Tuesday, 14 April 2020

व्यापक विरोध के बाद अंततः रीवा से कोरोना संक्रमित कैदियों को भेजा गया भोपाल, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें इसे विंध्यवासियों की एकता एवं जागरुकता की जीत बताया। VIDEO



रीवा: व्यापक विरोध के बाद, अंततः भारी सुरक्षा के बीच रीवा से कोरोना संक्रमित कैदियों को भोपाल के लिये रवाना कर दिया गया। उन्हें अब भोपाल के चिरायु अस्पताल में भर्ती किया जायेगा। बता दें की, कुछ दिनों पहले इंदौर से रासुका के तहत कैदियों को सतना सेंट्रल जेल भेजा गया गया था। जहां जांच के बाद दो कैदी कोरोना पॉजिटिव निकले थे। बाद में दोनों कोरोना पॉजिटिव कैदियों को रीवा रेफर कर संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दोनों को अस्पताल के चौथी मंजिल पर कोरोना विशेष कॉरीडोर में रखा गया था। दोनों को कोरोना प्रोट्रोकॉल के तहत पुलिस की भारी सुरक्षा में एम्बुलेंस से रीवा लाया गया था।


विंध्यवासियों नें जताया था व्यापक विरोध।
इंदौर के दो कैदियों, जो की कोरोना पॉजिटिव निकलें थे, को सतना सेंट्रल जेल से होकर रीवा पहुंचनें पर विंध्य क्षेत्र की जनता नें कड़ा विरोध किया था। जैसी ही यह खबर आई की इंदौर से सतना सेंट्रल जेल भेजे गये दो कैदी कोरोना पॉजिटिव पाये गये है, सोशल मीडिया के जरिए लोंगों नें इसका विरोध करना चालू कर दिया था। उसके बाद जैसे ही यह खबर मिली की अब दोनों कैदियों को रीवा संजय गांधी हॉस्पिटल में शिफ्ट किया जा रहा है, विरोध और भी तेज हो गया था। सोशल मीडिया के जरिए विंध्य क्षेत्र की जनता मांग की थी की, तत्काल दोनों कोरोना पॉजिटिव कैदियों को विंध्य से बाहर भेजा जाय।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें किया था कड़ा विरोध, एवं तत्काल कोरोना संक्रमितों को विंध्य से बाहर भेजनें की मांग की थी।
इंदौर से सतना आये रासुका के दो कैदियों के कोरोना पॉजीटिव निकलनें पर, विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। उन्होनें सीएम शिवराज सिंह चौहान को आड़े हाथों लेते हुये कहा था की " शिवराज जी कोरोना की रोकथाम कर रहे है या उसे प्रदेश व्यापी बनाने में लगे हैं। विंध्य क्षेत्र जो इस महामारी से अछूता है वहाँ  रासुका के कोरोना  पॉजिटिव भेजकर पूरे विंध्य की जनता की जान को खतरा  पैदा कर दिया है"। साथ ही उन्होनें कहा था की, तत्काल संक्रमित को विंध्य से बाहर भेजा जाए"।


अजय सिंह नें जैसे ही विरोध किया, रीवा कांग्रेस की तरफ से पूर्व विधायक सुखेंद्र सिंह "बन्ना" तथा शहर कांग्रेस अध्यक्ष गुरमीत सिंह मंगू नें तत्काल मोर्चा संभाला
पूर्व कांग्रेस विधायक सुखेंद्र सिंह नें कड़ा विरोध जताते हुये कहा था की, कोरोना के संक्रमण कों विंध्य से दूर रखनें के लिये रीवा सहित पूरे विंध्य की जनता नें सरकार द्वारा दिये गये निर्देशों का पूर्ण रूप से पालन किया। लेकिन अब साजिस के तहत कोरोना को रीवा शिफ्ट कर दिया गया, जिसका हम विरोध करतें है। साथ ही उन्होनें कहा की यदि रीवा सांसद एवं रीवा के 8 विधायक इसका विरोध करते तो किसी भी सूरत में इन कोरोना पॉजिटिव कैदियों को विंध्य में प्रवेश नही मिलता।


साथ ही पूर्व कांग्रेस विधायक नें कांग्रेस शहर अध्यक्ष एवं ग्रामींण अध्यक्ष के साथ मिलकर रीवा कलेक्टर को ज्ञापन सौंपते हुये 48 घंटे का अल्टीमेटम देते हुये कहा था- यदि 48 घंटे के अंदर दोनों कोरोना पॉजिटिव कैदियों को रीवा से बाहर नही भेजा गया तो हम लॉकडाउन माननें को बाध्य नही हैं और जेल जानें को भी तैयार हैं।



विरोध बढ़ता देख, सत्ता पक्ष की तरफ से पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ला नें मोर्चा संभालते हुये कहा था, मै जनमानस की भावनाओं के साथ हूं और जल्द ही सीएम से बात करूंगा।
पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ला नें मोर्चा संभालते हुये कहा था- राजेंद्र शुक्ला नें कहा- जनभावानाओ के साथ मै भी करोना पीड़ित व्यक्तियों को इंदौर से विन्ध्य में लाए जाने के खिलाफ हूँ। अभी तक विन्ध्य क्षेत्र में करोना वायरस का एक भी मामला नहीं आया है और चिरहुला नाथ की कृपा आगे भी रहे। मैंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बात किया है और इस मुद्दे को हर स्तर पर उठाएंगे।

बाद में गुढ़ से भाजपा विधायक नागेन्द्र सिंह एवं रीवा से भाजपा सांसद जनार्दन मिश्रा नें भी पूर्व मंत्री का समर्थन करते हुये कोरोना पॉजिटिव कैदियों को रीवा भेजे जानें का विरोध किया था। हला की, चुरहट से भाजपा विधायक शर्देंदु तिवारी एक अकेले ऐसे जनप्रतिनिधि थे जिन्होनें कोरोना संक्रमित कैदियों को रीवा लानें के समर्थन में दिखे थे।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने, कोरोना संक्रमित कैदियों को रीवा से वापस भेजने के निर्णय को विंध्यवासियों की एकता और जागरूकता की जीत बताया।
मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें कोरोना संक्रमित कैदियों को रीवा से वापस भेजने के निर्णय को विंध्यवासियों की एकता और जागरूकता की जीत बताया। लेकिन उन्होनें ये भी कहा की इसकी जांच होना भी जरूरी है की, विंध्य की जनता के जीवन से खिलवाड़ करने के लिए कौन जिम्मेदार है ।

देखें वीडियो 👇

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: कोरोना का कहर जारी, जिले में मिले 18 नए कोरोना संक्रमित।

26 व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग। कुल संक्रमित 814 डिस्चार्ज 573 एक्टिव केस 238 मृत्यु 3 सीधी: जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ० नागेंद्र बिहारी ...