Friday, 10 April 2020

शहडोल: जमात में शामिल हुए प्रोफेसर नें कॉलेज प्रबंधन से छिपाई थी ट्रैवल हिस्ट्री, किया गया निलंबित।


शहडोल: राजधानी दिल्ली में एक मार्च से 15 मार्च तक तबलीग-ए-जमात में हिस्सा लेने देश-विदेशों से करीब 1830 लोगों की जमात निजामुद्दीन इलाके में स्थित मरकज में आई थी। इस कार्यक्रम में श्रीलंका, बांग्लादेश, इंग्लैंड, इंडोनेशिया, ईरान समेत 16 देशों के लोग आए थे। वहीं देश के कई राज्यों से लोग भी आए थे।यहां आने के बाद लोग निजामुद्दीन थाने के ठीक पीछे बने तबलीग-ए-जमात के मुख्यालय में ठहरे थे।

मध्यप्रदेश के शहडोल में, जमात में शामिल होने की जानकारी को छुपानें का मामला आया सामने।
दिल्ली का निजामुद्दीन मामला सामने आने के बाद से प्रशासन सतर्क है। जमात में शामिल होने की जानकारी ना देने वालों पर कार्रवाई की जा रही है। शहडोल में एक ऐसा ही मामला सामनें आया है, जहां मेडिकल कॉलेज के प्रोफेसर डॉक्टर मोहम्मद मुजाहिद अंसारी के खिलाफ एक्शन लिया गया है।

प्रोफेसर को किया गया निलंबित।
दिल्ली जमात में शामिल होकर ट्रैवल हिस्ट्री ना बताने पर प्रोफेसर डॉ. मोहम्मद मुजाहिद अंसारी को निलंबित कर दिया गया है। देश मे बढ़ते संक्रमण के बावजूद शहडोल मेडिकल कॉलेज के प्रबंधन को उन्होंने जमात में शामिल होने की जानकारी नहीं दी थी, इसीलिए कॉलेज प्रबंधन ने उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है।

शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय के मुताबिक, मोहम्मद मुजाहिद अंसारी ने 6 से 11 मार्च तक नागपुर जाने के लिए अवकाश लिया था। लेकिन वो दिल्ली जमात में शामिल हो गए। इसके बाद वापस आ कर 12 से 19 मार्च तक उन्होंने मेडिकल कॉलेज में सेवाएं भी दीं थीं।

कॉलेज प्रबंधन के मुताबिक, मोहम्मद मुजाहिद अंसारी के गैरजिम्मेदाराना और लापरवाह व्यवहार की वजह से उन्हें मध्य प्रदेश सिविल सेवा नियम का दोषी मानकर निलंबित कर दिया गया है।

No comments:

Post a comment

Latest Post

ललित सुरजन का निधन पत्रकारिता के लिए बड़ी क्षति: अजय सिंह।

ललित सुरजन में मायाराम सुरजन के पूरे गुण विद्यमान थे: अजय सिंह। भोपाल: मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि मै...