Friday, 3 January 2020

VIDEO: भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का विवादित बयान, इंदौर में आग लगानें की दी धमकी।


इंदौर: भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं महासचिव कैलाश विजयवर्गीय नें एक बार फिर विवादित बयान दिया है। इंदौर में शुक्रवार को अफसरों को चेताते हुए विजयवर्गीय ने कहा है कि यदि इंदौर में संघ के पदाधिकारी नहीं होते तो शहर में आग लगा देता।
बता दें, मोहन भागवत की मौजूदगी में संघ के पदाधिकारी इंदौर में मंथन कर रहे हैं। इस दौरान शुक्रवार को भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय इंदौर में प्रदर्शन कर रहे थे। कैलाश विजयवर्गीय प्रदर्शन के दौरान अधिकारियों को जमकर हड़काया साथ ही निगम के अधिकारियों को धमकाया भी। अधिकारियों को धमकाते हुए उनका एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वह इंदौर में आग लगा देने की बात कह रहे हैं।

दरअसल हुआ यक की, कैलाश विजयवर्गीय ने शहर की समस्याओं को लेकर जिले के अधिकारियों को पत्र लिखा था। पत्र उन्होंने कमिश्नर आकाश त्रिपाठी, कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव, एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र और निगम कमिश्नर आशीष सिंह को लिखा था। निगम कमिश्नर ने शुक्रवार को जवाब देते हुए शहर में नहीं रहने की जानकारी दी थी। लेकिन बाकी के अन्य अधिकारी मीटिंग में नहीं पहुंचे। उसके बाद वह कमिश्नर के घर के बाहर धरने पर बैठ गए।

भाजपा महासचिव नें कहा की, अधिकारीयों की इतनी औकात हो गई क्या?
अधिकारियों ने कैलाश विजयवर्गीय को मिलने के लिए समय नहीं दिया। जिससे वह काफी गुस्से में थे, उन्होंने एसडीएम को हड़काते हुए कहा कि अधिकारी इतने बड़े हो गए हैं कि उनके पास मिलने के लिए समय नहीं है। इतनी औकात हो गई क्या उऩकी। हम लिखित रूप से पत्र दे रहे हैं कि हम मिलना चाह रहे हैं लेकिन कोई जवाब नहीं आया।

इंदौर में आग लगानें की दी धमकी।
कैलाश विजयवर्गीय इतने भड़के हुए थे कि उन्होंने एसडीएम से कहा कि ये हम बर्दाश्त नहीं करेंगे अब। हमारे संघ के पदाधिकारी शहर में हैं, नहीं तो आज इंदौर में आग लगा देता। कैलाश विजयवर्गीय का यह धमकी भरा वीडियो अब सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है। अधिकारियों को कैलाश ने यह भी कहा कि जनता की नौकरी कर रहे हैं या अधिकारी कमलनाथ की ड्यूटी बजा रहे हैं।

भाजपा महासचिव नें ये भी कहा की,उन्हें कमर के नीचे वार करने के लिए मजबूर न किया जाए।
इससे पहले बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने आज इंदौर में पहले अफसरों को चेताते हुए कहा है कि उन्हें कमर के नीचे वार करने के लिए मजबूर न किया जाए, यदि ऐसा होता है तो वो अपना संकल्प तोड़ देंगे।


No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: कोरोना का कहर जारी, मिले 24 नए कोरोना संक्रमित केस।

10 व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग। कुल संक्रमित 717 डिस्चार्ज 531 एक्टिव केस 183 मृत्यु 3 सीधी : जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ० नागेंद्र बिहारी ...