Sunday, 12 April 2020

पूर्व सीएम कमलनाथ का सीएम शिवराज सिंह एवं केंद्र की भाजपा सरकार पर निशाना, कहा- समय रहते लॉकडाउन ना करनें ही वजह से प्रदेश के हालात इतनें बिगड़े।


भोपाल: देश के साथ साथ मध्यप्रदेश में भी कोरोना का कहर जारी है। कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इसी बीच आज मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ प्रेसवार्ता कर शिवराज सरकार को आड़े हाथों लेते हुए जमकर घेरा।



समय रहते, यदि प्रदेश में लॉक डाउन कर दिया जाता तो हालात इतनें नही बिगड़ते।
कमलनाथ ने कहा कि अगर समय रहते ही प्रदेश में लॉक डाउन कर दिया जाता तो ये हालात नहीं होते। 8 मार्च से सभी विधायक प्रदेश के बाहर बैठे हुए थे। किंतु तब मैंने 12 मार्च को स्कूल कॉलेज सभी को बंद कर दिया गया था। किंतु केंद्र की तरफ से कोई एक्शन नहीं लिया गया क्योंकि वो प्रदेश की सरकार को गिराने के लिए इंतजार कर रहे थे। जबकि कांग्रेस सरकार ने जब विधानसभा स्थगित करने की मांग की तो सभी दलों द्वारा उसका मजाक उड़ाया गया था। किंतु जैसे ही शिवराज सिंह की सरकार बनी है उसके 1 दिन के बाद से ही लॉक डाउन लागू कर दिया था।



कोरोना को लेकर, राहुल गांधी ने 12 फरवरी को ही आगाह किया लेकिन केंद्र सरकार नें ध्यान नही दिया।
कमलनाथ यही नही रुके उन्होंने आगे कहा कि राहुल गांधी ने 12 फरवरी को ही आगाह किया था कि कोरोना संकट आने वाला है लेकिन केंद्र सरकार मध्य प्रदेश की सरकार गिराने में लगी थी। मैंने मुख्यमंत्री रहते हुए कॉलेज और मॉल बंद कर दिए थे। हमने कदम उठाने शुरू कर दिए थे । हमने अपने एक प्रकार का लॉक डाउन शुरू किया था लेकिन केंद्र सरकार इंतजार कर रही थी कि कब नया मुख्यमंत्री शपथ लें। हमारे विधानसभा अध्यक्ष ने विधानसभा कोरोना के कारण स्थगित करने की घोषणा की गई थी तब इसे मजाक में उड़ाया गया था। केंद्र ने शिवराज के शपथ लेने के बाद लॉकडाउन शुरू किया।



मध्यप्रदेश में कोरोना के टेस्ट बहुत कम हो रहे हैं।
कमलनाथ ने आगे कहा कि केवल शहरी क्षेत्रों में ही टेस्टिंग हो रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में टेस्टिंग नहीं हो रही है। जितना टेस्ट कम करोगे उतना कम करोना निकलेगा। मध्यप्रदेश में टेस्ट बहुत कम हो रहे हैं। प्रदेश में तो 10 लाख में से गिने-चुने लोगों की ही टेस्टिंग हो पा रही है। पांच राज्य से घिरे होने के कारण मध्य प्रदेश के आसपास के इलाके से मजदूर वापस घर आएं किंतु किंतु उनकी जांच नहीं हो पा रही है।



शिवराज मंत्रिमंडल के गठन को लेकर सवाल।
कमलनाथ ने कहा कि कि मध्य प्रदेश में अभी तक मंत्रिमंडल नहीं है, इस गंभीर हालत में कोई मंत्रिमंडल का ना होना दुर्भाग्यपूर्ण है।भाजपा ने जिस तरह सरकार बनाई है उनको यह नहीं भूलना चाहिए कि, आगे होनें वालें 24 उपचुनाव में से, 22 उपचुनाव भाजपा द्वारा प्रलोभन देनें की बजह से, तत्कालीन कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे के कारण होनें वाले हैं। इन 22 में से कितने विधायक वापस जीत पाएंगे यह सबसे बड़ी बात है।



मोदी एवं केंद्र सरकार पर हमला।
वहीं प्रधानमंत्री मोदी पर हमला बोलते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे विश्व का संकट हमारे देश को प्रभावित करेगा केवल ताली और थाली पीट लेने से यह संकट नहीं पीछा छोड़ेगा। देखिए हम जानते हैं कि लगभग 90% टेस्टिंग किट्स चीन में बनते हैं लेकिन हमने कब ऑर्डर किया। केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कमलनाथ ने कहा पूरे विश्व में टेस्टिंग किट की चर्चा कर चल रही थी उसी समय टेस्टिंग किट का आर्डर होना चाहिए था। किंतु केंद्र सरकार की अनियमितता के चलते आज प्रदेश में कोरोना इस कदर अपने पैर फैलाए हुए हैं।

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: कोरोना का कहर जारी, जिले में मिले 18 नए कोरोना संक्रमित।

26 व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग। कुल संक्रमित 814 डिस्चार्ज 573 एक्टिव केस 238 मृत्यु 3 सीधी: जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ० नागेंद्र बिहारी ...