Thursday, 9 January 2020

दीपिका पादुकोण की फिल्म " छपाक" मध्य-प्रदेश में हुई टैक्स फ़्री, भाजपा नें जताया विरोध।


भोपाल: ऐसिड अटैक सर्वाइवर्स की ज़िंदगी पर आधारित फिल्म छपाक 10 जनवरी को देशभर के सिनेमागृहों में रिलीज हो रही है. इसके ठीक एक दिन पहले मध्य प्रदेश में ये फिल्म टैक्स फ्री कर दी गयी। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सरकार के इस फैसले पर ट्वीट कर जानकारी दी।
मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर लिखा है कि दीपिका पादुकोण अभिनीत ऐसिड अटैक सर्वाइवर पर बनी फ़िल्म “ छपाक “ जो 10 जनवरी को देश भर के सिनेमाघरों में रिलीज़ हो रही है, को मध्यप्रदेश में टैक्स फ़्री करने की घोषणा करता हूँ।वही उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा है कि यह फ़िल्म समाज में ऐसिड पीड़ित महिलाओं को लेकर एक सकारात्मक संदेश देने के साथ-साथ उस पीड़ा के साथ आत्मविश्वास , संघर्ष , उम्मीद , और जीने के जज़्बे  की कहानी पर आधारित है और ऐसे मामलों में समाज की सोच में बदलाव लाने के संदेश पर आधारित है।

भाजपा दीपिका पादुकोण की फिल्म का कर रही विरोध।
मध्य प्रदेश सरकार ने दीपिका पादुकोण अभिनीत फिल्म छपाक को मध्य प्रदेश में टैक्स फ्री करने के फैसले का विरोध करते हुए भाजपा ने कहा है कि मध्य प्रदेश सरकार ने फिल्म को टैक्स फ्री करने का फैसला राजनीतिक कारणों से लिया है। बीजेपी के मुताबिक अगर टैक्स का पैसा तेजाब पीड़ित महिलाओं और लड़कियों पर खर्च किया जाता तो बेहतर होता।

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने भी जताया विरोध।
नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने फिल्म छपाक को टैक्स फ्री करने पर सवाल उठाते हुए कहा है कि इससे साफ होता है कि मध्य प्रदेश सरकार और दीपिका पादुकोण की विचारधारा एक ही है। देश को टुकड़े टुकड़ने करने वाली। गौरतलब है की, गोपाल भार्गव ने पहले भी दीपिका पादुकोण के जेएनयू जाने पर सवाल उठाते हुए कहा था कि हीरो हीरोइन का काम मुंबई में डांस करना है वो वही करें।

आखिर "छपाक" क्यूं है विवादों में, क्यूं दीपिका की इस फिल्म का हो रहा विरोध?
फिल्म छपाक यूं तो ऐसिड अटैक सर्वाइवर्स महिलाओं और लड़कियों की दर्द भरी जिंदगी पर आधारित है। अभिनेत्री दीपिका पादुकोण इस फिल्म में लीड रोल में हैं। भाजपा को दीपिका पादुकोण के जेएनयू जानें पर ऐतराज है और उसके नेता ये आरोप लगा रहे हैं कि दीपिका ने जेएनयू पहुंच कर टुकड़े टुकड़े गैंग का समर्थन किया है, इसलिए उनकी फिल्म को टैक्स फ्री करना ठीक नही है।
वहीं, जहां एक धड़ा खुलकर सोशल मीडिया पर दीपिका की फिल्म का विरोध कर रहा है तो वहीं दूसरा धड़ा सपोर्ट में उतर आया है। दीपिका को लेकर राजनीति भी गर्म है। 

मध्यप्रदेश में उठ चुकी है दीपिका की इस फिल्म को बहिष्कार करनें की मांग।
भोपाल में  संस्कृति बचाओ मंच के अध्यक्ष पंडित चंद्र शेखर तिवारी ने समाज से दीपिका की फिल्म को बहिष्कार करने की अपील की है। उन्होंने बयान में कहा है कि आज दीपिका पादुकोण जो सुपर अदाकारा बनी हुई है वह हिंदू समाज की वजह से बनी हुई है और उसने जेएनयू में जाकर जिस प्रकार का कार्य किया है वह उचित नहीं है ।हम समाज से मांग करते हैं कि आने वाली फिल्म छपाक का सभी लोग बहिष्कार करें और दीपिका पादुकोण को बता दें कि हिंदू समाज अगर आपको पलक पावणो में बैठाकर सुपर हीरोइन बना सकता है तो वह आप को धरातल पर भी ला सकता है। 

अब फिल्म की रिलीज से ठीक पहले हुई इस कंट्रोवर्सी से ऐसा माना जा रहा है कि दीपिका को इसका भारी नुकसान चुकाना पड़ेगा। हालांकि, एक्ट्रेस के मौजूदा ट्विटर फॉलोइंग को देखने पर लगता है कि उन्हें इस कंट्रोवर्सी से फायदा ही हुआ है। हाल ही में जेएनयू कैंपस में दीपिका पादुकोण के शामिल होने के बाद सोशल मीडिया पर उनकी फिल्म छपाक को बॉयकॉट करने की मांग उठ रही है।

No comments:

Post a comment

Latest Post

अजय सिंह का कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संदेश, कहा- उपचुनाव में कांग्रेस को जिताने पूरी ताकत से जुट जायें।

भाजपा को सबक सिखाने का समय आ गया है: अजय सिंह। कांग्रेस की जीत से पूरे देश में सरकार गिराने- बनाने में सौदेबाजी के खिलाफ संदेश जायेगा: अजय स...