Sunday, 24 May 2020

रीवा: खराब कोरोना जांच मशीन को हटाकर नयी मशीन लगायी गयी, 80 सैंपलों की जांच भी हुई।


रीवा: देश के साथ साथ मध्यप्रदेश में भी कोरोना का कहर जारी है। अगर बात मध्यप्रदेश के विंध्य क्षेत्र की करें तो यहां भी कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या रोजाना बढ़ती जा रही है। साथ ही विंध्य क्षेत्र में रोजाना प्रवासी मजदूरों की घर वापसी हो रही है। ऐसे में शुरुआती स्क्रीनिंग में जिन लोंगों में कोरोना जैसे लक्षण दिखतें हैं उनकी कोरोना जांच करवाना आवश्यक हो जाता है।

लेकिन रीवा स्थित कोरोना टेस्टिंग लैब की मशीन काफी समय से खराब चल रही थी। बता दें  की, रीवा एवं शहडोल संभाग इसी लैब पे निर्भर था। लेकिन  रीवा की मशीन खराब होने के कारण यहां के सभी सैंपल जबलपुर भेजे जा रहे थे। जिससे रिपोर्ट आनें में देरी का सामना करना पड़ता था। इसी बीच अब राहत भरी खबर है, संजय गांधी अस्पताल, रीवा में लगी कोरोना जांच मशीन की खराबी न दूर होने पर अंतत: उसकी जगह नई मशीन को शिफ्ट किया गया और कोरोना सेंपल जांच प्रक्रिया शुरू हो गई।

शनिवार को भोपाल से रीवा आये इंजीनियर एवं टेक्निशन ने पुरानी मशीन को हटाकर उसकी जगह नई मशीन को शिफ्ट किया और इंस्टालेशन की प्रक्रिया को पूर्ण किया। तत्पश्चात शनिवार दोपहर से ही सेंपलों की जांच प्रक्रिया शुरू हो गई। इसकी जानकारी लगते ही मेडिकल कालेज प्रबंधन के साथ ही प्रशासनिक अमले को भी राहत मिली है।

गौरतलब है कि, वायरोलॉजी लैब की मशीन कई दिनों से बार-बार खराब हो रही थी, जिससे सेंपलों की जांच प्रभावित हो रही थी। 80 सेंपलों की हुई जांच मेडिकल कालेज की वायरोलॉजी लैब मशीन में दोपहर से ही जांच प्रक्रिया शुरू हो गई। कुल 110 सेंपलों में से 80 की जांच होने की जानकारी प्राप्त हुई है। वहीं कालेज के जिम्मेदारों का कहना है कि नई मशीन आ जाने से सेंपल जांच प्रक्रिया आसान हो जायेगी।

No comments:

Post a comment

Latest Post

इतिहास में पहली बार किसी प्रदेश में लोभ और महत्वाकांक्षा के कारण, थोक के भाव थोपे गए उपचुनाव: अजय।

भोपाल: पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि इतिहास में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में यदि कहीं उपचुनाव हो रहे हैं तो वह है - मध्यप्रदेश...