Tuesday, 7 April 2020

सीधी/ सिंगरौली: सांसद रीति पाठक नें, सांसद निधि एवं वेतन में कटौती का किया स्वागत।


देश में कोरोना का संकट जारी है, कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही। जिसे देखते हुये सोमवार को कैबिनेट मीटिंग में अहम फैसला लिया गया। इसके तहत सांसद निधि को दो साल के लिए टाल दिया गया वही राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, राज्यपाल समेत तमाम सांसदों ने भी अपने वेतन का 30 फीसद योगदान देने का फैसला किया है। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने संसद अधिनियम, 1954 के सदस्यों के वेतन, भत्ते और पेंशन में संशोधन के अध्यादेश को मंजूरी दे दी। 1 अप्रैल, 2020 से एक साल के लिए भत्ते और पेंशन को 30 फीसद तक कम किया जाएगा।

कैबिनेट मीटिंग के बाद भारत में महामारी के प्रतिकूल प्रभाव के प्रबंधन के लिए 2020-21 और 2021-22 के लिए सांसदों को मिलने वाले फंड को अस्थायी तौर पर निलंबित कर दिया है। 2 साल के लिए 7900 करोड़ रुपये का उपयोग भारत की संचित निधि में किया जाएगा।

केन्द्रीय मंत्रिमंडल के इस निर्णय का मध्यप्रदेश के सीधी से भाजपा सांसद रीति पाठक नें स्वागत किया है। उन्होनें ट्वीट करते हुये लिखा- प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी  की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में Covid_19 से उपजे संकट के निदान हेतु स्वास्थ्य संसाधन जुटाने  के लिए 1 वर्ष के लिए हम सभी सांसदो के वेतन से 30% राशि जमा करने व 2 वर्ष की सांसद निधि स्थगित करने संबंधी फैसले का स्वागत करतीं हूँ।

No comments:

Post a comment

Latest Post

ललित सुरजन का निधन पत्रकारिता के लिए बड़ी क्षति: अजय सिंह।

ललित सुरजन में मायाराम सुरजन के पूरे गुण विद्यमान थे: अजय सिंह। भोपाल: मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि मै...