ ब्यौहारी का एक व्यक्ति बैठा था, प्रशासन ब्यौहारी वाले व्यक्ति के तलाश में जुटा।
कोदूलाल नें बताया की, उसके साथ ब्यौहारी का एक व्यक्ति बैठा था। जो कटनी चेकपोस्ट पर उतर गया था। इसके बाद वह अपनी सीट पर अकेला बैठकर अमरपाटन तक आया। अमरपाटन से ऑटो में बैठकर वह रामनगर तक पहुंचा। उसके साथ ऑटो में एक व्यक्ति और बैठा था जो कि जिगना जाने की बात कर रहा था। इसके बाद वह रामनगर से मसमासी तक पैदल आया। प्रशासन अब जिगना और ब्यौहारी के उस व्यक्ति की तलाश में जुट गया है।

अब यहां सवाल यह उठ रहा की आखिर संक्रमण को फैलनें से कैसे रोका जाय। रोजाना अन्य राज्यों से मजदूर मध्यप्रदेश लायें जा रहें। जिनका तापमान स्क्रीनिंग कर उन्हें क्वारंटीन या तो होम क्वारंटीन किया जा रहा। अब कौन कितना और किस तरीके से होम क्वारंटीन के नियमों का पालन कर रहा ये भी समझनें की आवश्यकता है। साथ ही कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अन्य राज्यों से चोरी छुपे आ रहें है जिनका कोई प्रशासनिक रिकॉर्ड नही रहता, अब इनको ट्रैक करना और भी मुश्किल है। असल में देखा जाय तो विंध्य में अब खतरा बढ़ा है। ऐसे में जागरुक जनता की यह जबाबदेही है की प्रशासन का सहयोग करें और नियमों का पालन करें।

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: कोरोना का कहर जारी, जिले में मिले 18 नए कोरोना संक्रमित।

26 व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग। कुल संक्रमित 814 डिस्चार्ज 573 एक्टिव केस 238 मृत्यु 3 सीधी: जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ० नागेंद्र बिहारी ...