Friday, 15 May 2020

सीधी: अन्य प्रदेशों से श्रमिकों की वापसी का सिलसिला जारी, अब तक 7 हजार 3 सौ से अधिक श्रमिक आए वापस।


सीधी: मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की मंशानुसार अन्य प्रदेशों में फंसे श्रमिकों की वापसी का सिलसिला जारी है। शासन के निर्देशानुसार जिला प्रशासन की सक्रियता से सीधी जिले के अब तक 7 हजार 3 सौ से अधिक श्रमिक वापस आ चुके हैं तथा यह प्रक्रिया निरंतर चल रही है। जिला प्रशासन द्वारा भोज्य पदार्थों की व्यवस्था और स्वास्थ्य परीक्षण के बाद श्रमिकों को वाहनों के माध्यम से उनके गंतव्य स्थलों तक पहुँचाया जा रहा है। 

जिला प्रशासन द्वारा सतत रूप से कार्य करते हुए श्रमिकों को राहत प्रदान किया जा रहा है। स्वास्थ्य परीक्षण में पूर्णरुपेण स्वस्थ पाए जाने पर श्रमिकों को 14 दिवस के लिए होम क्वारेंटाईन किया जा रहा है, जबकि कोरोना संक्रमण की संभावना होने पर उन्हें संस्थागत क्वारेंटाईन सेंटरों में रखा जा रहा है। 

जिला परिवहन अधिकारी कृतिका मोहटा ने बताया कि मध्यप्रदेश का झाबुआ जिला गुजरात राज्य की सीमा से लगता है। वहाँ से कुल 2020 व्यक्तियों को 35 बसों के द्वारा सीधी जिले में लाया गया है। इसके अतिरिक्त झाबुआ जिलें से लगभग 40 बसें सीधी हेतु भेजी गई जिसमें लगभग 2000 श्रमिक गुजरात से सीधी आये। इस प्रकार गुजरात से सीधी आयें व्यक्तियों की संख्या 4020 है।

इसी प्रकार राजस्थान राज्य से लगे नीमच जिले से 60 व्यक्तियों को 1 बस के द्वारा सीधी जिले में लाया गया है। महाराष्ट्र से लगे बड़वानी जिले से कुल 615 व्यक्तियों को 12 बसों द्वारा सीधी जिले में लाया गया है। हैदराबाद (तेलंगाना) से ट्रेन द्वारा 191 व्यक्ति कटनी पहुँचें जिन्हे 5 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। पनवेल (महाराष्ट्र) से ट्रेन द्वारा 128 व्यक्ति रीवा पहुँचे जिन्हे 4 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। कोछीकोण (केरला) से ट्रेन द्वारा 60 व्यक्ति विदिशा पहुंचे जिन्हे 2 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। 

अकोला (महाराष्ट्र) से ट्रेन द्वारा 79 व्यक्ति जबलपुर पहुॅचें, जिन्हे 2 बसों लाया गया है। पूने उरली (महाराष्ट्र) से ट्रेन द्वारा 59 व्यक्ति रीवा पहुंचे जिन्हे 2 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। केरल से ट्रेन द्वारा 260 व्यक्ति विदिशा पहुँचे जिन्हे 08 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। कोल्हापुर (महाराष्ट्र) से ट्रेन द्वारा 117 व्यक्ति जबलपुर पहुँचे जिन्हे 03 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। पूने (महाराष्ट्र) से ट्रेन द्वारा 80 व्यक्ति जबलपुर पहुंचे जिन्हे 03 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। थाने (महाराष्ट्र) से ट्रेन द्वारा 230 व्यक्ति रीवा पहुंचे जिन्हे 08 बसों द्वारा सीधी लाया गया है।

राजकोट (गुजरात) से ट्रेन द्वारा 63 व्यक्ति सतना पहुँचे जिन्हे 02 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। पनवेल (महाराष्ट्र) से ट्रेन द्वारा 188 व्यक्ति रीवा पहुँचे जिन्हे 6 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। सतारा (महाराष्ट्र) से ट्रेन द्वारा 56 व्यक्ति रीवा पहुँचे जिन्हे 2 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। भरुच (गुजरात) से ट्रेन द्वारा 281 व्यक्ति रीवा पहुँचे जिन्हे 9 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। पनवेल (महाराष्ट्र) से ट्रेन द्वारा 88 व्यक्ति रीवा पहुँचे जिन्हे 2 बसों द्वारा सीधी लाया गया है।

नासिक (महाराष्ट्र) से ट्रेन द्वारा 215 व्यक्ति रीवा पहुँचे जिन्हे 8 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। वापी (गुजरात) से ट्रेन द्वारा 93 व्यक्ति रीवा पहुँचे जिन्हे 3 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। बेंगलुरु (कर्नाटक) से ट्रेन द्वारा 100 व्यक्ति सतना पहुँचे जिन्हे 3 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। पुणे (महाराष्ट्र) से ट्रेन द्वारा 140 व्यक्ति रीवा पहुँचे जिन्हे 5 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। संगली मिराज से ट्रेन द्वारा 53 व्यक्ति रीवा पहुँचे जिन्हे 2 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। जबलपुर, कटनी एवं सतना में फँसे 128 व्यक्तियों को 03 बसों द्वारा सीधी लाया गया है। इस प्रकार 149 बसों के माध्यम से 7 हजार 304 व्यक्ति जिले में वापस आ चुके हैं और यह प्रक्रिया सतत रूप से जारी है।

No comments:

Post a comment

Latest Post

बिहार News: JDU में शामिल हुए पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय, CM नीतीश कुमार ने दिलाई सदस्यता।

बिहार: पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने आज जनता दल यूनाइटेड (JDU) की सदस्यता ग्रहण कर ली। पटना में मुख्यमंत्री आवास में सीएम नीतीश कुमार न...