Saturday, 29 February 2020

Alkem walk in- for formulation manufacturing facility based at Daman @ Hotel Royal Shelter Vapi, 3rd March 2020


Daman / Vapi: Shape up the career with Alkem laboratories limited Daman.

Walk in interview for formulation manufacturing facility at Daman.

Position: QC Sr. officer and officer.

Qualification: M.pharm/B.pharm/M.sc.

Experience: 2 - 5 years.


Position: Production Sr. officer/officer.

Qualification: M.pharm/B.pharm

Experience: 2 - 5 years.


Position: Production Operator/ Technician.

Qualification: ITI/ Diploma/ B.sc.

Experience: 2-6 years.


Document required: Copy of Resume, Salary breakup/Increment letter, Passport size photograph, copy of Aadhar and PAN card.


Venue: Hotel Royal Shelter-Vapi, Gunjan Chowk, National highway no. 08
Vapi. Gujraat- 396191

Monday, 24 February 2020

VIDEO- PICS: दिग्विजय-सिंधिया मुलाकात पर सस्पेंस खत्म, दोनों एक दूसरे से गर्मजोशी से मिले, साथ में मंत्री जयवर्धन सिंह भी रहे मौजूद।


गुना: राजा एवं महराजा मुलाकात पर सस्पेंस खत्म, दोनों एक दूसरे से गर्मजोशी से मिले। साथ में नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह भी रहे मौजूद।


गौरतलब है की, मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की आज होनें वाली मुलाकात पर सस्पेंस बना हुआ था। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने टूर प्रोग्राम में दिग्विजय सिंह से मिलने का समय नहीं दिया था। जबकी दिग्विजय सिंह ने लेटर जारी कर कहा था कि 24 फरवरी को गुना के सर्किट हाउस में वो कांग्रेस के महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात करेंगे।


देखें वीडियो 👇



VIDEO: यदि मैं गुना आकर महराज से नही मिलता तो लोग सोचते की हम दोनों में तनातनी है: दिग्विजय सिंह।


अशोकनगर: राजा और महाराजा के मुलाकात पर सस्पेंस के बीच दिग्विजय सिंह का बड़ा बयान आया है। हालांकि पूरे प्रदेश में दिग्विजय सिंह एवं ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच गुना में होने वाली बैठक की चर्चा जोरों पर है ।इस बैठक को लेकर तमाम कयास लगाए जा रहे हैं। अब इस बैठक से कुछ देर पहले अशोक नगर पहुंचे दिग्विजय सिंह ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि अगर मैं सिंधिया से नहीं मिलता तो लोग कहते कि हम लोगों के बीच तनातनी है। यही वजह है की जैसे ही मुझे पता चला की महाराज गुना में हैं तो मैनें उनसे मिलते हुये जाऊंगा।

चंदेरी के कांग्रेस विधायक गोपाल सिंह चौहान के पुत्र की शादी में शामिल होकर अशोक नगर पहुंचे दिग्विजय सिंह से स्थानीय विश्राम गृह में पत्रकारों ने बातचीत की, उनसे पूछा कि आपकी और सिंधिया के बीच बैठक किस मुद्दे को लेकर हो रही है। तो दिग्विजय सिंह ने कहा की बहुत समय बाद ऐसा हुआ कि वह और ज्योतिरादित्य सिंधिया दोनों एक साथ गुना में है। और ऐसे में अगर मैं उनसे नहीं मिलते तो लोग कयास लगाते कि हम लोगों के बीच तनातनी है । इसी वजह से उनके और सिंधिया के बीच यह बैठक होने जा रही है। सिंधिया के पुराने संसदीय क्षेत्र में दिए दिग्विजय सिंह के इस बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं।



गौरतलब है की, बीते दिनों सिंधिया के सड़क पर उतरने वाले बयान के बाद मध्यप्रदेश कांग्रेस में भूचाल आ गया था। अब इस मुलाकात से सब सामान्य होनें की उम्मीद है साथ ही सभी चर्चाओं पर विराम लगाने के लिए यह दिग्विजय सिंह की पहल भी हो सकती है। ताकि यह संदेश दिया जा सके पार्टी कि पार्टी के बड़े नेताओं में सब कुछ सामान्य होने जा रहा है। बीते 17 सालो के बाद दिग्विजय सिंह किसी कार्यक्रम में भाग लेने के लिए अशोकनगर आए थे इसके पहले सिंधिया के संसदीय क्षेत्र के अशोकनगर से दिग्विजय सिंह की दूरी बनी रही है ।इस बाबत पूछने पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि इतने सालों में सिंधिया और कांग्रेसियों ने अशोकनगर का खूब विकास किया है ।


शिवराज सिंह चौहान पर पूछे गए सवाल को लेकर दिग्विजय सिंह ने कहा कि वह गर्त में जा रहे है उनकी ही पार्टी के नरोत्तम मिश्रा ,नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और कैलाश विजयवर्गीय सब के सब शिवराज सिंह को पीछे धकेलने में लगे है। इसके अलावा कंप्यूटर बाबा पर पूछे सवाल का भी दिग्विजय सिंह नें जबाब देते हुये कहा की, कंप्यूटर बाबा की अपनी विशेषता है और लक्ष्मण सिंह अलग विशेषता है, और जो इन दोनों में है वह मुझमें नही है।



Ipca Laboratories-Walk-In Interviews for Analytical Method Development On 29th Feb’ 2020

Ipca Laboratories-Walk-In Interviews for Analytical Method Development On 29th Feb’ 2020


Job Description
Candidate Should have hands on Analytical Instruments like HPLC, GC, UV, Dissolution Apparatus, Particle size Analyser etc. Willing to work in either ANDA / EU/ ROW/ WHO/ Domestic Market formulations, as per requirement.Knowledge on ICH guidelines for Quality. Expertise in Analytical method development and Pre-validation study for  RS/ Assay/ Dissolution. Stability study as par ICH Guideline. Analytical method Transfer and trouble shooting of analytical problems at plant.Willing to travel in different location for tech transfer.


