Saturday, 15 February 2020

VIDEO: सिंधिया हैं की मानते ही नही, सीएम कमलनाथ के भी सब्र का बांध टूटा।


दिल्ली: मध्यप्रदेश कांग्रेस में मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया में चल रही तकरार नें अब मध्यप्रदेश कांग्रेस के राजनीतिक पारे को चढ़ा दिया है। दिल्ली में कांग्रेस समन्वय की बैठक में इसका ताजा उदाहरण देखने को मिला। जहां सिंधिया मुख्यमंत्री कमलनाथ के आवास में हो रही बैठक को बीच में ही बिना कुछ कहे ही छोड़कर चले गए हैं।सिंधिया के बीच में यू उठ कर चले जाने के कई तरह के सियासी माइने निकाले जा रहे है।

सिंधिया हैं, की मानते ही नही।
दरअसल, आज दिल्ली में कांग्रेस समन्वय समिति की बैठक बुलाई गई थी। इसमें कांग्रेस सरकार के डेढ़ साल के कार्यकाल, निगम मंडल नियुक्ति, नए पीसीसी चीफ और संगठन में तालमेल को लेकर चर्चा होनी थी। मुख्यमंत्री कमलनाथ के दिल्ली आवास पर आयोजित इस बैठक में एमपी के प्रभारी दीपक बाबरिया, दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई दिग्गज नेता भी शामिल होने पहुंचे थे। प्राप्त जानकारी के अनुसार सिंधिया बैठक खत्म होने से पहले ही मुख्यमंत्री आवास से निकल गए और कुछ उखड़े उखड़े नजर आए।सिंधिया ने इस दौरान कुछ कहा नहीं। लेकिन सिंधिया के बैठक को बीच में छोड़कर जाने के बाद उनके बीच की दूरियों को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्मा गया है।

कमलनाथ के भी सब्र का बांध टूटा।
सिंधिया द्वारा रोज रोज की प्रेसर पॉलिटिक्स से परेशान मुख्यमंत्री कमलनाथ का भी सब्र अब टूटता हुआ दिख रहा। अब ज्योतिरादित्य सिंधिया और सीएम कमलनाथ के बीच चल रहा शीत युद्ध खुलकर सामने आने लगा है। इसका ताजा उदाहरण दिल्ली में सीएम कमलनाथ के रैवेय में साफ झलका जब उनसे सिंधिया के कांग्रेस के खिलाफ सड़क पर उतरने वाले बयान पर पर मीडिया द्वारा पूछा गया तो सीएम कनलनाथ ने साफ कह दिया तो उतर जाएं...


आखिर कमलनाथ को सिंधिया की शिकायत सोनिया गांधी से क्यूँ करनी पड़ी?
गौरतलब है कि कोई बड़ा पद या जिम्मेदारी ना देने के चलते सिंधिया लंबे समय से पार्टी से नाराज चल रहे है। बीते कई दिनों से अपनी ही सरकार के खिलाफ बयानबाजी कर रहे है। पहले उन्होंने कर्जमाफी को लेकर सवाल उठाया था और अब अतिथि शिक्षकों समेत प्रदेश की जनता से किए गए वादों को पूरा ना करने पर सड़क पर उतरकर आंदोलन की चेतावनी दी थी, जिसको लेकर सीएम कमलनाथ नें दिल्ली दरबार में शिकायत की।

No comments:

Post a comment

Latest Post

अजय सिंह का कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संदेश, कहा- उपचुनाव में कांग्रेस को जिताने पूरी ताकत से जुट जायें।

भाजपा को सबक सिखाने का समय आ गया है: अजय सिंह। कांग्रेस की जीत से पूरे देश में सरकार गिराने- बनाने में सौदेबाजी के खिलाफ संदेश जायेगा: अजय स...