Saturday, 4 April 2020

9 मिनट लाइटें बंद करनें से हो सकता है ब्लैकआउट का खतरा, जिसको लेकर बिजली विभाग नें जारी की एडवाइजरी।


भोपाल: देश के साथ साथ मध्यप्रदेश में भी कोरोन का संकट लगातार बढ़ता जा रहा है। कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। ऐसे में इसके रोकथाम के लिये पूरे देश में 21 दिन यानी 14 अप्रैल तक का लॉकडाउन घोषित है।इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 5 अप्रैल की रात 9:00 बजे 9 मिनट के लिए घर में अंधेरा कर दीपक, मोमबत्ती या मोबाईल टार्च जलाने का आह्वान देश की जनता से किया गया है। जिसके बाद मध्य प्रदेश विद्युत मंडल अभियंता संघ ने लोगों को कुछ टिप्स दिए हैं कि वे कैसे बिजली बंद करें ताकि ग्रिड से पावर सिस्टम फैल ना हो जाए।



दरअसल पूरे देश में इस समय 1100000 मेगावाट की अधिकतम मांग चल रही है और यदि एकाएक पूरी विद्युत बंद की जाती है तो इसका पूरा भार ग्रिड पर पड़ेगा और टोटल बिजली फेल होने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता ।



इस बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ऑल इंडिया पावर इंजीनियर्स फेडरेशन के अध्यक्ष शैलेंद्र दुबे ने सूचित किया था कि तकनीकी रूप से ऐसा होने से ग्रिड में गड़बड़ी आ सकती है, इसलिए पावर सिस्टम कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा एक एडवाइजरी जारी की गई है जिसमें बिजली को कैसे बंद किया जाए इसकी विस्तृत जानकारी दी गई है।



मध्य प्रदेश में सभी उपभोक्ताओं से अनुरोध किया गया है कि रात 9:00 बजे केवल लाइटिंग लोड ही बंद करें और अन्य उपकरण जो अंदर चलते हैं जैसे फ्रिज, हीटर ,ओवन या अन्य उपकरण उन्हें चलने दें ताकि लाइटें बंद होने से ग्रिड पर प्रभाव ना पड़े। 9 मिनट बाद भी लाइटों को धीरे धीरे शुरू किया जाए ताकि ग्रिड सुरक्षित रहे।

No comments:

Post a comment

Latest Post

सिंगरौली: भाजपा का नया तरीका, जो खुद न कर पायें उसे सुप्रीम कोर्ट को सौंप दो- अजय।

मोदी सरकार सभी वर्गों को खत्म कर रही, अब किसानों की बारी: अजय सिंह। अब भाजपा की इस विचारधारा और मानसिकता के खिलाफ लड़ाई शुरू हो चुकी है: अजय ...