Post Name : Analytical Method Development (Formulations)
Qualification: B.Sc ,Chemistry, MS/M.Sc (Science)
Experience : 1-5 years
Location : Mumbai


Time And Venue Details : Walk-In Interview On 29th February 2020, 9:00 AM Onwards, ASTOR Palace, Chetan C.H.S, ltd. “D Wing” Opposite Provident Fund Office, Charkop, Kanivali (W), Mumbai – 400067. Tel : 2869 3480/82.
Contact - rasika.mashalkar@ipca.com

Sunday, 23 February 2020

महाराजा और राजा की 24 फरवरी को होने वाली मुलाकात पर सस्पेंस बरकरार, राजा के प्रोग्राम में मुलाकात का जिक्र लेकिन महाराजा के टूर प्रोग्राम में इस मुलाकात का कोई जिक्र नही।


गुना: मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की 24 फरवरी को होनें वाली मुलाकात पर अभी भी सस्पेंस बना हुआ है। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने टूर प्रोग्राम में दिग्विजय सिंह से मिलने का समय नहीं दिया है, जबकी दिग्विजय सिंह ने लेटर जारी कर कहा था कि 24 फरवरी को गुना के सर्किट हाउस में वो कांग्रेस के महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात करेंगे। लेकिन अब ज्योतिरादित्य सिंधिया का टूर प्रोग्रम जारी हुआ है। इस टूर प्रोग्राम में दिग्विजय सिंह से मुलाकात का जिक्र नहीं किया है।

इन दोनों की मुलाकात के क्या मायनें।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह 24 फरवरी को पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से गुना सर्किट हाउस में मुलाकात करेंगें, ऐसा उनके टूर प्रोग्राम में है। कल इन दोनो दिग्गजों की होनें वाली इस मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे। लेकिन कार्यकर्ताओं को यह उम्मीद है की, कल इन दोनों की मुलाकात के बाद, पिछले कुछ दिनों से मध्यप्रदेश कांग्रेस के दिग्गजों के बीच चल रहे शीत युद्ध का अंत हो जायेगा।
इन दोनों नेताओं की मुलाकात के वक़्त प्रदेश के छह मंत्री भी मौजूद रहेंगे। सिंधिया व दिग्विजय सिंह के आगमन की खबर के बाद कांग्रेसजनों ने अपने-अपने नेता का भव्य स्वागत करने की तैयारियां शुरू कर दी हैं। खबर ये है कि दोनों नेताओं के स्वागत की होड़ में कांग्रेसजनों के बीच शक्ति प्रदर्शन हो सकता है। इन दोनों के आगमन को देखते हुए सुरक्षा बतौर पुलिस प्रशासन ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है। एक सैकड़ा से अधिक पुलिस अधिकारी व कर्मियों को 24 फरवरी को अलग-अलग ड्यूटी में तैनात किया है।
इसकी वजह ये है कि सिंधिया को जेड प्लस की सुरक्षा मिली हुई है।सिंधिया के स्वागत की तैयारियां श्रम मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया के नेतृत्व में तेजी से चल रही हैं। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह काफी समय बाद गुना के अल्प प्रवास पर 24 फरवरी को दोपहर सवा बारह बजे आएंगे। यहां आने के बाद पायगा मोहल्ला स्थित सत्येन्द्र तिवारी के निवास पर और वहां से पौने एक बजे हड्डी मिल बजरंगगढ़ रोड पर शोक संवेदना में जायेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह 1.15 बजे सर्किट हाउस जाएंगे जहां वों कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया से भेंट करेंगे। दोपहर दो बजे वे गुना से इंदौर के लिए रवाना हो जाएंगे।  लेकिन सिंधिया के टूर प्रोग्राम में दिग्विजय सिंह से मुलाकात का कोई जिक्र नही है।

ये मंत्री भी रहेंगें सिंधिया के साथ।
प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री प्रभूराम चौधरी, स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट, महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी, परिवहन मंत्री गोविन्द राजपूत, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर गुना आएंगे। श्रम मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया भी शामिल रहेेंगे। यह बात अलग है कि श्रम मंत्री सिंधिया के स्वागत के लिए पूर्व से यहीं रहकर तैयारियां करा रहे हैं। स्कूल शिक्षा मंत्री प्रभूराम चौधरी 24 फरवरी को सुबह साढ़े नौ बजे भोपाल से चलकर एक बजे गुना आएंगे। प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंंत्री इमरती देवी 23 फरवरी को साढ़े तीन बजे गुना आ जाएंगी, 24 फरवरी को यहां रहने के बाद सायं पांच बजे गुना से ग्वालियर के लिए प्रस्थान करेंगी। 

USV Pvt. Ltd.-Recruitment Drive for Medical Representative On 24th & 25th Feb’ 2020



USV Pvt. Ltd.-Recruitment Drive for Medical Representative On 24th & 25th Feb’ 2020.


VIDEO: रायसेन में चल रहे अवैध रेत उत्खनन पर कंप्यूटर बाबा की बड़ी कार्यवाही, मौके से दो पोकलेन मशीन और तीन डंपर किए जप्त।



भोपाल/ रायसेन: कंप्यूटर बाबा द्वारा अवैध रेत उत्खनन को रोकने के लिये की गई एक और छापेमारी चर्चा में। रेत की खदानों पर छापेमारी के लिए विख्यात हो चुके कंप्यूटर बाबा ने रात रायसेन जिले की खदानों पर छापा मारा। बाबा ने इस ऑपरेशन के लिए पूरी तैयारी की थी और एक डंपर में बैठकर उससे 3100 रू देकर रसीद कटाई । पुलिसवालों और अपने साथियों को साथ लिया और रवाना हो गए। वहीं पर बाबा ने रायसेन जिले की सोजनी कोटवार की खदान पर पहुंचकर देखा कि तङके 3 बजे भी अवैध उत्खनन चल रहा है। बाबा ने मौके से दो पोकलेन मशीन और तीन डंपर जप्त किए।
बाबा ने रेत माफियाओं  को पकड़ने के लिए 60 किलोमीटर का सफर तय किया। इतना ही नहीं ,बाबा ने बाकायदा पुलिस और प्रशासन का सहयोग लेकर इस कार्रवाई को अंजाम दिया। बाबा का कहना है कि कमलनाथ सरकार में रेत का अवैध उत्खनन बिल्कुल नहीं चलने देगे।


स्थानीय प्रशासन पर सवालिया निशान?


बाबा की इस कार्यवाही से अब लोकल प्रशासन पर सवाल उठ रहा, आखिर स्थानीय प्रशासन क्यूं सोता रहता है, जब बाबा यह काम कर सकतें है तो प्रशासन क्यूं नही। आखिर स्थानीय प्रशासन को अवैध रेत उत्खनन क्यूं नही दिखाई देता।

कंप्यूटर बाबा का पार्टी के अंदर जमकर विरोध।
कंप्यूटर बाबा को लेकर कांग्रेस पार्टी के अंदर काफी गतिरोध है। अभी हाल में ही पार्टी के वरिष्ठ विधायक लक्ष्मण सिंह नें तो कंप्यूटर बाबा कौ फर्जी करार तक दे दिया था और कहा था की ऐसे बाबाओं से पार्टी को खतरा है। पार्टी को ऐसे बाबाओं से दूर रहना चाहिये।

प्रदेश के खनिज मंत्री भी बाबा पर साध चूकें है निशाना।
कुछ दिनों पहले पन्ना जिले में डायमंड पार्क और डायमंड प्रोसेसिंग यूनिट की घोषणा करने प्रदेश के खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल पहुंचे थे, और उन्होनें ने कहा था की कि नदी न्यास के अध्यक्ष एवं कैबिनेट मंत्री दर्जा प्राप्त कम्प्यूटर बाबा एक बाबा है। साथ ही एक धार्मिक व्यक्ति है। वह अपनी बाबागीरी करें, खनिज विभाग से उनका कोई लेना देना नहीं है।

