Saturday, 25 January 2020

VIDEO: मंत्री-सांसद विवाद अब सड़क पर आया, कांग्रेस-भाजपा दोनों के कार्यकर्ता आपस में भिड़े।


देवास: कमलनाथ सरकार के उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी एवं देवास से भाजपा सांसद महेंद्र सोलंकी का विवाद अब सड़क पर आ गया है। कांग्रेस एवं भाजपा, दोनों के कार्यकर्ता अब सड़क पर आकर एक दुसरे के साथ गाली गलौच और पत्थरवाजी कर रहें। शुक्रवार को मंत्री जीतू पटवारी की देवास में प्रेस कांफ्रेंस थी, और उनको देवास आना था। मंत्री पटवारी के विरोध में भाजपा कार्यकर्ता उनको काला झंडा दिखाने के लिये इकट्ठा हुये थे। इसी बीच कांग्रेस के कार्यकर्ता भी वहां पहुंच गये और दोनों पक्षों मे गाली गलौच और एक दूसरे पर पत्थरवाजी चालू हो गयी, जिसको शांत करानें के लिये पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। प्राप्त जानकारी के अनुसार यहा घटना देवास के विकास नगर चौराहे की बतायी जा रही है।



आइये जानतें हैं विवाद का कारण।
गौरतलब है की देवास में जिला योजना समिति की बैठक में जमकर हंगामा हो गया था। बैठक में बीजेपी सांसद महेंद्र सोलंकी और मंत्री जीतू पटवारी के बीच तीखी नोंकझोंक हुई थी। बैठक में हंगामे के दौरान मंत्री जीतू पटवारी ने सांसद से कहा मैं आपको बैठक से बाहर निकाल सकता हूँ। वहीं सांसद ने कहा आप 18 लाख लोगों का अपमान कर रहे हैं, जिन्होंने मुझे सांसद चुना। कैसे मंत्री हो एक सांसद को बाहर निकालने की बात कर रहे हो। वहीं जीतू पटवारी ने कहा इन्होंने मेरा व्यग्तिगत अपमान किया है। भाजपा सांसद महेन्द्र सोलंकी नें मीडिया से बात करते हुए कहा था कि, मंत्री जीतू पटवारी कितने सभ्य और शिष्ट हैं इसका वीडियो आप लोगों ने देखा ही होगा। उन्होंने कहा कि हाल ही में जीतू पटवारी का एक वीडियो आया था जिसमें वो अपने ही कार्यकर्ता को लात मारते हुए दिखाई दे रहे थे। बता दें कि सांसद महेंद्र सोलंकी जिस वीडियो का जिक्र कर रहे थे वह मंत्री जीतू पटवारी के पिछले रीवा दौरे का था।

सांसद महेंद्र सोलंकी नें, मंत्री सज्जन वर्मा को मुख्यमंत्री कमलनाथ का दलाल भी कहा  था।


भाजपा सांसद महेंद्र सोलंकी ने कमलनाथ सरकार के मंत्री सज्जन वर्मा पर बेहद गंभीर आरोप लगाये थे। उन्होनें मंत्री सज्जन वर्मा को मुख्यमंत्री कमलनाथ का दलाल तक कह डाला था। साथ ही उन्होनें सज्जन वर्मा पर आरोप लागते हुये कहा था की, सज्जन वर्मा के लोग देवास के गली गली घूम कर दलाली कर रहें है, निगम-मंडल में पद दिलवानें के नाम पर, 2 करोड़ तक की रकम मांग रहे। साथ ही उन्होनें कमलनाथ के मंत्रियों को घोटालों में लिप्त होनें की बात कही थी।

सांसद नें कहा था ,अगली बार नहीं बनोगे मंत्री।
विवाद के बाद सांसद ने जीतू पटवारी को यहां तक कह दिया  था कि आप अगली बार मंत्री नहीं बन पाओगे। सांसद का कहना था कि शहर में अवैध निर्माण तोड़ने के नाम पर अफसर वसूली में लगे हुए हैं। जनता परेशान है। सांसद ने मंत्री पटवारी से कहा था कि आप तो जिला योजना समिति की सिर्फ औपचारिक मीटिंग लेने 3 महीने में आ जाते हैं। इसके बाद मंत्री जीतू पटवारी भड़क गए और कहा कि मैं आपको बैठक से बाहर कर सकता हूं। ये मेरे पॉवर में है।

देखें वीडियो 👇


               ( Video source-Social media)

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: नहीं थम रहा कोरोना का कहर, मिले 34 नए कोरोना संक्रमित।

24 व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग। कुल संक्रमित 848 डिस्चार्ज 597 एक्टिव केस 248 मृत्यु 5 सीधी: जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ० नागेंद्र बिहारी ...