Friday, 24 April 2020

आगामी उपचुनाव के कारण कांग्रेस का दांव, डॉ.गोविंद सिंह होंगे नेता प्रतिपक्ष ! 25 अप्रैल को हो सकता है ऐलान।


भोपाल: मध्यप्रदेश में भाजपा की शिवराज सरकार के कैबिनेट गठन तथा मंत्रियों के विभागों के बंटवारे के बाद, अब मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को विधानसभा में अपना नेता चुनना है। जिसके लिये पार्टी अपनें सीनियर एवं अनुभवी नेता डॉक्टर गोविंद सिंह को नेता प्रतिपक्ष बनाने जा रही है।



डॉक्टर गोविंद सिंह का राजनीतिक और संसदीय अनुभव काफी लंबा।
भिंड के लहार से विधायक एवं कमलनाथ सरकार में संसदीय और सहकारिता विभाग की जिम्मेदारी संभालने वाले गोविंद सिंह का राजनीतिक और संसदीय अनुभव काफी लंबा है। आगामी उपचुनावों को देखते हुये, पार्टी डॉक्टर गोविंद सिंह के अनुभव के जरिए विधानसभा के अंदर सत्तापक्ष को घेरने और ग्वालियर चंबल की 16 सीटों को साधनें के लिये मैदान में उतरगी।



पीसीसी चीफ़ कमलनाथ, विधायकों के साथ कर चुकें हैं चर्चा।
प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं पीसीसी चीफ़ कमलनाथ ने विधायकों के साथ चर्चा कर डॉक्टर गोविंद सिंह को नेता प्रतिपक्ष बनाने को लेकर सहमति बना ली है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पार्टी की तरफ से विधानसभा सचिवालय को 25 अप्रैल को पत्र भेजकर विपक्ष के नेता के नाम की जानकारी दे दी जाएगी।



क्या है, उपचुनाव का गणित।
जिन दो दर्जन सीटों पर उपचुनाव होना है उनमें से 23 पर कांग्रेस काबिज थी। एकमात्र आगर मालवा सीट भाजपा के पास थी। आगर से निर्वाचित मनोहर ऊंटवाल और मुरैना की जौरा विधायक रहे बनवारी लाल शर्मा के निधन के कारण ये दोनों सीटें रिक्त हुई हैं। कांग्रेस की खास नजर ग्वालियर चंबल की 16 सीटों पर रहेगी, जिसके जरिए वह पुन: सत्ता में वापसी का प्रयास करेगी।



सिंधिया समर्थक 22 कांग्रेस विधायकों के अपनी विधानसभा सदस्यता से इस्तीफ़ा देनें की वजह से कांग्रेस सरकार अल्पमत में आ गयी थी।
पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थन में 22 कांग्रेस विधायकों ने अपनी विधानसभा सदस्यता छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया है। अल्पमत में आते ही कमल नाथ सरकार को सत्ता से बेदखल होना पड़ा। कांग्रेस के सामने अब 23 सीटों पर दोबारा विजय पताका फहराने की चुनौती है।इसके लिए लॉक डाउन के दौरान भी पीसीसी चीफ कमलनाथ,  दिग्विजय सिंह, अजय सिंह, अरुण यादव एवं अन्य वरिष्ठ नेताओं के साथ लगातार रणनीति बनाने में जुटे हैं। पार्टी की ओर से अब डॉक्टर गोविंद सिंह का नाम विपक्ष के नेता के तौर पर सामने आया है।



25 अप्रैल को नेता प्रतिपक्ष के नाम का हो सकता है ऐलान।
जानकारी के मुताबिक डॉक्टर गोविंद सिंह शुक्रवार को राजधानी पहुंचेंगे और पीसीसी चीफ कमलनाथ से मुलाकात करेंगे उसके बाद 25 अप्रैल को कांग्रेस पार्टी की ओर से विधानसभा सचिवालय को पत्र भेजकर विपक्ष के नेता का नाम दिया जाएगा।

No comments:

Post a comment

Latest Post

जन्मदिन विशेष: अजय सिंह, नेता प्रतिपक्ष रहते हुये तत्कालीन भाजपा सरकार को सदन से लेकर सड़क तक घेरा।

भोपाल/सीधी: मध्‍यप्रदेश कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और राज्‍य विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह " राहुल" का आज जन्मदिन है।  अ...