Saturday, 22 February 2020

म.प्र. के कई जिलों में बारिश के साथ ओले गिरे, मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में सीधी, सिंगरौली में गरज-चमक के साथ बिजली गिरने का येलो अलर्ट किया जारी।


भोपाल / सीधी: शनिवार,  22 फरवरी को एक बार फिर ठंडी हवाएं और बारिश वाले बादल मध्यप्रदेश के आसमान पर छा गए हैं। मध्य प्रदेश के करीब 6 जिलों में ओले गिरने और बारिश होने के समाचार मिल रहीं हैं। करीब 20 से ज्यादा जिलों में ठंडी हवाएं चल रही है। कुल मिलाकर होली से पहले एक बार फिर ठंडी हवाओं ने मध्यप्रदेश को घेर लिया है।

मौसम विभाग की रिपोर्ट के अनुसार अगले 24 घंटे में सीधी, सिंगरौली, शहडोल और अनूपपुर में गरज-चमक के साथ बिजली गिरने का येलो अलर्ट जारी।


मौसम विभाग की ओर से पता चला कि शनिवार को कटनी, सतना, रीवा व पन्ना में बारिश के साथ ओले गिरे। तेज हवा और बारिश के कारण बिजली भी गुल हो गई। कटनी में बिजली गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। रीवा, सतना और ग्वालियर चंबल संभाग में आज सुबह घना कोहरा छाया रहा। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में सीधी, सिंगरौली, शहडोल और अनूपपुर में गरज-चमक के साथ बिजली गिरने का येलो अलर्ट जारी किया है। शुक्रवार को भी कई जिलों में बारिश और ओलावृष्टि हुई थी।

ओलावृष्टि से फसल चौपट, किसानों की चिंता बढ़ी।


मध्यप्रदेश के कई हिस्सों में ओले गिरने से खेतों और सड़कों पर बर्फ की सफेद चादर सी बिछ गई। बेमौसम बरसात और ओले गिरने से किसानों की दलहनी फसल चौपट हो गई। मौसम विभाग ने अगले 24 घण्टे तक इसी तरह के मौसम बने रहने की चेतावनी दी है। ऐसे में किसानों की चिंताएं बढ़ गई है। सतना के मझगवां के आसपास 25 से 50 ग्राम तक ओले गिरे हैं। इस नजारे ने देखने वालों को भले ही रोमांचित कर दिया, लेकिन ये नजारा किसानों की माथे पर चिंता की लकीरें खींच रही हैं और परेशानी बढ़ा रहीं हैं।

सीएम कमलनाथ के OSD आर.के मिगलानी के बेटे का निधन, सीएम कमलनाथ एवं पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें दुख व्यक्त किया।


भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के सहयोगी एवं OSD आर.के मिगलानी के बेटे गौतम ​मिगलानी का निधन हो गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार उनका निधन हार्ट अटैक के कारण हुआ। वह किसी पारिवारिक कार्य से भोपाल आए हुए थे, यही उन्हें हृदयाघात हुआ। अंतिम संस्कार दिनांक 23 फरवरी 2020 को दिल्ली में ग्रीन पार्क में होगा। श्री राजेंद्र कुमार मिगलानी पिछले 35 सालों से कमलनाथ के साथ हैं, उनके 2 पुत्र हैं। श्री गौतम मिगलानी दिल्ली में रहते थे।



सीएम कमलनाथ नें गौतम ​मिगलानी के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया।
श्री गौतम मिगलानी के निधन पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ नें गहरा दुख व्यक्त करते हुये कहा " मेरे अभिन्न सहयोगी श्री आर.के.मिगलानी के पुत्र गौतम मिगलानी का दुःखद निधन मेरे लिये व्यक्तिगत क्षति है। परम पिता परमेश्वर यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे"


पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें भी श्री गौतम मिगलानी के निधन पर दुख व्यक्त किया।
मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजय सिंह "राहुल भैया" नें भी श्री मिगलानी के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुये कहा "श्री आरके मिगलानी जी के पुत्र श्री गौतम मिगलानी जी के असामयिक निधन का समाचार अत्यंत दुखद है। परमपिता परमात्मा दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे और शोकाकुल परिवार को बज्राघात सहने की शक्ति दे । संकट की इस घड़ी में हम सब उनके दुःख में सहभागी हैं । ॐ शांति ।

Walk in interview for AJANTA PHARMA LIMITED @Ankleshwar, Date 23rd Feb, 2020 (Sunday)



Walk in interview for AJANTA PHARMA LIMITED on the payroll of " EVOKE HR SOLUTIONS PVT LTD" @Ankleshwar, Date 23rd Feb, 2020 (Sunday)


मध्यप्रदेश के सिंगरौली में एक बड़ा सड़क हादसा, बाइक सवार तीन लोंगों की मौके पर ही दर्दनाक मौत।


सिंगरौली: सिंगरौली के मोरवा के बिरकुनिया में आज एक बड़ा सड़क हादसा हो गया, जिसमें तीन लोंगो की दर्दनाक मौत हो गयी। प्राप्त जानकारी के अनुसार, मोरवा थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम बिरकुनिया स्थित पुल के 30 फिट नीचे गहरे खाई में गिरने से बाइक सवार एक किशोर सहित तीन की दर्दनाक मौत हो गयी। मरनें वाले सभी लोग बाइक पर सवार होकर झिंगुरदा से दुधमनिया जा रहे रहे थे, जहां बीच में ही बाइक बिरकुनिया पुल के नीचे गिर गयी और बाइक सवार सभी लोंगों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गयी।

खबर मिलने के बाद एसडीओपी नीरज नामदेव व टीआई नागेंद्र प्रताप सिंह दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंच शव को खाई से निकलवाया। मरनें वालों में झिंगुरदा निवासी मृतक विवेक सिंह गोंड पुत्र लक्षमण सिंह उम्र 22 वर्ष , राजकुमार सिंह गोंड पुत्र सोनशाह सिंह उम्र 19 वर्ष व रवि सिंह सिंह पुत्र हरिचरण सिंह उम्र 17 वर्ष शामिल हैं।

मोरवा टी आई नागेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि सभी लोग आज प्रातः 9 बजे अपाची बाइक क्रमांक UP 64 AF 4693 पर सवार हो कर ग्राम दुधमनिया जा रहे थे कि जैसे ही ग्राम बिरकुनिया स्थित पुलिया के पास पहुंचते हैं कि बाइक के अनियंत्रित होने से तीनों लगभग 30 फिट गहरे खाई में जा गिरे। 

टी आई श्री सिंह ने आगे बताया कि बाइक के अत्यधिक रफ्तार की वजह से अनियंत्रित होने से हुए इस हादसे में तीनों के सिर में गंभीर चोट आई जिससे घटना स्थल पर मौत हुई है। टी आई श्री सिंह के अनुसार सम्भवतः तीनो मृतक दुधमनिया स्थित मंदिर दर्शन के लिए जा रहे थे जो सड़क दुर्घटना का शिकार हो गये। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु चिकित्सालय भेज दिया।

Friday, 21 February 2020

MACLEODS PHARMA LTD. Walk in interview at VAPI on Sunday, 1st March 2020.

