Thursday, 9 April 2020

VIDEO: राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन भोपाल के कोरोना पॉजिटिव कर्मचारी की पत्नी का आरोप, कहा- उनके पति का नही किया जा रहा इलाज। जीतू पटवारी नें वीडियो शेयर कर, सीएम शिवराज सिंह को घेरा।


भोपाल: देश के साथ साथ मध्यप्रदेश में भी कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। मध्यप्रदेश में सबसे जादा संक्रमण इंदौर एवं भोपाल में दिख रहा है, जहां रोजाना कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। इसी बीच मध्यप्रदेश कांग्रेस तथा कांग्रेस नेता एवं पूर्व मंत्री जीतू पटवारी नें राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन भोपाल में आईटी सलाहकार राजकुमार पांडेय (जो की कोरोना पॉजिटिव हैं) की पत्नी प्रीति पांडे का वीडियो शेयर कर शिवराज सरकार को कटघरे में खड़ा किया है।

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी का ट्वीट: 


मध्यप्रदेश कांग्रेस का ट्वीट:



राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन भोपाल में आईटी सलाहकार राजकुमार पांडे कोरोना पाजिटिव हैं। उनकी पत्नी प्रीति पांडे ने आरोप लगाया है कि पति को एम्स में भर्ती तो किया गया, लेकिन इलाज नहीं हो रहा है। प्रीति, वीडियो में कहती दिख रही हैं की,  ज्यादातर डाक्टर छुट्टी पर हैं। 2 दिन से पति को देखने कोई नहीं आया। खाना-पीना भी नही मिल रहा है। अभी तक एक बार भी विटामिन सी का डोज नहीं दिया। पति सभी से गुहार लगा चुके हैं कि उन्हें चिरायु में शिफ्ट किया जाए पर सुनवाई हीं हो रही है। प्रीति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री सेण शिवराज सिंह चौहान से मांग की है कि वे पति के बेहतर इलाग के निर्देश दें।



प्रीति ने अपने वीडियो में कहा है कि मेरा नाम प्रीति पांडे है, मेरे पति का नाम राजकुमार पांडे है, हम लोग शिव लोक 3 खजूरी कलां, भोपाल में रहते हैं। मेरे पति राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन राज्य कार्यालय भोपाल में आईटी सलाहकार के पद पर कार्यरत हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा बुलाई गई बैठक में भाग लेने मेरे पति गए हुए थे जहां से वह कोरोना से इनफेक्टेड हो गए। उन्होंने जांच कराई पॉजिटिव होने पर एम्स भोपाल में में भर्ती हो गए 2 दिन से वहां उनका कोई उपचार नहीं हो रहा है। एम्स के ज्यादातर डॉक्टर छुट्टी पर हैं। 2 दिन में उन्हें कोई देखने नहीं आया सिर्फ आइसोलेशन के नाम पर वहां डाल रखा है। दवाईयों के नाम पर सिट्रीजीन एवं पैरासिटामोल ही दिया जा रहा है।



प्रीती ने बताया है कि वहां उनको खाना पीना भी नहीं मिल रहा है। प्रसाशन की गाइडलाइन के अनुसार उनका कोई उपचार नहीं किया जा रहा है। 3 दिन में अभी तक एक बार भी विटामिन-सी का डोज नहीं दिया गया है। उपचार के नाम पर केवल दो टेबलेट दी गई हैं। रिपोर्ट पॉजिटिव है, इलाज शुरू ही नहीं हुआ है, यह बहुत चिंता की बात है। दो दिन से सभी से गुहार लगा चुके हैं, लेकिन उन्हें एम्स से हटाकर भोपाल के चिरायु हॉस्पिटल में शिफ्ट करवा दिया जाए, लेकिन कोई भी सुनने को तैयार नहीं है।



प्रीति ने कहा है कि लापरवाही की हद देखिए कि मैं मेरे ढाई साल के बच्चे के साथ 3 दिन से घर में बंद हूं । अभी तक कोई न तो हमारा सैंपल लेने आया, न ही हमारे घर को सैनिटाइज किया गया। सैनिटाइजेशन व सतर्कता के लिए स्वास्थ्य विभाग या नगर निगम द्वारा कोई कदम नहीं उठाया गया यह वीडियो में सोशल मीडिया के माध्यम से आप सब लोगों तक पहुंचा रही हूं।

प्रीती पांडेय नें क्या कहा, देखिये वीडियो 👇


No comments:

Post a comment

Latest Post

अजय सिंह का कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संदेश, कहा- उपचुनाव में कांग्रेस को जिताने पूरी ताकत से जुट जायें।

भाजपा को सबक सिखाने का समय आ गया है: अजय सिंह। कांग्रेस की जीत से पूरे देश में सरकार गिराने- बनाने में सौदेबाजी के खिलाफ संदेश जायेगा: अजय स...