Sunday, 16 February 2020

सिंधिया से नाराज कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश को जल्द मिलेगा पीसीसी चीफ, क्या पीसीसी चीफ़ के लिये अजय सिंह की दावेदारी फिर हो रही मजबूत?


ग्वालियर: मुख्यमंत्री कमलनाथ शनिवार शाम थोड़े समय के लिए ग्वालियर पहुंचें और सियासी हलचल तेज़ कर गए। पत्रकारों के साथ चर्चा में कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश को जल्द ही पीसीसी चीफ मिल जाएगा। सोनिया गांधी नाम तय कर लेंगी। खास बात ये है कि कमलनाथ का ये बयान उस समय आया है जब सिंधिया पार्टी से नाराज़ चल रहे हैं और शनिवार को वे दिल्ली में समन्वय समिति की बैठक के बीच से उठकर चले गये।


दिल्ली में कांग्रेस समन्वय समिति की बैठक में शामिल होने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ दिल्ली से विशेष विमान से ग्वालियर पहुंचे। वो यहां एक शादी समारोह में हिस्सा लेनें पहुंचे थे।पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने दिल्ली में हुई समन्वय समिति की बैठक के बारे में बताते हुए कहा कि बैठक में, पंचायत चुनाव, नगरीय निकाय चुनाव और संगठन में परिवर्तन पर चर्चा हुई है, जिसके रिजल्ट जल्द देखने को मिलेंगे।

सोनिया गांधी तय करेंगी पीसीसी चीफ, जल्द होगी घोषणा: सीएम कमलनाथ।


पत्रकारों ने जब मुख्यमंत्री से पूछा कि भाजपा ने अपना नया प्रदेश अध्यक्ष घोषित कर दिया है, कांग्रेस कब पीसीसी चीफ घोषित करेगी?  सवाल सुनने के बाद कमलनाथ ने कहा कि हमारी अध्यक्ष सोनिया गांधी ये नाम तय करेंगीं और जल्द ही इसकी घोषणा होगी। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री के इस बयान के कई मायने हैं। ये उस समय आया है जब कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया से उनकी तकरार चल रही है।

सिंधिया से नाराज कमलनाथ के सोनिया गांधी से मिलनें के क्या मायनें? क्या कट सकता है ज्योतिरादित्य का पत्ता?


बहरहाल सिंधिया का समन्वय समिति की बैठक को छोड़कर जाना और उसके बाद दिग्विजय सहित अन्य लोगों का बैठक जारी रखना और उसमें संगठन में परिवर्तन पर चर्चा ने सियासी हलचल तेज कर दी है। राजनीतिक पंडित कमलनाथ की बातों में वो कयास ढूंढ रहे हैं जो उन्होंने इस बैठक के पहले सोनिया गांधी से मुलाकात के दौरान की होंगी। माना ये भी जा रहा है कि इस बैठक में सिंधिया को लेकर भी कमलनाथ ने सोनिया गांधी से बात की है।

क्या पीसीसी चीफ़ के लिये अजय सिंह की दावेदारी होगी मजबूत?


आज के घटनाक्रम के बाद, अब यह माना जा रहा है की,  पीसीसी चीफ़ के  सिंधिया की दावेदारी कमजोर हो गयी है। ऐसे में पीसीसी चीफ़ के दूसरे प्रबल दावेदार पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह की दावेदारी मजबूत होती दिख रही है, और उनका नाम पीसीसी चीफ़ के लिये एक बार फिर तेजी से उभरा है। अजय सिंह के नाम पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पहले ही सहमति जता चुकें हैं। अजय सिंह में वो काबिलियत है की वो संगठन को मजबूती दें सकतें है, साथ ही संगठन एवं सरकार के बीच बेहतर समन्वय ला सकतें है। जहां एक तरफ अजय सिंह की कार्यकर्ताओं पर मजबूत पकड़ है वहीं दूसरी ओर उनके मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ साथ सरकार के मंत्रियों से भी मधुर संबंध है। अब ऐसे में यह देखना बेहद दिलचस्प होगा की अजय सिंह के नाम पर फाईनल मुहर लगती है या पीसीसी चीफ़ का फ़ैसला फिर टल जाता है।

No comments:

Post a comment

Latest Post

बिहार News: JDU में शामिल हुए पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय, CM नीतीश कुमार ने दिलाई सदस्यता।

बिहार: पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने आज जनता दल यूनाइटेड (JDU) की सदस्यता ग्रहण कर ली। पटना में मुख्यमंत्री आवास में सीएम नीतीश कुमार न...