Macleod?s, is hiring for manufacturing unit at Sarigam and Daman for Production, QC, Stores, Engineering Services & QA vacancies.

Position: Production Officer - API
Exp: 2-6 years in handling API/Intermediate manufacturing.

Position: Production Officer/ Operator - Formulation
Exp: 2-8 years  of exp. Coating/Compression/ Granulation/ Bulk /Blister/ Labeling .

Position: QA Officer - API/Formulation
Exp: 1-6 years  in API/formulation quality assurance activities.

Position: QC Officer - API/Formulation
Exp: 1-5 years in routine analysis on HPLC/GC instruments of API QC.


Position: Officer & Operator Engineering (Considering Pharma Industry experience only)
Exp: 2-6 years into  Mechanical/Electrical/Civil/HVAC/Water System/Calibration/Utility/ETP/STP/Stores/Documentation.

Position: Stores Officer - Formulation
Exp: 2-8 years of experience of RM/PM/BMR activities.


Please WALK IN along with CV and CTC proof

Interview Date: Sunday, 1st March 2020 between 09:30 am to 04:00 pm


Interview Venue: Hotel Woodlands, NH-08, Near Desai Automobiles, Balitha, VAPI

In case of any query, please revert on 09601049286 / 09136631117 / 09867023946/ jobs@macleodspharma.com

Intas Pharmaceuticals-Walk-In Interviews for Quality Control On 22nd Feb’ 2020



Intas Pharmaceuticals-Walk-In Interviews for Quality Control On 22nd Feb’ 2020

Job Description

Open Interviews for QC-HPLC @ Matoda on 22nd February



Department :  QC-HPLC

Qualification: B.Sc /M.Sc


Experience : 1-6  years

Location : Ahmedabad (Bhavda)


Time And Venue Details : Interested candidate can share the resume on hr_matoda@intaspharma.com

Venue : Walk-In On 22rd February 2020, Admin Building,
Plot No. 457,458 Sarkhej Bavla Highway Matoda, Taluka: Sanand, Ahmedabad – 382210, Gujarat, India.  Contact :  +91 2717 661458

Vacancies: 10


Salary : INR 1,00,000-6,00,000 P.A.

Company : Intas Pharmaceuticals


Walk-in interview for formulation & API in alembic pharma on 23-02-2020 @ Hyderabad.




कमलनाथ सरकार द्वारा, नसबंदी टार्गेट पूरा न करने वाले कर्मचारियों पर "नो वर्क- नो पे" फॉर्मूले के तहत कार्यवाही का आदेश।


भोपाल: परिवार नियोजन कार्यक्रम में पुरुषों की भागीदारी बढ़ाने के लिए मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार एक सख्त कदम उठाने जा रही है। सरकार ने उन पुरुष बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की सूची तैयार करने का आदेश दिया है, जो साल 2019-20 में एक भी पुरुष की नसबंदी नहीं करा पाए। सरकार ने ऐसे कार्यकर्ताओं का वेतन रोकने और उन्हें जबरन रिटायर करने की चेतावनी भी दी है।



प्राप्त जानकारी के अनुसार, स्वास्थ्य विभाग ने बीते 11 फरवरी को यह आदेश जारी किया है। इसमें साफ कहा गया है कि जो पुरुष बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कार्यकर्ता साल 2019-20 में नसबंदी के लिए एक भी आदमी नहीं जुटा पाए हैं, उनका वेतन वापस लिया जाए और उन्हें अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी जाए। प्रदेश सरकार ने टार्गेट पूरा न करने वाले कर्मचारियों पर नो वर्क, नो पे फॉर्मूले के तहत कार्रवाई का आदेश दिया है। आपको बता दें कि परिवार नियोजन कार्यक्रम में कर्मचारियों के लिए 5 से 10 पुरुषों की नसबंदी कराना अनिवार्य किया गया है।


स्वास्थ्य विभाग ने राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-4 की रिपोर्ट का हवाला देते हुए बताया कि राज्य में वर्ष 2019-20 में सिर्फ 0.5 प्रतिशत पुरुषों ने ही नसबंदी करायी, जो लक्ष्य से बेहद कम है। मप्र के राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने राज्य के कमिश्नर, जिला अधिकारियों और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों के नाम से आदेश जारी किया है। इसमें कहा गया है कि ऐसे सभी पुरुष बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की लिस्ट बनाएं, जिन्होंने इस दौरान एक भी पुरुष की नसबंदी नहीं करवाई या कुछ काम ही नहीं किया। ऐसे स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को "शून्य कार्य आउटपुट '' मानकर उन पर काम नहीं तो वेतन नहीं का नियम लागू किया जाएगा. आदेश के तहत इन MPHWs की सेवा समाप्त की जा सकती।


भाजपा नें जताया विरोध।


प्रदेश के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और भाजपा विधायक नरोत्तम मिश्रा ने सरकार के इस फैसले पर कड़ी आपत्ति जताई है ।उनका कहना है कि सरकार का यह निर्णय आपातकाल के दिनों की याद दिलाता है और कमलनाथ उसी मानसिकता से काम करते हुए दिख रहे हैं ।नरोत्तम मिश्रा ने यह भी कहा कि सरकार के इस निर्णय से वैसे ही हाल होंगे, जब आपातकाल में उन लोगों की भी नसबंदी कर दी गई थी जिनकी शादी तक नहीं हुई थी।

ओवैसी के MLA के विवादित बयान "100 करोड़ पर भारी 15 करोड़" पर, मंत्री जयवर्धन सिंह की कड़ी प्रतिक्रिया।



भोपाल/ मुम्बई: एआईएमआईएम विधायक वारिस पठान के विवादास्पद बयान पर मध्यप्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिह नें प्रतिक्रया देते हुये, कड़े शब्दों मेें निंदा की है।

गौरतलब है की, असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के विधायक वारिस पठान ने बेहद विवादित बयान दिया था। शनिवार (15 फरवरी) को कर्नाटक के एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि '100 करोड़ पर 15 करोड़ भारी पड़ेंगे।' उन्‍होंने कहा कि अगर आजादी दी नहीं जाती तो छीनना पड़ेगा। वारिस के इस बयान के बाद सियासी बवाल मच गया है।



