Monday, 30 March 2020

पूर्व सीएम कमलनाथ नें इंदौर में लॉकडाउन के तहत, दूध की सप्लाई को भी बंद करने के निर्णय को बताया बेहद आपत्तिजनक।


इंदौर: देेश मेें लगातार कोरोना सेे संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है। अब तक 1161 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं, जिसमें से 102 मरीज ठीक हो चुकें हैं तो 28 मरीजों की मौत हो चुकी है। अगर बात मध्यप्रदेश की करें तो अब 47 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाये गये है, जबकी 2 मरीजों की मौत हों चुकी है।

मध्यप्रदेश के इंदौर में संक्रमितों की लगातार बढ़ती संख्या के मद्देनजर इंदौर अब अगले तीन दिन पूरा लॉकडाउन रहेगा। रविवार शाम कमिश्नर आकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में हुई बैठक में निर्णय लिया गया। इसके तहत शहर में 1 अप्रैल तक किराना, सब्जी, दूध समेत अन्य किसी सामान की बिक्री नहीं होगी। न होम डिलेवरी की जाएगी। कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि जो भी व्यक्ति इस लॉकडाउन का उल्लंघन करेगा, उस पर कानूनी कार्रवाई होगी।केवल सात पेट्रोल पंप खुलेंगे। वह भी अनिवार्य सेवा वाले वाहनों को ही ईंधन मुहैया करवाएंगे।



इंदौर को पूर्ण रुप से लॉक डाउन को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ नें बड़ी बात कही है। नाथ का कहना है कि लॉकडाउन का सख्ती से पालन हो, लेकिन इंदौर में जिस प्रकार से दूध की सप्लाई को भी बंद करने का निर्णय लिया गया है वो बेहद ही आपत्तिजनक है।



कमलनाथ ट्वीट कर लिखा है कि "शिवराज जी,प्रदेश में कोरोना संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन का सख़्ती से पालन हो,इसमें किसी को गुरेज़ नहीं है लेकिन इंदौर में जिस प्रकार से दूध की सप्लाई को भी बंद करने का निर्णय लिया गया है वो बेहद ही आपत्तिजनक है।दूध-दवाई आवश्यक वस्तुओं की श्रेणी में आती है"।




वही अगले ट्वीट में लिखा है कि देश भर में आवश्यक वस्तुओं पर कोई रोक नहीं है।इस निर्णय से उन बच्चों , बुजुर्गों , मरीज़ों का क्या होगा जो दूध पर ही आश्रित है ?उन पशु पालकों के बारे में भी सोचे , जो पूर्व से ही दोहरी मार झेल रहे है। जनहित में इस निर्णय को तत्काल बदला जावे।


No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: कोरोना का कहर जारी, मिले 24 नए कोरोना संक्रमित केस।

10 व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग। कुल संक्रमित 717 डिस्चार्ज 531 एक्टिव केस 183 मृत्यु 3 सीधी : जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ० नागेंद्र बिहारी ...