Wednesday, 22 April 2020

शिवराज कैबिनेट के मंत्रियों के विभागों का बंटवारा, सिंधिया समर्थक तुलसी सिलावट को नही मिला स्वास्थ्य मंत्रालय।


भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपनें मंत्रिमंडल के गठन के बाद अब पांचों मंत्रियों के विभगों का बंटवारा भी कर दिया है। नरोत्तम मिश्रा को गृह और स्वास्थ्य विभाग, तुलसी सिलावट को जल संसाधन विभाग,  गोविंद सिंह राजपूत को खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग, मीना सिंह को आदिवासी कल्याण विभाग एवं कमल पटेल को कृषि विभाग दिया गया। शिवराज इस संबंध में राज्यपाल लालजी टंडन के पास लिस्ट लेकर पहुंचे थे, जहां राज्यपाल से चर्चा के बाद उन्होंने सभी पांचों मंत्रियों को विभागों की जिम्मेदारी सौंपी।



सिंधिया समर्थक तुलसी सिलावट को नही मिला स्वास्थ्य विभाग।
मंत्रियों के विभगों के बंटवारें में सबसे दिलचस्प बात यह रही की, कमलनाथ सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रहे तुलसी सिलावट को स्वास्थ्य विभाग नही दिया गया। साथ ही दूसरे सिंधिया समर्थक गोविंद सिंह राजपूत का भी विभाग बदल दिया गया। वो कमलनाथ सरकार में परिवहन मंत्री थे। भाजपा के नरोत्तम मिश्रा को दो बडे विभागों की जिम्मेदारी दी गई है।



मंत्रियों के संभागों की जिम्मेदारी पहले ही बांट दी गई थी।
इसके पहले मंत्रियों को संभागों की जिम्मेदारी दी गई थी। जिसमें कैबिनेट मंत्री नरोत्तम को भोपाल-उज्जैन संभाग, तुलसी सिलावट को इन्दौर-सागर, गोविन्द राजपूत को चंबल-ग्वालियर ,मीना सिंह को रीवा-शहडोल और कमल पटेल को होशंगाबाद-नर्मदा पुरम संभाग का जिम्मा सौंपा गया था।ये सब डिविजनल कमिश्नर, आईजी एसपी कलेक्टर स्वास्थ्य विभाग के साथ स्थानीय स्तर पर कोआर्डिनेशन करेंगे। जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद और बैठ के जनता से फीडबैक लेंगे। इतना ही नही समय समय पर अधिकारियों को निर्देशित भी करेंगे।इसके अलावा जहां जहां निर्माण कार्य शुरू होंगे और खासकर कृषि से संबंधित काम पर फोकस करेंगे।



गौरतलब है कि, मंगलवार सुबह राजभवन में पांच मंत्रियों को शपथ दिलाई गई, जिसमें भाजपा के वरिष्ठ विधायक नरोत्तम मिश्रा, कमल पटेल और मीना सिंह मंत्री बने। वहीं, ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थकों मे से तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई। लेकिन किसी भी मंत्री में विभागों का बंटवारा नही किया गया था। जिसे लेकर  विपक्ष सवाल खड़े कर रहा था। पूर्व मुख्यमंत्री ने तो यहां तक कह दिया था कि एक माह बाद मंत्रिमंडल का गठन वो भी सिर्फ 5 मंत्री, कोई विभाग का बंटवारा नहीं। इसी से समझा जा सकता है कि भाजपा में कितनी अंतर्कलह चल रही है।


No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: कोरोना का कहर जारी, मिले 24 नए कोरोना संक्रमित केस।

10 व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग। कुल संक्रमित 717 डिस्चार्ज 531 एक्टिव केस 183 मृत्यु 3 सीधी : जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ० नागेंद्र बिहारी ...