मुंबई के भायखला से AIMIM विधायक वारिस पठान ने ये भी कहा, 'ईंट का जवाब पत्‍थर से देना हमने सीख लिया है। मगर इकट्ठा होकर चलना होगा। अगर आजादी दी नहीं जाती तो हमें छीनना पड़ेगा। वे कहते हैं कि हमने औरतों को आगे रखा है...अभी तो केवल शेरनियां बाहर निकली हैं तो तुम्‍हारे पसीने छूट गए। तुम समझ सकते हो कि अगर हम सब एक साथ आ गए तो क्‍या होगा। 15 करोड़ हैं लेकिन 100 (करोड़ हिंदू) के ऊपर भारी हैं। ये याद रख लेना।

वारिस पठान के इस बयान पर जयवर्धन ने ट्विट करके कहा "ना तो 100 करोड़ लड़ना चाहते है और ना 15 करोड़ लड़ना चाहते है ये चंद लोग है जिनकी राजनीति डर और साम्प्रदायिकता पर निर्भर है। ये और इनके बयान भाजपा के लिए खाद और पानी है जो भाजपा की नफ़रत की खेती को खड़ा करने में दिन-रात मदद कर रहे है"

जयवर्धन सिंह नें कर्नाटक की भाजपा सरकार से वारिस पठान के खिलाफ कार्यवाही की मांग की।
जयवर्धन सिंह नें कहा " वारिश पठान का बयान घोर निंदनीय और देश की एकता और अखण्डता के खिलाफ़ है।
लेकिन विचारणीय प्रश्न है की भाजपा की कर्नाटक सरकार ने अभी तक कोई कार्यवाही क्यों नहीं की है ? कार्यवाही होना चाहिए और सख्त होना चाहिए..."

Thursday, 20 February 2020

" दिग्गी राजा जिंदाबाद" के नारे से नाराज हुये दिग्विजय, कहा- इन नारों ने ही कांग्रेस की दुर्गति की है।


ग्वालियर: मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह का एक बयान आज चर्चा का विषय बना हुआ है। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ग्वालियर में आयोजित सभा में एक अजीबो गरीब बयान दिया।



ग्वालियर में CAA, NPR और NRC के विरोध में आयोजित इस सभा को संबोधित करने के लिए जैसे ही दिग्विजय सिंह ने माइक संभाला, कांग्रेस नेताओं ने दिग्गी राजा जिंदाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिये। नारे सुनते ही दिग्विजय सिंह ने कहा “अरे दिग्गी राजा तो जाए भाड़ में, भारतीय संविधान जिंदाबाद”। दिग्विजय सिंह यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि आप समझ लीजिये इन नारों ने ही कांग्रेस की दुर्गति की है। दिग्विजय सिंह के इस बयान के बाद उनका ये वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।



गौरतलब है की, दिग्विजय सिंह अपनें बेबाक बोल के लिये जानें जातें है, लेकिन आज अपनें लिये इस तरह का बयान देनें के कारण वो चर्चा में हैं।

देखें वीडियो 👇


सीधी: छुही खदान धंसने से तीन की मौत एवं तीन गंभीर रूप से घायल, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें घटना पर दुख व्यक्त किया।



सीधी/ मझौली : सीधी जिले के जनपद क्षेत्र मझौली में टिकरी के नजदीक ग्राम भुमका में शासकीय भूमि में अवैध रूप से संचालित छुही खदान के धंसने से जहां तीन महिलाओं की  घटनास्थल पर ही मौत हो गई वहीं तीन महिलाएं गंभीर रूप से घायल हो गई। जिन्हें एंबुलेंस के माध्यम से सामुदायिक स्वास्थ केंद्र मझौली भेज दिया गया।


छुही खदान धंसने से मरने  वालों मरण उर्मिला पति दददू सिंह 45 वर्ष निवासी टिकरी,रामबाई पति जयराम सिंह 35 वर्ष निवासी भुमका,बुटइया पति छोटेलाल सिंह 55 वर्ष निवासी बेलगांव जिला सिंगरौली की घटना स्थल पर ही मौत हो गई, जबकी शीशकली पति रामलखन साकेत 35 वर्ष निवासी टिकरी,सुनीता पति आशीष साकेत 32 वर्ष टिकरी,शोभा पति राजबहादुर सिंह 30 वर्ष निवासी बेलगांव गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें एम्बुलेंस से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मझौली उपचार के लिए भेजा गया।

घटना स्थल पर पहुंचा प्रशानिक अमला।

छुही खदान धंसने की खबर लगते ही घटना स्थल पर अनुविभागीय अधिकारी पुलिस अभिनव कुमार वारंगे,एसडीएम मझौली ए.के सिंह, मझौली थाना प्रभारी अजय सिंह,मड़वास चौकी प्रभारी खुमान सिंह पटेल सहित बड़ी संख्या में पुलिस की टीम घटना स्थल पहुंचकर मलवे में दबी महिलाओं को ग्रामीणों की मदद से बाहर निकाला। वहीं और लोगों के मलवे में दबे होने की आशंका पर जेसीबी मशीन से खुदाई भी कराई गई।

घटनास्थल पर पहुंचे कांग्रेस पदाधिकारी।


खदान धंसने एवं उसमे लोगों के फंसे होने की खबर लगते ही कांग्रेस जिलाध्यक्ष रुद्रप्रताप सिंह( बाबा), धौहनी कांग्रेस अध्यक्ष आनंद सिंह शेरगांव मौके पर पहुंच कर स्थिति का जायजा लिया।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें घटना पर दुख व्यक्त किया।

मध्यप्रदेश विधनसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें भुमका की दुखद घटना पर गहरा शोक व्यक्त करते हुये लिखा "सीधी जिले के टिकरी में आज छुही खदान के धसकने से तीन महिलाओं की दबने से मौत का समाचार दुःखद है।
ईश्वर से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्माओं की शांति प्रदान करें"


VIDEO: अपनों से ही घिरती कमलनाथ सरकार, विधायक रामबाई नें कहा - सरकार बिजनेस चला रही है, इसे निकालो उसे भर्ती करो।


भोपाल: कमलनाथ सरकार अब अपनों से ही घिरती जा रही है। अब सरकार को समर्थन दे रही विधायक रामबाई अस्थाई कर्मचारियों के समर्थन में आ गई हैं। उनका कहना है कि मध्य प्रदेश के भ्रष्ट अधिकारी मुख्यमंत्री कमलनाथ एवं उनके मंत्रियों को मिसगाईड कर रहे हैं। वर्षों से काम कर रहे अस्थाई कर्मचारियों को नौकरी से निकाला जा रहा है। 



विधायक रामबाई से मिलने के लिए कंप्यूटर ऑपरेटर आए थे, जिनसे मिलनें के बाद विधायक ने कहा कि इस तरह से कर्मचारियों को निकालना गलत बात है। जो कर्मचारी वर्षों से काम कर रहे हैं उनकी सेवाएं समाप्त करना अन्याय है। मध्यप्रदेश में अतिथि शिक्षकों, अतिथि विद्वान, संविदा कर्मचारी और कंप्यूटर ऑपरेटर आदि को नौकरी से इसलिए निकाला जा रहा है ताकि नई भर्तियां करके रिश्वत में काला धन कमाया जा सके। विधायक रामबाई ने कहा कि इस मामले को लेकर में मुख्यमंत्री कमलनाथ से मिलूंगी। उन्हें बताऊंगी कि अधिकारी और मंत्री आपको मिसगाइड कर रहे हैं। आपके पास तक सही जानकारी नहीं पहुंच रही है।



साथ ही उन्होनें कहा की, सरकार ने जो वादे किए थे वह पूरे नहीं हो रहे ।सहकारी बैंक कंप्यूटर ऑपरेटर संविदा महासंघ के प्रतिनिधि मंडल नें बुधवार भोपाल में रामबाई से मुलाकात कर उनसे कहा कि सरकार मुख्यमंत्री की मंशा के विपरीत उन्हे हटा रही है और उन्हें भीख मांगने के लिये मजबूर कर रही है। मुख्यमंत्री कमलनाथ के होते हुए ऐसा क्यों हो रहा यह समझ से परे है ।मैं जब जब भी उनसे दो मिनट के लिए मिलती हूं, अपने बजाऐ आपकी बात करती हूं ।सरकार आने के पहले कांग्रेस ने कहा था कच्चे-पक्के किए जाएंगे लेकिन लगता है कि सब को हटा कर ही मानेंगे।

गौरतलब  है कि पार्टी द्वारा जारी की गई वचन पत्र के बिंदु क्रमांक 47 16 एवं 47 48 में संविदा कर्मियों की सेवा को नियमित करके किसी भी कर्मचारी को सेवा से पृथक करने का वचन दिया गया था। बावजूद इसके सहकारी बैंक संविदा लिपिक कंप्यूटर ऑपरेटर कर्मचारियों की सेवाएं 17. 2.2020 के द्वारा समाप्त कर दी है। ऐसे कुल 630 कर्मचारी हैं ।भोपाल में सरकार बिजनेस चला रही है। इसे निकालो उसे भर्ती करो ।यह सरकार कांग्रेस की नहीं ,कमलनाथ की है सारे अधिकारी भाजपा माईन्डेड  है। मंत्रियों की समझ में नहीं आ रहा कि अधिकारी उन्हें गुमराह कर रहे हैं।

देखें वीडियो 👇



Wednesday, 19 February 2020

मंत्री डॉ. गोविंद सिंह नें सिंधिया समर्थकों को आड़े हाथों लिया, कहा- जिसकी पार्टी में निष्ठा नही है, उन्हें एक मिनट भी पार्टी में रहने का अधिकार नही है।


भोपाल: पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और सीएम कमलनाथ के बीच हुई बयानबाजी के बाद कांग्रेस में कलह रुकनें का नाम नही रही एवं गुटबाजी खुलकर सामने आ रही है। सिंधिया और सीएम कमलनाथ के बीच हुई बयान बाजी के बाद प्रदेश सरकार के दो मंत्री इमरती देवी और प्रद्दुमन सिंह तोमर पहले ही सिंधिया के साथ सडक़ों पर उतरने का एलान कर चुके हैं। वहीं अब सिंधिया समर्थक उनसे कांग्रेस से अलग होकर उनके पिता माधवराव सिंधिया की पार्टी मध्य प्रदेश विकास कांग्रेस को एक बार फिर पुनर्जीवित करने की मांग कर रहे है।
इन सब के बीच प्रदेश सरकार में सहकारिता मंत्री डॉ.गोविंद सिंह ने सिंधिया समर्थकों को आड़े हाथ लिया और ऐसे लोगों को पार्टी से बाहर निकालने की बात कही है। बुधवार को मीडिया से बातचीत करते हुए सहकारिता मंत्री डॉक्टर गोविन्द सिंह ने सिंधिया सर्मथकों द्वारा सोशल मीडया पर स्वर्गीय माधवराव सिंधिया की पार्टी पुन: जीवित करने की मांग पर प्रतिक्रिया देते हुए सिंधिया समर्थकों पर जमकर बरसे।
उन्होंने कहा कि जो लोग इस तरह की बाते कर रहे है उनको तत्काल पार्टी छोड़ देना चाहिए। जिसकी पार्टी में निष्ठा नही है उन्हें एक मिनट भी पार्टी में रहने का अधिकार नही है। उन्होंने कहा कि मैं पार्टी संगठन से अपील करुंगा कि ऐसे लोगो की पार्टी से निकाल दें।

VIDEO: कमलनाथ सरकार सुरा से पैसे कमाकर सुंदरियों पर लुटानें जा रही: नरोत्तम मिश्रा।


भोपाल: IIFA अवार्ड्स को लेकर अब राजनीति और गरमाती जा रही है। अब पूर्व मंत्री और भाजपा नेता नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि, एक तरफ प्रदेश में किसान बदहाल हैं, विकास थमा हुआ है और सरकार IIFA अवार्ड्स के नाम पर करोड़ों की बर्बादी कर रही है। उन्होने कहा कि सरकार आबकारी नीति और आईफा का उल्लेख करते हुए कहा कि सरकार सुरा से पैसे कमाकर सुंदरियों पर लुटाने जा रही है। श्री मिश्रा नें कहा सरकार IIFA अवार्ड्स पर 700 करोड़ खर्च करनें जा रही।
देखें वीडियो 👇


गौरतलब है की, IIFA समारोह 2020 की तारीखों का ऐलान कर दिया गया है। यह समारोह इंदौर में अगले महीने 27, 28 और 29 मार्च को होगा। भोपाल में बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान  और अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडीस की मौजूदगी में सीएम कमलनाथ ने इस समारोह का पहला टिकट लिया था। सलमान खान ने सीएम को आईफा का टिकट और मोमेंटो प्रदान किया था।
 


सीएम कमलनाथ ने कहा था, "मध्य प्रदेश का नया प्रोफाइल बनाने के लिए हमने आईफा समारोह का आयोजन यहां किया। हम आभारी हैं कि आईफा ने मध्य प्रदेश को नया अवसर दिया। सीएम ने कहा कि हम मध्य प्रदेश और आईफा को नयी पहचान दिलाएंगे।

VIDEO: आज के शिक्षित समाज में कंप्यूटर बाबा जैसे फर्जी बाबाओं की कोई जगह नहीं: लक्ष्मण सिंह।



गुना: मध्यप्रदेश कांग्रेस में आजकल कुछ भी ठीक नही चल रहा। एक तरफ जहां कमलनाथ सरकार नें कंप्यूटर बाबा को मंत्री पद का दर्जा दिया हुआ है वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह नें कंप्यूटर बाबा को फर्जी बताया है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह के भाई, कमलनाथ सरकार के मंत्री जयवर्धन सिंह के चाचा एवं चाचौड़ा से कांग्रेस के विधायक लक्ष्मण सिंह ने कंप्यूटर बाबा पर निशाना साधा है। दरअसल दो दिन पहले कंप्यूटर बाबा ने कहा था कि लक्ष्मण सिंह को विषय का ज्ञान नहीं है, अनर्गल बातें करते हैं। बाबा के इस बयान पर बोलते हुए लक्ष्मण सिंह ने कहा है कि ये मेरा नहीं बल्कि मेरे मतदाताओं का अपमान है।
लक्ष्मण सिंह ने आगे कहा कि जनता ने मुझे 5 बार संसद और तीन बार विधानसभा में चुना है। अगर मैं अनर्गल बातें करता तो इतनी बार नहीं चुना जाता। लक्ष्मण सिंह यह भी बोले कि राजेंद्र सिंह ने, जो जल पुरुष है, कंप्यूटर बाबा के बारे में जो बातें कही हैं, वह बिल्कुल सही है ।कंप्यूटर बाबा से कांग्रेस को पूर्व में भी बहुत नुकसान हुआ है ।ऐसे शिक्षित समाज में फर्जी बाबाओं की कोई जगह नहीं है ।जो तपस्या करते हैं, वही सही मायने में संत हैं ।उनको दुनिया मानती है और मैं भी मानता हूं। लक्ष्मण सिंह ने आगे कहा कि कंप्यूटर बाबा जैसे संतों को यह समाज कभी स्वीकार नहीं करेगा। ऐसे फर्जी बाबाओं से कांग्रेस पार्टी को पहले भी नुकसान हुआ है और आगे भी होगा।

देखें वीडियो 👇  



पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कांग्रेस की कलह पर तंज, कहा कमलनाथ-सिंधिया को सड़कों पर लाकर ही रहेंगे।


भोपाल. मध्यप्रदेश कांग्रेस में कलह रुकनें का नाम नही ले रही,और विरोधी खेमें के नेता दिन प्रतिदिन कमलनाथ- सिंधिया विवाद पर चुटकियाँ ले रहे। अब प्रदेश के पूर्व मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता नरोत्तम मिश्रा ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को सलाह देने के साथ-साथ हमला भी बोला है। भोपाल में पत्रकारों से बात करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा- कमलनाथ-सिंधिया को सड़कों पर लाकर ही रहेंगे लेकिन वो खुद कभी सड़कों पर नहीं आएंगे। इसके साथ ही उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया की नई पार्टी की अटकलों पर भी बोला है।



क्या कहा नरोत्तम मिश्रा ने ?
नरोत्तम मिश्रा ने कहा- हमारी सरकार के समय विपक्ष में जब सिंधिया जैसे कुछ कांग्रेसी थे, जिन्होंने दिखावे के लिए ही सही, पर सड़कों पर लड़ाई लड़ी, लेकिन वो आज कमलनाथ सरकार के समय भी सड़कों पर हैं। नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा- जो आज सत्ता के शीर्ष पर बैठे हैं वह कभी बीजेपी के राज में सड़क पर आए ही नहीं। कमलनाथ सिंधिया को सड़कों पर लाकर ही मानेंगे वह खुद कभी सड़क पर नहीं आएंगें। सिंधिया समर्थकों द्वारा नई पार्टी बनाने को लेकर नरोत्तम मिश्रा ने चुटकी लेते हुए कहा कि नई पार्टी बनाने के लिए हिम्मत और कलेजा चाहिए, लेकिन जलालत के साथ भी पार्टी में नही रहना चाहिए।



सिंधिया समर्थकों नें ,सिंधिया से अलग पार्टी बनानें का किया अनुरोध।
प्रदेश कांग्रेस की महासचिव रुचि ठाकुर ने फेसबुक पर लिखा कि पार्टी में चल रहे द्वंद से प्रदेश के सभी कार्यकर्ता व्यथित हैं। क्योंकि महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया जी की कड़ी मेहनत से ही प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी। मैं महाराज साहब से अनुरोध करना चाहती हूं कि बड़े महाराज कैलाशवासी माधवराव सिंधिया की पार्टी ( मध्यप्रदेश विकास कांग्रेस ) जिसका चुनाव चिह्न उगता सूरजा था, उसे पुन: जीवित करें। हम सब आपके साथ हैं।

गौरतलब है की, हाल ही में ज्योतिरादित्य सिंधिया के एक बयान के बाद मध्यप्रदेश कांग्रेस में अटकलों का दौर शुरू हो गया है। सिंधिया ने अपनी ही सरकार पर हमला करते हुए कहा था अगर वादे पूरे नहीं हुए तो हम सड़कों पर उतरेंगे, और अतिथि विद्वानों की तलवार एवं ढ़ाल भी बनेंगे। इसके बाद सीएम कमलनाथ ने कहा था कि-उतर जाएं।
देखें वीडियो 👇



Tuesday, 18 February 2020

म.प्र. कांग्रेस की कलह थम नही रही ! कमलनाथ के मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर, सिंधिया के समर्थन में उतरे।


ग्वालियर: कांग्रेस के कद्दावर नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस बयान की "सरकार यदि अपना वचन नही निभायेगी तो सड़क पर उतरना होगा" के बाद से ही कांग्रेस में कलह मची हुई है। इसी कड़ी में महिला विकास मंत्री इमरती देवी के बाद अब कमलनाथ सरकार के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर भी ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थन में उतर आए हैं।

मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर नें क्या कहा?
मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने कहा कि ‘वचन पूरा कराने के लिए केवल ज्योतिरादित्य सिंधिया ही सड़कों पर नहीं उतरेंगे बल्कि पूरी कांग्रेस उनके साथ सड़कों पर उतरेगी। जनता ने हमें कुर्सी पर आराम करने के लिए नहीं बल्कि चुनाव के पहले किए गए वचनों को पूरा करने के लिए बैठाया था।

सिंधिया ने क्या कहा था?
गौरतलब है की, कुछ दिनों पहले ही ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपनी ही सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि यदि सरकार वचन पूरे नहीं करेगी तो, वह जनता की आवाज बन कर सड़कों पर उतरेंगे, और उनकी ढ़ाल भी बनेंगें और तलवार भी बनेंगें। सिंधिया के इस बयान के बाद सीएम कमलनाथ के तेवर भी सख्त हो गये थे और उन्होंनें कहा था की सिंधिया को सड़कों पर उतरना हैं तो उतर जाएं।

देंखें वीडियो 👇

VIDEO: मंत्री एवं कलेक्टर द्वारा 5-5 लाख रुपये की वसूली कर "रेत का खेल" करनें पर, सीधी सांसद ने जिले की प्रशासनिक व्यवस्था पर खड़े किये सवाल।


सीधी: कांग्रेस जिला महामंत्री द्वारा मंत्री एवं कलेक्टर द्वारा पांच पांच लाख की वसूली कर " रेत के खेल" में शामिल होनें के आरोप के बाद, अब सीधी सांसद रीति पाठक नें सीधी की प्रशासनिक व्यवस्था पर सवालिया निशान लगाया है। रीति पाठक नें कहा की सीधी में अब कलेक्टर एवं मंत्री द्वारा पैसा लेकर रेत खदानों के माध्यम से खेल कराया जा रहा है। उन्होनें आगे कहा की, ऐसे में यह मामला और भी गंभीर हो जाता है, जब सत्ता पक्ष का ही पदाधिकारी यह आरोप अपनें ही मंत्री के खिलाफ लगाता है।



गौरतलब है की, पिछले दिनों कांग्रेस जिला महामंत्री भानू पांडेय का एक विडियो वायरल हुआ था , जिसमें वह सोन घड़ियाल विभाग के डिप्टी रेंजर सहित अन्य कर्मचारी के साथ उपखंड अधिकारी  कार्यालय चुरहट में बैठे दिख रहें हैं। इसमें भानू पांडेय द्वारा आरोप लगाते हुये कहा जा रहा है की, रेत खदानों से मंत्री एवं कलेक्टर पांच पांच लाख रुपये ले रहे है। हला की इस वीडियो में वो किस मंत्री की बात कर रहे हैं इसका कोई जिक्र नही है। इस वीडियो के वायरल होनें से सीधी से लेकर भोपाल तक राजनीतिक पारा हाई हो गया था। नेता प्रतिपक्ष गोपल भार्गव नें भी मुख्यमंत्री कमलनाथ जी इसका संज्ञान लेकर जिलों से अवैध खनन के 5 -5  लाख रुपये लेने वाले कलेक्टर और मंत्रियों की सूची जारी करनें को कहा था।



सीधी सांसद रीति पाठक नें ये भी कहा की, आज जिले की जनता इस कदर परेशान हो चुकी है की रिश्वत की डिमांड ना पूरी कर पानें पर उसे अपनी भैंस को रिश्वत के रूप में तहसील कार्यालय में बांधना पड़ रहा है। सीधी सांसद, जिले की सिहावल तहसील में कुछ दिनों पहले हुई घटना का जिक्र कर रहीं थी। जिसमें सीधी जिले की सिहावल तहसील अंतर्गत एक महिला से हिस्सा-बारिशाना एवं जमीनी मामले को लेकर राजस्व अमले द्वारा बार-बार रिश्वत की मांग से परेशान होकर बतौर रिश्वत महिला द्वारा अपनी भैंस तहसील कार्यालय में लाकर बांधनें तथा एसडीएम द्वारा अपनें कर्मचारियों के काले कारनामों पर पर्दा डालने के लिये, पीड़िता महिला सहित मामले को कभरेज कर रहे चार मीडिया कर्मी व अन्य नौ लोगों के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज करा दिया गया था।

देखें वीडियो 👇


Monday, 17 February 2020

मध्यप्रदेश के रीवा में बड़ा हादसा, घर में गैस सिलेंडर फटने से चार लोगों की मौत।


रीवा: मध्यप्रदेश के रीवा जिले में रविवार को बड़ा हादसा हो गया। यहां एक घर में एक गैस सिलेंडर फटने से चार लोगों की मौत हो गई। सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस और फायर ब्रिगेड की ​गाड़ियां पहुंची, लेकिन तब तक सबकुछ जलकर खाक हो चुका था। ब्लास्ट इतना तेज था कि घर के परखच्चे उड़ गए।गैस सिलेंडर कैसे फटा इसका अभी तक पता नही चल पाया है। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।


घटना सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के तरहहटी मोहल्ले की है। यहां देर रात एक घर के अंदर रखा गैस सिलेंडर फट गया, जिसमें पति -पत्नी सहित दो बच्चों की जलकर मौत हो गई ।मतृकों के नाम रहीस खटीक(42), पत्नी गुड़िया खटीक(39), बेटा साहिल खटीक(15) और बेटी पूजा खटीक(14) हैं। रहीस खटीक ठेला लगाकर परिवार चलाते थे।बताया जा रहा है कि जिस वक्त हादसा हुआ उस समय पूरा परिवार खाना खाकर सो रहा था। गैस सिलेंडर कैसे फटा इसका अभी तक पता नही चल पाया है।
अचानक हुए धमाके से आसपास के लोग घरों से निकलकर बाहर आ गए।वही किसी ने पुलिस और दमकल को सूचना दी।दमकल ने आग पर काबू पाया लेकिन तबतक सब जलकर खाक हो गया। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे सिटी कोतवाली टीआई ने पंचनामा दर्ज कर शव पीएम के लिए संजय गांधी अस्पताल भेज दिए हैं। पुलिस ने घटना की कायमी कर यह पता लगाने में जुट गई है कि आखिर गैस सिलेंडर आग कैसे भड़की और उसमें विस्फोट कैसे हो गया।

VIDEO: सिंधिया नें एक बार फिर कहा, यदि सरकार नें वचन पूरा नही किया तो हमें सड़कों पर उतरना ही होगा।


ग्वालियर: मध्यप्रदेश कांग्रेस में क्षत्रपों के बीच का शीत युद्ध रुकनें का नाम नही ले रहा। कमलनाथ के इस बयान की "सिंधिया को सड़क पर उतरना हैं तो उतर जायें" के बाद अब ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक बार फिर पत्रकारों से कहा है कि मैं जन सेवक हूं, जनता के वचन पूरा करना हमारा धर्म है और मैं फिर कहता हूं कि जो वचन हमने दिए हैं वह पूरे भी हमें ही करने  होंगे। हमें सब्र रखना होगा। अभी एक साल हुआ है और यदि यह वचन पूरे नहीं हुए तो हमे सड़कों पर उतरना ही होगा। यानी सिंधिया तीन दिन पहले कही गई अपनी बात पर कायम है।


हालांकि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शनिवार को कहा था कि यदि सिंधिया को सड़क पर उतरना है तो उतर जाएं और उसके बाद एक के बाद एक करके राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई थी।
सिंधिया समर्थक मंत्री इमरती देवी ने कहा था कि यदि सिंधिया सड़क पर उतरे तो पूरे देश के कांग्रेसी सड़क पर उतर आएंगे। वहीं वरिष्ठ मंत्री डॉ गोविंद सिंह ने कहा था कि सिंधिया को जो भी बातें करनी है वह अंदर बैठकर करें। समन्वय के साथ ही कांग्रेस में काम होना चाहिए। दिग्विजय सिंह ने भी कहा था कि ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित पूरी कांग्रेस एक है और किसी भी तरह की कोई फूट कांग्रेस के अंदर नहीं है। लेकिन सिंधिया का यह ताजा बयान एक बार फिर कहीं ना कहीं पार्टी के अंदर चल रही गुटबाजी को ज़ाहिर कर रहा है।

देंखें वीडियो 👇
 


Latest Post

सीधी: जिले में मिले 19 नए कोरोना संक्रमित, 10 व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग।

कुल संक्रमित 595 डिस्चार्ज 410 एक्टिव केस 183 मृत्यु 2 सीधी: जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ नागेंद्र बिहारी दुबे के द्वारा जानका...